scorecardresearch
 

राजस्थानः 35 हजार निजी बसें हड़ताल पर, सरकार बोली- जरूरी ना हो तो टाल दें यात्रा

निजी बस आपरेटरों का आरोप है कि कोरोना की वजह से सरकार ने लॉकडाउन लगा रखा था और निजी बसों के परिवहन पर रोक थी. इसके बावजूद सरकार उस दौरान का टैक्स ले रही है. सरकार से कई दौर की बातचीत हुई, लेकिन सरकार अपना रेवेन्यू छोड़ने के लिए तैयार नहीं है, जबकि बस चालाक भूखे मरने की नौबत से गुजर रहे हैं.

Private bus operators on strike in Rajasthan Private bus operators on strike in Rajasthan
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ऑपरेटर्स का आरोप- लॉकडाउन का भी टैक्स ले रही सरकार
  • सरकार ने कहा- दो महीने का टैक्स माफ किया

राजस्थान में आज सफर करने वालों के लिए मुश्किल दिन हो सकता है. दरअसल, निजी बस ऑपरेटर्स ने राज्य में आज बसों को नहीं चलाने का फैसला किया है. बताया जा रहा है कि इस फैसले के चलते राज्य में 35 हजार बसों के पहिए थम जाएंगे. निजी बस ऑपरेटर्स एसोसिएशन ने धमकी दी है कि अगर सरकार कोरोना काल के दौरान लगाए गए टैक्स को वापस नहीं लेगी तो पूरे राज्य में अनिश्चितकालीन चक्का जाम किया जाएगा. 
 
निजी बस आपरेटरों का आरोप है कि कोरोना की वजह से सरकार ने लॉकडाउन लगा रखा था और निजी बसों के परिवहन पर रोक थी. इसके बावजूद सरकार उस दौरान का टैक्स ले रही है. सरकार से कई दौर की बातचीत हुई, लेकिन सरकार अपना रेवेन्यू छोड़ने के लिए तैयार नहीं है, जबकि बस चालाक भूखे मरने की नौबत से गुजर रहे हैं.

किराया बढ़ाने की मिले छूट
बस ऑपरेटर्स की मांग है कि प्राइवेट बसों का किराया बढ़ाने की छूट दी जाए. ऑपरेटर्स का कहना है कि पिछले 1 साल में डीजल 29 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है. निजी बस ऑपरेटर्स ने धमकी दी है कि चक्का जाम के दौरान दूसरे राज्य से आने वाली बसों को भी नहीं चलने दिया जाएगा.  
 
सरकार ने दो महीने का टैक्स किया माफ
उधर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचारियावास का कहना है कि सरकार ने इनकी मांगो पर सहानुभूति दिखाते करते हुए दो महीने का टैक्स माफ कर दिया है. लेकिन निजी बस ऑपरेटर एक साल का टैक्स माफ करने की मांग कर रहे हैं. 

टाल दें अपनी यात्रा
राजस्थान सरकार ने कहा, राज्य में 3000 सरकारी बसें चलती रहेगी. राजस्थान सरकार का कहना है कि लोगों को परेशानी ना हो, इसके लिए व्यवस्था की गई है. हालांकि, सरकार की ओर से अपील की गई है कि जो लोग अपनी यात्रा टाल सकते हैं, वे यात्रा टाल दें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें