scorecardresearch
 

विचार एवं विश्लेषण

लीजेंड सिंगर किशोर कुमार के जन्मदिन पर उनके जीवन से जुड़े किस्से...

Kishore Kumar: इस मोड़ से जाते हैं... कुछ सुस्त क़दम रस्ते कुछ तेज़ क़दम राहें

04 अगस्त 2022

किशोर कुमार का फ़िल्मी करियर जब तेजी से चल रहा था, उस समय उन्होंने ज़रूरत से ज्यादा फ़िल्में साइन कर लीं. समय कम और काम ज्यादा... ऐसे में किशोर अपने किये वादे और साइन किये गए कॉन्ट्रेक्ट को निभा नहीं सके. जिसके चलते फिल्म प्रोड्यूसर्स उनसे ख़ासा नाराज़ हो गए थे. ऐसे में किशोर कुमार के एक्टिंग करियर पर बैन लगा दिया गया. किशोर अब फ़िल्में नहीं कर रहे थे. अचानक से लड़खड़ाए समय में किशोर की पत्नी रूमा देवी ने उन्हें एक चिट्ठी लिखी और उनसे कहा कि तुम्हें एक्टिंग के लिए बैन किया गया है, गाने के लिए नहीं. तुम गा सकते हो. उसके बाद जो हुआ वो सभी के सामने है. पढ़िए किशोर कुमार से जुड़े अनसुने किस्से...

60 और 70 के दशक में मुमताज़ ने कई हिट फिल्मों के साथ बॉलीवुड इंडस्ट्री पर राज किया

मुमताज: वो दौर जब A ग्रेड फिल्मों के लिए तरस रही थीं बॉलीवुड की ब्लॉकबस्टर क्वीन...

31 जुलाई 2022

फ़िल्मी दुनिया में 11 साल की उम्र में कदम रखने वालीं मुमताज के टैलेंट को उस दौर के सुपरस्टार्स ने बेहद कम आंका, उनके साथ फ़िल्में करने को साफ मना किया तो वहीं फिल्म जगत से जुड़ी अभिनेत्रियों ने उनसे दोस्ती तक करना मुनासिब नहीं समझा. फिल्म के सेट पर उनसे दूर कुर्सी डालना, उनसे बात तक ना करना और तो और उन्हें तंजभरा नया नाम तक मिला. लेकिन एक दौर वो भी आया जब मुमताज़ के साथ फ़िल्में मना करने वाले एक्टर्स ने जिद पकड़ ली कि वे फिल्म तब ही करेंगे जब उसमें मुमताज रहेंगी. पढ़िए उनकी जिंदगी से जुड़े खास किस्से...

मंदाकिनी का करियर जितनी तेजी से आसमान की तरफ बढ़ा उतनी ही तेजी से नीचे भी चला गया

मंदाकिनी: 80 के दौर में बोल्ड सीन, दाऊद से रिश्ते और मुंबई धमाकों में पूछताछ...

30 जुलाई 2022

बॉलीवुड में मंदाकिनी ने जितनी तेजी से एंट्री ली उतनी ही तेजी से वो बाहर भी निकल गईं. बोल्ड सीन को लेकर चर्चा में आईं मंदाकिनी की अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद के साथ एक तस्वीर ने उन्हें फिल्मी कॅरियर में अचानक से पीछे की ओर धकेल दिया. इतना ही नहीं, मुंबई धमाकों को लेकर उनसे पुलिस ने पूछताछ भी की और ये सिर्फ इसलिए कि उन्हें दाउद की कथित गर्लफ्रेंड बताया जा रहा था. हालांकि एक्ट्रेस ने इन सभी अफवाहों का खंडन कर दाउद के साथ अपने रिश्ते को नकार दिया था...

सद्गुरु जग्गी वासुदेव.

नास्तिक और आस्तिक में क्या अंतर है?

29 जुलाई 2022

Sadhguru article: किसी धर्म और एक आध्यात्मिक प्रक्रिया में बुनियादी अंतर यह है कि कोई धर्म मुख्यतया विश्वास प्रणालियों के संग्रह से आता है जबकि आध्यात्मिक प्रक्रिया एक खोज है. तो जो लोग किसी धर्म का अनुसरण करते हैं, उन्हें विश्वासकर्ता कहा जाता है और जो आध्यात्मिक माग पर हैं, उन्हें खोजकर्ता कहा जाता है.

संजय दत्त के सबसे मुश्किल समय में बाल ठाकरे ने बेहद खास किरदार निभाया था!

सुनील दत्त की एक गुहार...और संजय के लिए 'सरकार' बन गए थे बाल ठाकरे

28 जुलाई 2022

सुनील दत्त कभी भी इस बात को मानने को तैयार नहीं थे कि उनके बेटे पर जो आरोप लगे हैं वो सच हैं. उन्होंने संजय को जेल से निकालने की हर कोशिश भी आज़मा ली थी. कांग्रेस ने भी इस मामले में मूक दर्शक होना चुन लिया था. शरद पवार बनाम सुनील दत्त का दौर भी जारी था. ऐसे में सुनील दत्त का साथ शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने दिया. हालांकि बाल ठाकरे से मदद मांगने के लिए कांग्रेस नेता सुनील दत्त बिल्कुल भी तैयार नहीं थे, लेकिन एक पिता के तौर पर उन्होंने मातोश्री में क़दम रखा और बाल ठाकरे ने उतनी ही सादगी से उनकी सारी बातें सुनीं और मदद का आश्वासन भी दिया.

रणवीर सिंह के हाल ही में हुए एक फोटोशूट को लेकर काफी बवाल मचा हुआ है.

रणवीर सिंह: 'हंगामा है क्यों बरपा, डाका तो नहीं डाला... चोरी तो नहीं की है'  

27 जुलाई 2022

रणवीर सिंह ने हाल ही में एक मैगज़ीन के लिए फोटोशूट कराया था, जिसने सभी मुद्दों को पछाड़ते हुए एक्टर को 'टॉक ऑफ़ द टाउन' बना दिया है. तो वहीं दूसरी ओर 'महिलाओं की भावनाएं आहत' जैसा हवाला देकर रणवीर पर मुंबई में केस भी दर्ज करवा दिया गया है. इन सबके बीच सबसे बड़ा सवाल यही है कि जेंडर इक्वैलिटी की बात करने वाले लोग एक मेल एक्टर की न्यूड तस्वीरों से आहत कैसे हो गए, जबकि फीमेल एक्टर की ऐसी तस्वीरों पर आपत्ति जैसा कभी कुछ नजर नहीं आता. बल्कि उनकी वो तस्वीरें टॉप सर्च में शामिल हो जाती हैं.

राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा

राष्ट्रपति और VP चुनावः न चेहरे, न रणनीति...क्यों भ्रमित और विफल नज़र आता है विपक्ष

18 जुलाई 2022

राष्ट्रपति चुनाव हो या उससे पहले उप-राष्ट्रपति का चयन, विपक्ष कमज़ोर और भ्रमित नज़र आया है. चेहरों के पीछे की सोच के तर्क समझ से परे हैं. विपक्ष केवल चुनाव नहीं हारा है, कुछ और भी हार गया है.

जियो सुष! तुम लड़कियों के लिए आइडल थीं और हमेशा रहोगी

17 जुलाई 2022

सुष्मिता सेन को 'गोल्ड डिगर' बोला जा रहा है. ये बोलते वक्त लोग इस महिला की उपलब्धियों और संघर्षों को भूल गए, याद रहा तो सिर्फ ललित मोदी का बैंक बैलेंस. जिसके वजन से सुष्मिता की शख्सियत को तोला जा रहा है.

उपराष्ट्रपति चुनाव में जगदीप धनखड़ NDA के उम्मीदवार

धनखड़ की उम्मीदवारी के क्या हैं मायने? ममता की जीत या कुछ और?

17 जुलाई 2022

Vice President election: शनिवार शाम को दिल्ली में बीजेपी पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक हुई, जिसमें उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए जगदीप धनखड़ के नाम पर सहमति बनी. जगदीप धनखड़ पश्चिम बंगाल के राज्यपाल हैं, जिन्हें हटाने के लिए सीएम ममता बनर्जी लंबे समय से मांग कर रही थीं.

योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री (उत्तर प्रदेश)

‘विश्वास, विकास एवं सेवा के 100 दिन’, CM योगी का aajtak.in के लिए लेख

05 जुलाई 2022

'अंत्योदय' से 'राष्ट्रोदय' के आदर्श को आत्मसात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में हम फिर से 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास' मंत्र के साथ 'आत्मनिर्भर प्रदेश' के लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ रहे हैं.

केशव मौर्य, डिप्टी सीएम (यूपी)

रोजगार हमारी प्राथमिकताओं में सबसे ऊपर: योगी राज 2.0 पर केशव मौर्य का लेख

05 जुलाई 2022

गांव, गरीब, किसान, युवा, वंचित और महिलाओं के स्वावलंबन, सशक्तिकरण के साथ आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति का कल्याण ही हमारे विचारों का मूल है. पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने अंत्योदय का जो विचार रखा था, उसका नया नाम 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास' ही सरकार चलाने का हमारा मंत्र है.

बच्चा है, पिज़्ज़ा नहीं, ये ऑर्डर पर नहीं बनता... आलिया, दीपिका-कटरीना को बख्श दीजिए!

30 जून 2022

सोशल मीडिया पर मीम का आनंद जरूर लीजिए, लेकिन ये समझ लीजिए कि बच्चा करना है, नहीं करना है या कब करना है, ये तय करने का अधिकार केवल दो ही लोगों के पास होना चाहिए.

सद्गुरु (संस्थापक, ईशा फाउंडेशन)

योग करना ठीक है या जिम जाना?

20 जून 2022

क्या योग से मांसपेशियां बनने में मदद मिलती है? आप अगर वजन उठाने के व्यायाम पर हर दिन घंटों बिताते हैं तो आप विश्वास नहीं करेंगे कि ऐसा योग से भी हो सकता है. योग बनाम व्यायामशाला यानी जिम के विवाद पर क्या है सद्गुरु का पक्ष?

महाराष्ट्र में शिवसेना ने बीजेपी को मुंबई के मुद्दे पर घेरने का बनाया प्लान.

हिंदुत्व पर घिरी शिवसेना ने चला 'मुंबई' दांव, 1985 में भी बना था 'ब्रह्मास्त्र'

17 मई 2022

मराठी भाषियों के हक की बात पर बनी शिवसेना के लिए भी 'मुंबई' मुद्दा कई बार काम आया. 1978 से 1985 तक जब शिवसेना लगातार चुनाव हार रही थी, तब 1985 के बीएमसी चुनाव के पहले तत्कालीन कांग्रेसी मुख्यमंत्री वसंत दादा पाटिल ने किसी भाषण में कहा कि मुंबई को महाराष्ट्र से तोड़ने की कोशिश हो रही है. शिवसेना ने इसी मुद्दे पर बीएमसी का चुनाव लड़ा. इस चुनाव ने शिवसेना को मुंबई की सत्ता तो दिलवा ही दी, साथ ही राजनीतिक पुर्नजन्म भी दे दिया.

सद्गुरु, ईशा फाउंडेशन

किसानों को प्रोत्साहन के तीन चरण और थमेगा मिट्टी का क्षरण

13 मई 2022

हर देश 3% जैविक तत्व को एक न्यूनतम औसत निर्धारित कर सकता है और किसानों को वहां पहुंचने की आकांक्षा करने के लिए आकर्षक प्रोत्साहन दे सकता है. उद्योग और बिजनेस, किसानों के लिए द्वितीय स्तर के प्रोत्साहन के रूप में कार्बन क्रेडिट प्रणाली लागू कर सकते हैं.

संतूर वादक पंडित शिव कुमार शर्मा का 84 साल की उम्र में निधन हो गया.

पंडित शिवकुमार शर्माः सो गया संतूर को शास्त्रीय बनाने वाला महान साधक

10 मई 2022

भारत की महान शास्त्रीय संगीत परंपरा में संतूर एक अभिन्न अंग है लेकिन इस लोक वाद्ययंत्र को शास्त्रीय परंपरा के एक अहम वाद्य के रूप में स्थापित करने का श्रेय पंडित शिवकुमार शर्मा (Pandit Shivkumar Sharma) को जाता है.

विचार एवं विश्लेषण: चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर पर लेख

Politics का MBA: राजनीति के अखाड़े में प्रशांत किशोर होने के मायने

05 मई 2022

प्रशांत किशोर अभी तक राजनीति के अखाड़े से बाहर खड़े होकर दांव लगाते थे. लेकिन अब उन्होंने अखाड़े की चौहद्दी पर नारियल फोड़ दिया है और मिट्टी उठा ली है.

योगी 2.0: अब दिखने लगे हैं भविष्य की राजनीति के कई अहम संकेत

04 मई 2022

सीएम योगी का दूसरा कार्यकाल शुरू हो चुका है. लेकिन अपने पहले कार्यकाल और उससे भी पहले की छवि से निकलकर योगी अब एक ज़्यादा वृहद् दायरे की राजनीति को साधते और बढ़ते प्रशासक के तौर पर नज़र आ रहे हैं.

शिवसेना के सामने नई चुनौतियां

राज, राणा, राणे, रनौत... बीजेपी के नए-नए तीर, शिवसेना के लिए चुनौती गंभीर!

28 अप्रैल 2022

महाराष्ट्र में शिवसेना के सामने कई चुनौतियां खड़ी हो गई हैं. पहले तो सिर्फ बीजेपी से चुनौती मिल रही थी, लेकिन अब सियासी पिच पर कई नए किरदार खड़े हो गए हैं. ये नए किरदार ही पार्टी के लिए सिरदर्दी बन रहे हैं.

प्रशांत किशोर कांग्रेस में नहीं होंगे शामिल

कांग्रेस कथा: दर्द है, दवा भी है... फिर क्यों दिल नहीं है?

26 अप्रैल 2022

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस में शामिल होने से इनकार कर दिया है. उन्होंने खुद इसकी जानकारी एक ट्वीट के जरिए दी. वहीं, कांग्रेस ने भी बताया कि प्रशांत किशोर ने कांग्रेस के ऑफर को ठुकरा दिया है और वो पार्टी में नहीं शामिल हो रहे हैं.

प्रशांत शाही लिखते हैं कि वामपंथी संगठन कावेरी छात्रावास के गेट पर जमा हो गए और आयोजकों को धमकाने लगे.

जेएनयू में भारतीय उत्सव और वामपंथ की दिक्कत! पक्ष

15 अप्रैल 2022

रामनवमी पूजा के बाद जेएनयू में वामपंथी संगठनों ने उन छात्रों को निशाना बनाना शुरू कर दिया जो एबीवीपी के कार्यकर्ता या हमदर्द हैं. उन्होंने छात्राओं या दिव्यांग छात्रों को भी जाने नहीं दिया.