scorecardresearch
 

ब्रेग्जिटः इसी महीने यूरोपियन यूनियन से अलग हो जाएगा ब्रिटेन

ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने नए करार पर बहुमत हासिल करने में नाकाम रहने के बाद यूरोपीय यूनियन के अध्यक्ष डोनाल्ड टस्क को अहस्ताक्षरित पत्र भेजा है. वहीं ब्रिटिश सरकार के मंत्रियों का रुख कुछ और ही है.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (फाइल फोटोः इंडिया टुडे) ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (फाइल फोटोः इंडिया टुडे)

  • मंत्रियों ने कहा- हर हाल में इसी माह अलग होंगे
  • पीएम ने समय बढ़ाने के लिए ईयू को लिखा खत

यूरोपियन यूनियन से ब्रिटेन को इसी महीने की 31 तारीख को यूरोपियन यूनियन से अलग होना है. ब्रेग्जिट समझौते को टालने के लिए सांसदों की ओर से किए गए मतदान और अंतिम तारीख करीब आने के बावजूद दोनों पक्षों (ब्रिटेन और यूरोपियन यूनियन) में इसे लेकर समझौते का कोई मसौदा तैयार नहीं हो पाने के कारण ब्रिटेन के प्रधानमंत्री को यूरोपियन यूनियन से ब्रेग्जिट की तारीख आगे बढ़ाने का अनुरोध भी करना पड़ा.

समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार ब्रिटिश प्रधानमंत्री ने नए करार पर बहुमत हासिल करने में नाकाम रहने के बाद यूरोपीय यूनियन के अध्यक्ष डोनाल्ड टस्क को अहस्ताक्षरित पत्र भेजा है. वहीं ब्रिटिश सरकार के मंत्रियों का रुख कुछ और ही है. ब्रिटेन सरकार के मंत्रियों ने जोर देकर कहा है कि 31 अक्टूबर तक हर हाल में यूरोपीय संघ से ब्रिटेन अलग हो जाएगा

वरिष्ठ मंत्री माइकल गोव ने एक समाचार चैनल से बात करते हुए कहा कि सरकार के पास 31 अक्टूबर तक ईयू छोड़ने के लिए साधन और क्षमता है. गोव ने कहा कि प्रधानमंत्री का निश्चय पक्का है और सरकार की दृढ़ नीति से समय सीमा के अंदर उसे पूरा करना है. उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि यूरोपीय संघ हमें छोड़ना चाहता है. हम जानते हैं कि हमारे पास एक डील है, जो हमें छोड़ने की अनुमति देती है.

गोव के अलावा विदेश मंत्री डोमिनिक रॉब ने भी एक समाचार चैनल से बात करते हुए कहा कि ब्रसेल्स के साथ एक नए ब्रेग्जिट करके जॉनसन ने संदिग्धों को गलत साबित किया है. उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि ब्रिटेन हैलोवीन तक ईयू छोड़ देगा.

गौरतलब है कि पिछले दिनों हाउस ऑफ कॉमन्स में लेटविन संशोधन पास होने के बाद पार्लियामेंट स्क्वॉयर में पीपल्स वोट रैली में लोगों ने गर्मजोशी के साथ फैसले का स्वागत किया था. कंजरवेटिव पार्टी के सांसद लेटविन संशोधन पर सरकार की हार के बाद कॉमन्स चैंबर से बाहर जाते दिखे थे. पीएम जॉनसन ने कहा था कि वह ब्रेग्जिट के लिए ईयू से समय बढ़ाने की गुहार नहीं लगाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें