scorecardresearch
 

दुर्गा सप्तशती के पाठ से पूरी होंगे मनोकामनाएं, जानें इसकी खास बातें

दुर्गा सप्तशती के पाठ से पूरी होंगे मनोकामनाएं, जानें इसकी खास बातें

आज नवरात्री का तीसरा दिन है, ऐसा माना जाता है कि वेदों की भाँति दुर्गा सप्तशती भी अनादि है. मार्कण्डेय पुराण के माध्यम से दुर्गा सप्तशती जन सामान्य तक पंहुची है. देवी की उपासना के लिए यह सर्वश्रेष्ठ ग्रन्थ माना जाता है. इसमें देवी की उपासना के सात सौ श्लोक दिए गए हैं. ये सात सौ श्लोक तीन भागों में बांटे गए हैं. प्रथम चरित्र, मध्यम चरित्र और उत्तम चरित्र. प्रथम चरित्र में केवल पहला अध्याय, मध्यम चरित्र में दूसरा, तीसरा व चौथा अध्याय तथा शेष सभी अध्याय उत्तम चरित्र में रखे गये हैं. इन सात सौ श्लोकों में मारण, मोहन, उच्चाटन के और स्तम्भन, तथा वशीकरण और विद्वेषण के श्लोक दिए गए हैं. इस पर देखें चाल चक्र.

Astrologer Shailendra Pandey will tell you the astrological predictions for all the zodiac signs for December 25. Also, know the significance of Durga Saptashati path. If today is your birthday, Wish you a very happy birthday at first. Watch Chaal Chakra for more details.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें