scorecardresearch
 

टेनिस प्लेयर के गुम होने से चीन में बवाल, लगाया था यौन शोषण का आरोप

पिछले दिनों चीन की टेनिस खिलाड़ी पेंग शुआई के खुलासे ने खेल जगत में भूचाल ला दिया था. गौरतलब है कि दो नवंबर को पेंग ने चीनी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीबो पर पर लंबा पोस्ट लिखकर पूर्व उप-प्रधानमंत्री झांग गाओली पर यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर करने के आरोप लगाए थे.

Peng Shuai (Getty) Peng Shuai (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पेंग शुआई ने लगाया था यौन शोषण का आरोप 
  • महिला डबल्स में दो ग्रैंडस्लैम जीत चुकी हैं पेंग

पिछले दिनों चीन की टेनिस खिलाड़ी पेंग शुआई के खुलासे ने खेल जगत में भूचाल ला दिया था. गौरतलब है कि दो नवंबर को पेंग ने चीनी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीबो पर पर लंबा पोस्ट लिखकर पूर्व उप-प्रधानमंत्री झांग गाओली पर यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर करने के आरोप लगाए थे. हालांकि कुछ समय बाद इस पोस्ट को वीबो से डिलीट कर दिया था, लेकिन तब तक पोस्ट के स्क्रीनशॉट्स वायरल हो गए थे.

उस घटना के बाद से शुआई पेंग की कोई खबर नहीं मिली है और न ही वह सार्वजनिक रूप से सामने आई हैं. अब चीन के सरकारी ब्रॉडकास्टर सीजीटीएन ने कथित तौर पर पेंग का लिखा इमेल जारी किया है, जिससे पेंग को लेकर आशंकाएं और गहरी हो गई है. इस चिट्ठी के जरिए दावा किया जा रहा है कि पेंग शुआई लापता या असुरक्षित नहीं है. ईमेल में पेंग शुआई ने कह रही हैं कि वह अभी ठीक हैं और उनके लगाए गए आरोप निराधार हैं.

अब वूमेन्स टेनिस एसोसिएशन (WTA) के सीईओ और अध्यक्ष स्टीव साइमन ने ईमेल की वैधता पर सवाल उठाये हैं. साइमन ने कहा है कि उन्हें यकीन नहीं है कि यह ईमेल पेंग शुआई ने लिखा है. साथ ही, साइमन ने मामले की पूरी जांच की मांग की है. उन्होंने कहा कि उचित जवाब नहीं मिलने पर चीन से टेनिस टूर्नामेंट्स की मेजबानी छीनी जा सकती है.

जापानी टेनिस स्टार नाओमी ओसाका ने ट्वीट किया, 'मुझे नहीं पता कि आप खबरों को फॉलो करते हैं या नहीं, लेकिन हाल में मुझे एक साथी खिलाड़ी के बारे सूचित किया गया, जो अपने यौन उत्पीड़न का खुलासा करने के कुछ देर बाद गायब हो गई. आवाज को दबाना किसी भी कीमत पर सही नहीं है. मैं उम्मीद करती हूं कि पेंग शुआई और उनकी फैमिली ठीक होगी. वर्तमान स्थिति को लेकर मैं स्तब्ध हूं. मैं उसके लिए प्यार और उम्मीद की किरण भेज रही हूं.'

चीनी सरकार ने बड़े पैमाने पर #MeToo आंदोलन को दबा दिया है जो 2018 में काफी फला-फूला था. चीन के मानवाधिकार रिकॉर्ड को लेकर एक्टिविस्ट और कुछ विदेशी राजनेताओं के बहिष्कार की घोषणा के बावजूद बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक की तैयारी में जुटा है. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने गुरुवार को एकबार फिर दोहराया कि वह पेंग शुआई के मामले को लेकर अनजान हैं.

35 साल की पेंग शुआई ने टेनिस के महिला डबल्स इवेंट में काफी शोहरत हासिल की है. इस दौरान पेंग दो ग्रैंड स्लैम जीतने में सफलत रहीं. सबसे पहले उन्होंने 2013 में विंबलडन और फिर 2014 में फ्रेंच ओपन का खिताब अपने नाम किया. फरवरी 2014 में पेंग महिला डबल्स में नंबर वन पॉजिशन पर भी पहुंचने में कामयाब रहीं. 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें