scorecardresearch
 

World Rhino Day 2022: गैंडों की संख्या में नंबर-1 पर है भारत, विश्व राइनो दिवस पर जानें 10 रोचक बातें

World Rhino Day 2022 History, Theme and 10 interesting facts: विश्व राइनो दिवस पहली बार 22 सितंबर, 2011 को मनाया गया था, लेकिन पहली बार विश्व वन्यजीव दक्षिण अफ्रीका द्वारा वर्ष 2010 में घोषित किया गया था. इस दिन का उद्देश्य गैंडों की सभी पांच मौजूदा प्रजातियों की रक्षा करने की जरूरत के बारे में जागरूकता बढ़ाना है.

X
World Rhino Day 2022 (Image Source: Freepik.com) World Rhino Day 2022 (Image Source: Freepik.com)

World Rhino Day 2022 facts: हर साल 22 सितंबर को विश्व राइनो दिवस (World Rhino Day) के तौर पर मनाया जाता है. इस दिन का उद्देश्य गैंडों की सभी पांच मौजूदा प्रजातियों- ब्लैक राइनो, व्हाइट राइनो, ग्रेटर एक-सींग वाले राइनो, सुमात्रा राइनो और जावन राइनो की रक्षा करने की जरूरत के बारे में जागरूकता बढ़ाना है. वनस्पतियों और जीवों की विविधता के संरक्षण और महत्व को लोगों तक पहुंचाने के लिए कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संघ बनाए गए हैं.

इसी तरह, विभिन्न वन्यजीव संगठनों, गैर सरकारी संगठनों, चिड़ियाघरों, संरक्षण और अनुसंधान केंद्रों और पर्यावरणविदों जैसे व्यक्तियों को एक साथ एकजुट होने और गंभीर रूप से विलुप्त की कगार पर प्रजातियों को बचाने के तरीकों के बारे में सोचने के लिए समर्पित दिन के तौर पर 22 सितंबर को राइनो दिवस तय किया गया है.

विश्व राइनो दिवस पहली बार 22 सितंबर, 2011 को मनाया गया था, लेकिन पहली बार विश्व वन्यजीव दक्षिण अफ्रीका द्वारा वर्ष 2010 में घोषित किया गया था. राइनो दिवस का आयोजन संगठनों द्वारा जंगली गैंडों को बचाने के नेक काम में योगदान देने के लिए मनाया जाता है.

विश्व राइनो दिवस 2022 थीम
विश्व राइनो दिवस 2022 की थीम "फाइव राइनो स्पीशीज फॉरएवर" है. अफ्रीका में सफेद और काले गैंडों और एशिया में अधिक से अधिक एक-सींग वाले, जावन और सुमात्रा राइनो प्रजातियों के नाम पर पांच गैंडों की प्रजातियों के संरक्षण पर ध्यान आकर्षित करने के लिए यह थीम रखने का फैसला किया गया है. 

भारत में गैंडों की संख्या
वर्ल्ड वाइल्ड लाइफ (WWF) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक सींग वाले गैंडों की संख्या के लिहाज से भारत पूरी दुनिया में पहले स्थान पर है. एक रिपोर्ट के मुताबिक वर्तमान में भारत में लगभग 3000 गैंडे हैं, जिनकी सबसे ज्‍यादा आबादी असम के काजीरंगा और मानस नेशनल पार्क के अलावा पश्चिम बंगाल व उत्तर प्रदेश में है.

गैंडे से जुड़ी 10 रोचक बातें

  1. अब दुनिया में गैंडे की पांच अलग-अलग प्रजातियां हैं
  2. अफ्रिका में गैंडे की दो प्रजातियां काला और सफेद है.
  3. एशिया में गैंडे की तीन (भारतीय गैंडा, जावन गैंडा और सुमात्रा) और अफ्रीका में दो (काला गैंडा और सफेद गैंडा) प्रजातियां हैं.
  4. एक गैंडे का वजन 1000 किलोग्राम से भी अधिक हो सकती है.
  5. गैंडे के शरीर में सबसे छोटा आकार दिमाग का है.
  6. गेंडे के सींग में केराटिन होने के कारण यह सोने से भी महंगा बिकता है.
  7. गैंडे का सबसे लंबा रिकॉर्ड सींग 4 फीट 9 इंच था.
  8. गैंडे 6 से 11 फीट तक लंबे हो सकते हैं.
  9. भारी भरकम वजन के बावजूद गैंडा 30 से 40 मील प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकता है.
  10. भारतीय गैंडे की औसत आयु लगभग 100 साल की होती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें