scorecardresearch
 

T20 WC, India vs Pakistan: रोहित-अफरीदी...बाबर-बुमराह...ये पांच फैक्टर तय करेंगे आज के महामुकाबले का रुख

India vs Pakistan, T20 World Cup: भारत-पाकिस्तान के बीच टी20 वर्ल्ड कप मुकाबले की घड़ी अब बेहद नजदीक आ चुकी है. 24 अक्टूबर को होने वाले इस महामुकाबले का इंतजार हर कोई कर रहा है.

X
Virat Kohli vs Babar Azam. Virat Kohli vs Babar Azam.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भारत-पाक के बीच आज दुबई में होगा महामुकाबला
  • गेंद और बल्ले के बीच देखने को मिलेगी रोमांचक जंग

भारत-पाकिस्तान के बीच टी20 वर्ल्ड कप (India vs Pakistan, T20 World Cup) मुकाबले की घड़ी अब बेहद नजदीक आ चुकी है. 24 अक्टूबर को होने वाले इस महामुकाबले का इंतजार हर कोई कर रहा है. दुबई में आज (रविवार) होने वाले इस मुकाबले में भारतीय टीम की कप्तानी विराट कोहली संभालेंगे, वहीं बाबर आजम की अगुआई में पाक टीम मैदान पर उतरेगी. 

भारत-पाक के बीच मुकाबले हमेशा से ही रोचक हुए है. अभी दोनों मुल्क आईसीसी टूर्नामेंट्स में ही भाग लेते हैं. ऐसे में भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबले का हाईवोल्टेज होना स्वाभाविक है. आज होने वाले मुकाबले में भी गेंद और बल्ले के बीच रोमांचक जंग देखने को मिलेगी. 

आइए जानते हैं उन पांच बैटल्स के बारे में, जो आज के मैच का रुख पलट सकती हैं-

1. रोहित शर्मा बनाम शाहीन अफरीदी: बाएं हाथ के पेस बॉलर के खिलाफ रोहित शर्मा की कठिनाइयां जगजाहिर है. खासकर शुरुआती ओवरों में जब गेंद कट होकर अंदर की ओर आती है. 2019 के बाद से टी20 मैचों में लेफ्ट आर्म गेंदबाजों के खिलाफ रोहित का एवरेज और स्ट्राइक रेट उम्मीदों के विपरीत रहा है. टी20 विश्व कप में अब तक रोहित शर्मा पांच बार बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों का शिकार बन चुके हैं. दूसरी ओर, शाहीन आफरीदी ने अबतक 30 टी20 इंटरनेशनल में 32 विकेट चटकाए हैं. हालांकि शाहीन अफरीदी और रोहित शर्मा का सामना केवल एक बार 2018 के एशिया कप में हुआ, जहां रोहित ने इस गेंदबाज के खिलाफ संभलकर बल्लेबाजी की थी.

2. विराट कोहली बनाम शादाब खान: कप्तान विराट कोहली और लेग स्पिनर शादाब खान के बीच की जंग भी भारत बनाम पाकिस्तान जैसे बड़े मैच का नतीजा तय करने में काफी मददगार हो सकती है. कोहली लेग स्पिनरों के खिलाफ थोड़े कमजोर हैं और कई बार गुगली ने उन्हें धोखा दिया है. कोहली बड़े मुकाबलों में निखर कर सामने आते हैं और वह पाकिस्तान के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने को बेताब होंगे. वैसे भी कोहली ने सीमित ओवरों के क्रिकेट में पाकिस्तान के खिलाफ हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया है. पाकिस्तान के खिलाफ 6 टी20 मैचों में भारतीय कप्तान ने 84.66 की औसत से 254 रन बनाए हैं. वहीं, शादाब खान का टी20 अंतरराष्ट्रीय में 53 मैचों में 58 विकेट के साथ एक अच्छा रिकॉर्ड है. 

3. बाबर आजम बनाम जसप्रीत बुमराह: कोहली की तरह बाबर आजम ने भी पाकिस्तान के लिए बल्ले से मोर्चा संभाला है. आजम ने अभ्यास मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ अर्धशतक लगाया, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अभ्यास मैच में कैगिसो रबाडा ने उन्हें 15 रनों पर चलता कर दिया था. ऐसे में भारत अपने मुख्य अस्त्र जसप्रीत बुमराह का इस्तेमाल करके पाक कप्तान को निशाना बना सकता है क्योंकि आजम के जल्दी आउट होने से पाकिस्तान खेमे में खलबली मच जाएगी. 

वैसे बुमराह बड़े टूर्नामेंटों में पाकिस्तान के खिलाफ अपने खराब प्रदर्शन की भरपाई करने के लिए भी उत्सुक होंगे. वह 2017 के आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी और 2019 के वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ कोई विकेट नहीं ले सके थे. जबकि 2016 टी20 विश्व कप मैच में इस भारतीय गेंदबाज ने चार ओवरों में 32 रन देकर सिर्फ एक विकेट लिया था. बाबर आजम ने टी20 इंटरनेशनल में पाकिस्तान के लिए 130.64 के स्ट्राइक रेट से 2,204 रन बनाए हैं. वहीं बुमराह ने अबतक 50 टी20 मैचों में भारत के लिए 59 विकेट चटकाए हैं. 

4. मलिक-हफीज बनाम जडेजा-चक्रवर्ती : पाकिस्तान बीच के ओवरों में भारतीय स्पिनरों पर दबाव बनाने के लिए शोएब मलिक और मोहम्मद हफीज की अनुभवी जोड़ी पर भरोसा कर सकता है. ऐसे में भारत के रवींद्र जडेजा और वरुण चक्रवर्ती के साथ जाने की संभावना है. दोनों खिलाड़ियों ने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया, लेकिन अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन भी अपने अनुभव के कारण प्लेइंग इलेवन का हिस्सा हो सकते हैं. शोएब मलिक हमेशा भारत के खिलाफ अपना बेस्ट देने की कोशिश करते हैं, जबकि हफीज पाकिस्तान के संकटमोचक खिलाड़ी हैं. 

रवींद्र जडेजा एक मुश्किल गेंदबाज रहे हैं. उन्हें इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह‌ किन परिस्थितियों में गेंदबाजी करते हैं. जबकि वरुण चक्रवर्ती ने हाल ही में आईपीएल में साबित किया कि वह टी20 क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से एक हैं. जहां चक्रवर्ती ने आईपीएल में 6.58 की प्रभावशाली इकॉनमी रेट से 18 विकेट निकाले, वहीं जडेजा ने 7.06 रन प्रति ओवर की दर से 13 विकेट हासिल किए. 

5. मोहम्मद रिजवान बनाम मोहम्मद शमी: आईपीएल में मोहम्मद शमी अच्छे फॉर्म में थे और उन्होंने अभ्यास मैच में इंग्लैंड के खिलाफ तीन विकेट लेकर अपनी लय बरकरार रखी. ऐसे में भारत नई गेंद से शुरुआती विकेट्स हासिल करने के लिए मोहम्मद शमी की ओर रुख करेगा. शमी की भी नजरें पाकिस्तानी ओपनर मोहम्मद रिजवान को आउट करने पर होंगी, जिन्होंने इस साल टी20 इंटरनेशनल में 94 की औसत से सबसे ज्यादा 752 रन बनाए हैं. अगर शमी अपने पहले स्पेल में एक या दो विकेट ले पाते हैं, तो इससे मिडिल ओवर्स में स्पिनरों के लिए चीजें आसान हो जाएंगी. 

 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें