scorecardresearch
 

तमिलनाडुः वोटिंग खत्म होने के बाद स्कूटी पर रखकर EVM ले जा रहे थे दो लोग, भीड़ ने घेरा

तमिलनाडु विधानसभा के लिए मंगलवार को वोटिंग हुई. वोटिंग खत्म होने के बाद शाम को दो लोग स्कूटी पर EVM रखकर ले जाते हुए पकड़ाए. भीड़ ने देखा तो उन्हें घेर लिया. इस मामले पर राज्य के चुनाव अधिकारी ने सफाई देते हुए कहा कि इन EVM का इस्तेमाल वोटिंग के लिए नहीं हुआ था.

चुनाव आयोग ने जांच के आदेश दिए हैं. चुनाव आयोग ने जांच के आदेश दिए हैं.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तमिलनाडु की सभी सीटों पर वोटिंग हुई थी
  • वेलाचेरी में EVM ले जाते पकड़े गए दो लोग

तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग खत्म होने के बाद स्कूटी पर EVM रखकर ले जाने का मामला सामने आया है. स्कूटी पर EVM रखकर ले जा रहे लोगों को भीड़ ने पकड़ा. मामला वेलाचेरी का है, जहां मंगलवार शाम वोटिंग खत्म होने के बाद दो लोग स्कूटी पर EVM रखकर ले जा रहे थे. द्रमुक (DMK) का दावा है कि ये लोग EVM के साथ कोई गड़बड़ करने वाले थे. हालांकि, इन लोगों को भीड़ ने देख लिया, जिसके बाद पुलिस उन्हें अपने साथ ले गई. 

हंगामा उस समय और बढ़ गया, जब पुलिस ने मौके से तीन लोगों को बिना किसी जांच के वहां से हटाने की कोशिश की. इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया. जबकि द्रमुक नेता और चेन्नई के पूर्व मेयर एमए सुब्रमणियम ने चुनाव आयोग से इस पूरे मामले पर सफाई मांगी.

मामला बढ़ता देख राज्य के मुख्य चुनाव अधिकार सत्यब्रत साहू ने सफाई दी कि स्कूटी पर EVM ले जाने वाले चुनाव आयोग के ही कर्मचारी थे. उन्होंने कहा कि उनके दो कर्मचारियों ने ये गलती की है और इसकी जांच के आदेश दे दिए हैं. हालांकि, साहू ने ये भी कहा कि इन EVM का इस्तेमाल वोटिंग के लिए नहीं हुआ था.

तमिलनाडु की 234 विधानसभा सीटों के लिए 6 अप्रैल को एक ही फेज में वोटिंग हुई. अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, राज्य में  72.78% वोटिंग हुई. यहां बहुमत के लिए 118 सीटें जीतना जरूरी है. 2016 में AIADMK ने 134 सीटें जीतकर सरकार बनाई थी. DMK को 97 सीटें मिली थीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें