scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: मोहन भागवत के साथ ओवैसी की फर्जी तस्वीर हुई वायरल, एफआईआर दर्ज

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर अक्सर यह आरोप लगता है कि वह बीजेपी की "बी टीम" हैं. इसी के मद्देनजर सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें ओवैसी आरएसएस चीफ मोहन भागवत के बगल में बैठे दिख रहे हैं. तस्वीर में भागवत केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल से हाथ मिला रहे हैं.

X
हमारी जांच में सामने आया कि यह तस्वीर फर्जी है. हमारी जांच में सामने आया कि यह तस्वीर फर्जी है.

एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर अक्सर यह आरोप लगता है कि वह बीजेपी की "बी टीम" हैं. इसी के मद्देनजर सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें ओवैसी आरएसएस चीफ मोहन भागवत के बगल में बैठे दिख रहे हैं. तस्वीर में भागवत केंद्रीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल से हाथ मिला रहे हैं.

लोगों का कहना है कि ये फोटो इस बात को साफ कर देती है कि ओवैसी और बीजेपी मिले हुए हैं. तंज करते हुए सोशल मीडिया यूजर्स कैप्शन में लिख रहे हैं कि ओवैसी मोहन भागवत के यहां हैदराबादी खिचड़ी बनाने पहुंचे. तस्वीर फेसबुक  और ट्विटर पर काफी वायरल है.

क्या है सच्चाई?

हमारी जांच में सामने आया कि यह तस्वीर फर्जी है. असली तस्वीर में मोहन भागवत के बगल में ओवैसी की जगह यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव बैठे हुए हैं.

मूल तस्वीर दिसंबर 2021 की है जब उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की पोती की शादी के रिसेप्शन में भागवत और मुलायम सिंह यादव की मुलाकात हुई थी. यह तस्वीर उस समय काफी चर्चा में आई थी. तस्वीर को लेकर यूपी कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी पर तंज भी किया था.

फोटो वेंकैया नायडू के दिल्ली स्थित सरकारी आवास पर ली गई थी. तस्वीर को अर्जुन राम मेघवाल ने भी 20 दिसंबर 2021 को ट्वीट किया था.

इसी तस्वीर में किसी ने छेड़छाड़ करके मुलायम सिंह यादव की जगह असदुद्दीन ओवैसी को बैठा दिया है. इस बारे में हमारी बात खुद ओवैसी से भी हुई. उनका कहना था कि इस फर्जी फोटो को लेकर उन्होंने पुलिस में शिकायत की है और एफआईआर भी दर्ज करवाई है. ओवैसी ने हमें यह भी बताया कि वो उपराष्ट्रपति के निवास पर हुए इस समारोह में मौजूद भी नहीं थे.

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि ओवैसी की इस तरह की फर्जी तस्वीर वायरल हुई हो. इससे पहले भी ओवैसी की दो फर्जी तस्वीरें वायरल हो चुकी हैं जिनमें वह गृहमंत्री अमित शाह के साथ दिख रहे हैं. इन तस्वीरों का खंडन करते हुए "आजतक" ने खबरें भी की हैं.

इस तरह यह साबित हो जाता है कि एक फोटोशॉप्ड तस्वीर के जरिए ओवैसी पर आरोप लगाया जा रहा है कि वो बीजेपी से मिले हुए हैं.

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

मोहन भागवत और असदुद्दीन ओवैसी की इस फोटो से ये साबित हो जाता है कि ओवैसी बीजेपी से मिले हुए हैं.

निष्कर्ष

तस्वीर फर्जी है. असली तस्वीर में मोहन भागवत के बगल में ओवैसी की जगह यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव बैठे हुए हैं.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें