scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: बुर्ज खलीफा पर प्रदर्शित नहीं हुई जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर, वीडियो से हुई है छेड़छाड़

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें बुर्ज खलीफा पर नारंगी रंग की पगड़ी पहने एक शख्स की तस्वीर देखी जा सकती है. इस वीडियो में नीचे तरफ लिखा है, "संत जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर दुबई के बुर्ज खलीफा पर प्रदर्शित हुई."

वायरल तस्वीर वायरल तस्वीर

बुर्ज खलीफा विश्व की सबसे ऊंची इमारत है जहां खास मौकों पर अनेक तरह के शो आयोजित होते हैं. बुर्ज खलीफा के हर आयोजन या शो की तस्वीरें और वीडियो इसके आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर भी किए जाते हैं. बुर्ज खलीफा की चर्चा इसलिए क्योंकि आजकल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें बुर्ज खलीफा पर नारंगी रंग की पगड़ी पहने एक शख्स की तस्वीर देखी जा सकती है. इस वीडियो में नीचे तरफ लिखा है, "जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर दुबई के बुर्ज खलीफा पर प्रदर्शित हुई."

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि वायरल वीडियो के साथ छेड़छाड़ की गई है. असली वीडियो 2018 का है, जब दुबई में चीनी न्यू ईयर मनाया गया था. इसमें ऐसी कोई तस्वीर नहीं दिखती है.

एक ट्विटर यूजर ने कैप्शन में लिखा, "वापसी हमेशा मजबूत होती है.. #हरियाणा_का_किसान_बेमिसाल "

वहीं एक फेसबुक यूजर ने इस वीडियो को पंजाबी कैप्शन के साथ शेयर किया, जिसका हिंदी अनुवाद है, "बुर्ज खलीफा पर जरनैल सिंह भिंडरांवाले की तस्वीर!". पोस्ट का आर्काइव यहां और यहां देखा जा सकता है.

क्या है सच्चाई?

खोजने पर हमें यूट्यूब पर एक वीडियो मिला जो वायरल वीडियो से मिलता-जुलता है. वीडियो फरवरी 2018 का है जब दुबई में चीनी न्यू ईयर मनाया गया था. यूट्यूब वीडियो को ध्यान से देखने पर हमें पता चला कि दोनों वीडियो में काफी समानता है. वायरल वीडियो में बुर्ज खलीफा पर एक ड्रैगन का विजुअल इफेक्ट चलता हुआ देखा जा सकता है. हूबहू वही विजुअल इफेक्ट हम असली वीडियो में भी देख सकते हैं.

हमें चीनी न्यू ईयर 2018 का वीडियो 'एम्मार दुबई' के यूट्यूब चैनल पर भी मिला. दरअसल 16 फरवरी 2018 को ये आयोजन किया गया था और इसका वीडियो एम्मार दुबई ने 17 फरवरी 2018 को अपने ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया था. यूट्यूब डिस्क्रिप्शन में दी गई जानकारी के मुताबिक, बुर्ज खलीफा में एम्मार ने एक शानदार थीम के साथ शो प्रस्तुत किया, जिसमें सैकड़ों लोग शामिल हुए थे." एम्मार प्रॉपर्टीज कंस्ट्रक्शन कंपनी है जो बुर्ज खलीफा की डेवलपर है.

एम्मार दुबई की यूट्यूब वीडियो में ठीक 3 मिनट 22 सेकंड पर हमें वही चित्र दिखा जो वायरल वीडियो में था.

कौन है जरनैल सिंह भिंडरावाले?

1947 में जन्मे भिंडरावाले का मूल नाम जरनैल सिंह था. जरनैल के नाम के साथ भिंडरावाले तब जुड़ा जब वे कम उम्र में ही सिख धर्म और ग्रंथों के बारे में शिक्षा देने वाली संस्था-दमदमी टकसाल के अध्यक्ष चुने गए थे. धीरे-धीरे भिंडरावाले ने सिख अलगाववाद को हवा देनी शुरू की और अलग खालिस्तान की मांग जोर पकड़ने लगी. आगे चलकर उनकी अगुवाई में सिख चरमपंथियों ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर पर कब्जा कर लिया. इससे निपटने के लिए भारतीय सेना ने जून 1984 में 'ऑपरेशन ब्लू स्टार' चलाया, जिसमें काफी खून-खराबा हुआ और भिंडरावाले की मौत हो गई.  

हमें ऐसी कोई न्यूज़ रिपोर्ट भी नहीं मिली जिसमें बताया गया हो कि जरनैल सिंह भिंडरावाले की तस्वीर बुर्ज खलीफा पर दिखाई गई हो.

पड़ताल से ये साफ हो जाता है कि सोशल मीडिया पर वायरल बुर्ज खलीफा का वीडियो फर्जी है. दुबई के बुर्ज खलीफा पर जरनैल सिंह भिंडरावाले का चित्र नहीं दिखाया गया था. असल में वीडियो 3 साल पुराना है जिसे एडिटिंग सॉफ्टवेयर की मदद से बदल कर गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है.

(सोनाली खट्टा के इनपुट के साथ)

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

दुबई के बुर्ज खलीफा पर जरनैल सिंह भिंडरांवाले की तस्वीर लाइट शो के दौरान दिखाई गई.

निष्कर्ष

बुर्ज खलीफा का ये वायरल वीडियो एडिटिंग सॉफ्टवेयर की मदद से बदला गया है जिसके जरिये लोगों में भ्रम फैलाने की कोशिश की जा रही है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें