scorecardresearch
 

अंतरिक्ष से बादलों में दिखा 'GO' का संदेश, देखिए ये विचित्र प्राकृतिक घटना 

पृथ्वी (Earth) काफी समय से हमें कुछ बताने की कोशिश कर रही है और अब तो लगता है कि उसने लिखकर दे दिया है. सैटेलाइट से एक अनोखी तस्वीर सामने आई है, जिसमें पृथ्वी 'चले जाने' (GO) का संदेश देती दिख रही है.

X
सैटेलाइट तस्वीर में दिखा अनोखा संदेश (Photo: NOAA) सैटेलाइट तस्वीर में दिखा अनोखा संदेश (Photo: NOAA)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सैटेलाइट से तस्वीर सामने आई
  • बादलों पर लिखा हुआ था 'GO'

GOES ईस्ट सैटेलाइट (GOES East satellite) से एक हैरान करने वाली तस्वीर सामने आई है. अंतरिक्ष से देखने पर लगता है कि बादलों पर 'गो' (GO) शब्द लिखा हुआ हो. पृथ्वी की यह तस्वीर शुक्रवार, 6 मई को GOES ईस्ट सैटेलाइट से ली गई थी, जिसे राष्ट्रीय महासागरीय और वायुमंडलीय प्रशासन चलाता है (National Oceanic and Atmospheric Administration- NOAA).

NOAA के अधिकारियों ने ट्विटर पर फोटो शेयर करते हुए लिखा, 'हम खुश हैं कि आज शुक्रवार है. एनओएए सैटेलाइट कभी आराम नहीं करते और पृथ्वी के मौसम पर हमेशा सतर्क नजर रखते हैं. आज चिली के तट पर समुद्री स्ट्रैटोक्यूम्यूलस बादलों (stratocumulus clouds) में इस दिलचस्प पैटर्न को देखकर हम हैरान थे. ये 'जी'(G) अक्षर लग रहा है.' 

weird message by earth
 Thank God It's Friday (Photo: NOAA)

चूंकि उस दिन शुक्रवार था, तो NOAA ने तस्वीर पर 'जी' के साथ बाकी अक्षर लिखकर इसे TGIF बना दिया, जो थैंक गॉड इट्स फ्राइडे (Thank God It's Friday) की शॉर्ट फॉर्म है. लेकिन दूसरे ही ट्वीट में NOAA ने लिखा, 'अगर आप इस तस्वीर को ज़ूम करके देंखेंगे, तो आपको 'GO' शब्द बनाता हुआ दिखेगा. 

अब तस्वीर को नए सिरे से देखने पर पाया गया कि चिली के तट पर एक विशाल 'GO' लिखा दिख रहा है. ये किस तरह का संदेश है? क्या पृथ्वी ये कह रही है कि थोड़ी देर के लिए पृथ्वी को अकेला छोड़ दिया जाए?

 

असल में, ऐसा कुछ भी नहीं है. बादलों या बाकी चीजों में पहचानी जा सकने वाली आकृतियों को देखना पेरिडोलिया (Pareidolia) कहा जाता है, जहां इंसान का दिमाग अलग-अलग आकृतियों में जाने-पहचाने पैटर्न देखता है. "मंगल ग्रह पर किसी का चेहरा या चीखते हुई खोपड़ियों का दिखना जैसी तस्वीरें इसी मनोवैज्ञान का ही कुछ उदाहरण हैं.
 
पृथ्वी पर बादलों में GO जैसी आकृति दिखना उस समय की वायुमंडलीय स्थितियों के कारण हुआ. लेकिन यह सोचना मजेदार है कि पृथ्वी हमें इस रह कुछ संदेश देना चाहती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें