scorecardresearch
 

केबीसी में दर्दनाक खुलासा, बच्चियों को मारने के लिए इस्तेमाल होता था जौ का दाना

श्याम सुंदर की पत्नी ने बताया कि जब भी उनके गांव में किसी घर में लड़की होती थी तो वे उससे बिल्कुल खुश नहीं होते थे और बच्ची को मारने के लिए एक तरकीब का इस्तेमाल करते थे.

अमिताभ बच्चन अमिताभ बच्चन

कौन बनेगा करोड़पति सीजन 11 में हर शुक्रवार एक कर्मवीर की एंट्री होती है. ये अक्सर वो लोग होते हैं जिन्होंने अपनी मेहनत और जज्बे के बल पर समाज को एक नई दिशा और इसे बेहतर बनाने की कोशिश की है. ऐसे ही एक समाजसेवक श्याम सुन्दर पालीवाल ने केबीसी में एंट्री की. उनका साथ देने के लिए टीवी एक्ट्रेस साक्षी तंवर पहुंचीं. उन्होंने इस शो पर एक घटना का जिक्र किया जिससे वहां मौजूद सभी लोग हैरान रह गए.

श्याम सुंदर की पत्नी ने बताया कि जब भी उनके गांव में किसी घर में लड़की होती थी तो वे उससे बिल्कुल खुश नहीं होते थे और बच्ची को मारने के लिए एक तरकीब का इस्तेमाल करते थे. श्याम सुंदर ने कहा कि बच्ची के पैदा होने के बाद उसके मुंह में जौ का दाना डाल दिया जाता था जिससे बच्ची के गले में इंफेक्शन और सूजन होने लगती थी. इसके चलते बच्चियों की मौत हो जाती थी. उनकी पत्नी ने ये भी बताया कि उनके गांव में 14 साल बाद बारात आई थी क्योंकि लड़कियों को पैदा होते ही इस गांव में मार दिया जाता था.

श्याम सुंदर का नारा, बेटी बचाओ, पेड़ बचाओ

गौरतलब है कि अपनी बेटी को खो देने के बाद श्याम सुंदर काफी सदमे में थे लेकिन उन्होंने इस घटना के बाद बेटियों के महत्व को लेकर लोगों को जागरुक किया.  श्याम सुन्दर ने बताया कि गांव में जब किसी के घर बेटी होती है और अगर लोग इस बात से परेशान होने लगते थे तो हम सब गाजे-बाजे के साथ उनके घर ये बताने जाते हैं कि आपको जश्न मनाना चाहिए क्योंकि आपके घर में लक्ष्मी आई है. इतना ही नहीं वो उस लड़की के नाम पर 111 पौधे भी लगाते हैं. इसी तरह श्याम सुन्दर, गांव की बच्चियों और प्रकृति को बचाने की कोशिश कर रहे हैं. अमिताभ बच्चन ने उनके इन प्रयासों की काफी प्रशंसा की. इसके अलावा वहां मौजूद एक्ट्रेस साक्षी तंवर ने भी पर्यावरण और बेटियों के लिए किए जा रहे कार्यों को लेकर उनकी सराहना की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें