scorecardresearch
 

Indian Railways: किराया बढ़ने की खबरों को रेलवे ने बताया भ्रामक, दी ये सफाई

Indian Railways: रेलवे ने कहा है कि इस साल भी त्‍योहारों के मौकों पर फेस्टिवल ट्रेनें चलाई गई हैं और इन फेस्टिव ट्रेनों को भीड़ नियंत्रित रखने के लिए बाद तक जारी रखा गया है. रेलवे द्वारा स्‍पेशल ट्रेनों का किराया हमेशा साधारण गाड़ियों से कुछ ज्‍यादा होता है.

Indian Railways (Representational Image) Indian Railways (Representational Image)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • त्‍योहारों के मौकों पर फेस्टिवल ट्रेनें चलाई गई हैं
  • भीड़़ नियंत्रित रखने केे लिए इन्हें जारी रखा गया है

Indian Railways: रेल मंत्रालय ने कहा है कि मीडिया में ऐसी रिपोर्ट हैं कि रेलवे यात्रियों से अतिरिक्त किराया वसूल रहा है, मगर ऐसी खबरें भ्रामक हैं और पूरे तथ्‍यों पर आधारित नहीं हैं. इस पर जानकारी देते हुए रेलवे ने कहा है कि इस साल भी त्‍योहारों के मौकों पर फेस्टिवल ट्रेनें चलाई गई हैं और इन फेस्टिव ट्रेनों को भीड़ नियंत्रित रखने के लिए बाद तक जारी रखा गया है. रेलवे द्वारा स्‍पेशल ट्रेनों का किराया हमेशा साधारण गाड़ियों से कुछ ज्‍यादा होता है और इसमें कोई नई बात नहीं है. इस साल ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है बल्कि 2015 के बाद से ही यह नियम लागू है.

देखें: आजतक LIVE TV

रेलवे ने कहा कि ट्रेनों में सबसे कम किराया देकर यात्रा करने वाली सवारियों का अतिरिक्‍त ध्‍यान रखा गया है ताकि वे Covid के समय में कम से कम बोझ वहन कर यात्रा कर सकें. पॉलिसी के अनुसार, स्‍पेशल फेयर कैटेगरी के 2S पैसेंजर्स से भी अतिरिक्त 15/- रुपये से ज्‍यादा का शुल्‍क नहीं लिया गया है. 

बता दें कि मीडिया में कुछ दिन पहले से ही यह खबर आ रही थी कि रेलवे 06 जनवरी से टिकटों का किराया बढ़ाने पर विचार कर रही है जिसका रेलवे ने ट्वीट कर खंडन कर दिया था. रेलवे ने ऐसी खबरों को बेबुनियाद बताया था और जानकारी दी थी किराया बढ़ाने को लेकर रेलवे की कोई तैयारी नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें