scorecardresearch
 

जमालपुर विधानसभा सीट: कांग्रेस-आरजेडी पर हावी रही है जेडीयू, 4 चुनावों में मिल चुकी है जीत

जमालपुर में विधानसभा का पहला चुनाव साल 1957 में हुआ. कांग्रेस को इस चुनाव में जीत मिली. 1962 में हुए अगले चुनाव में भी कांग्रेस विजयी रही. लेकिन ये कांग्रेस की जमालपुर में आखिरी जीत थी.

बिहार के सीएम नीतीश कुमार (फोटो- PTI) बिहार के सीएम नीतीश कुमार (फोटो- PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जमालपुर विधानसभा सीट मुंगेर संसदीय क्षेत्र के तहत आती है
  • जेडीयू को 4 चुनावों में मिल चुकी है जीत
  • 2015 में जेडीयू ने एलजेपी को हराया था

बिहार की जमालपुर विधानसभा सीट मुंगेर संसदीय क्षेत्र के तहत आती है. जमालपुर सत्ता पर काबिज जेडीयू का गढ़ है.यहां पर हुए पिछले 4 चुनावों में उसे ही जीत मिली है. 2015 के चुनाव में शैलेष कुमार ने यहां पर जीत हासिल की थी. उन्होंने एलजेपी के हिमांशु कुमार को मात दी थी. 2015 के चुनाव की तस्वीर अलग थी. तब जेडीयू महागठबंधन का हिस्सा थी. जिस एलजेपी को उसने मात दी थी वो अब उसके साथ है और दोनों ही पार्टियां बीजेपी की अहम सहयोगी हैं. ऐसे में इस बार का चुनाव बिल्कुल अलग होगा.जमालपुर में कांग्रेस और आरजेडी के लिए बड़ा टेस्ट होने वाला है. क्या वे यहां पर जेडीयू को टक्कर दे पाएंगे. ये देखने वाली बात होगी. 

राजनीतिक पृष्ठभूमि

जमालपुर में विधानसभा का पहला चुनाव साल 1957 में हुआ. कांग्रेस को इस चुनाव में जीत मिली. 1962 में हुए अगले चुनाव में भी कांग्रेस विजयी रही. लेकिन ये कांग्रेस की जमालपुर में आखिरी जीत थी. इसके बाद से यहां की जनता ने अलग-अलग पार्टियों को मौका दिया.

2000 में पहली यहां पर आरजेडी को जीत हासिल हुई. हाल के चुनावी नतीजों को देखें तो जमालपुर जेडीयू का गढ़ बनता जा रहा है. यहां पर हुए पिछले 4 चुनावों में उसे ही जीत मिली है. जमालपुर में हुए अब तक 15 चुनावों में कांग्रेस को दो, आरजेडी को एक और जेडीयू को 4 बार जीत मिली है. इसके अलावा यहां पर सीपीआई, जनता दल, भारतीय  जनसंघ जैसी पार्टियां भी जीतने में सफल रही हैं. उम्मीदवार की बात करें तो उपेंद्र प्रसाद वर्मा यहां से सबसे ज्यादा बार चुने गए हैं. वह 6 बार जमालपुर से चुनाव जीत चुके हैं.

2015 का जनादेश

2015 के चुनाव में जमालपुर में 296356 वोटर्स थे. इसमें से 55.07 फीसदी पुरुष और 44.93 फीसदी महिला वोटर्स थीं. जमालपुर में 147277 लोगों ने वोट डाला था. यहां पर 49 फीसदी मतदान हुआ था. 2015 के विधानसभा चुनाव में जेडीयू के शैलेष कुमार ने एलजेपी के हिमांशु कुमार को मात दी थी. शैलेष कुमार को 67273 (45.68 फीसदी) और हिमांशु कुमार को 517979 (35.17 फीसदी) वोट मिले थे. शैलेष कुमार ने 15 हजार से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की थी.

सामाजिक ताना-बाना

जमालपुर बिहार के मुंगेर संसदीय क्षेत्र में आता है. 2011 की जनगणना के अनुसार, जमालपुर की कुल जनसंख्या 454465 है. इसमें से 76.8% ग्रामीण है और 23.2% शहरी आबादी है. अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) का अनुपात कुल जनसंख्या में से क्रमशः 15.61 और 2.43 है. जमालपुर मुंगेर शहर से 8 किमी दूर स्थित है. जमालपुर को जमालपुर लोकोमोटिव वर्कशॉप के लिए जाना जाता है. जमालपुर के छात्र टॉप कॉलेज में पढ़ाई करते हैं और यही कारण है कि जमालपुर की साक्षरता दर अधिक.

विधायक के बारे में

1 जनवरी 1963 को जन्मे शैलेष कुमार पूर्व विधायक सुरेश कुमार सिंह के बेटे हैं. शैलेष कुमार की शैक्षणिक योग्यता एमए है. उन्होंने 1987 में राजनीति में एंट्री की. 2005 में चुनाव जीतकर वह पहली बार विधानसभा पहुंचे. शैलेष कुमार अब तक विधानसभा के 4 चुनावों में जीत हासिल कर चुके हैं. वह बिहार सरकार में मंत्री भी हैं.

ये प्रत्याशी हैं मैदान में

जमालपुर विधानसभा सीट पर 19 उम्मीदवार मैदान में हैं. यहां से कांग्रेस के अजय कुमार सिंह, एलजेपी के दुर्गेश कुमार सिंह और जेडीयू के शैलेष कुमार प्रत्याशी हैं. 

कब होगी वोटिंग

जमालपुर में पहले चरण के तहत मतदान होगा. यहां पर 28 अक्टूबर को वोटिंग होगी. वहीं, मतगणना 10 नवंबर को की जाएगी.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें