scorecardresearch
 

विचार एवं विश्लेषण

जानें क्या बोले श्री श्री रविशंकर

World Mental Health day: एकांत से गहरी प्रसन्नता की ओर

09 अक्टूबर 2021

जब आप पाते हैं कि जीवन व्यर्थ है, तो आप में एक खालीपन का भाव पैदा होता है. यह या तो आपको अवसाद की ओर ले जाता है, या वही शून्य आपके लिए उच्च चेतना की ओर बढ़ने का माध्यम बन सकता है.

सद्गुरु

सनातन धर्म अतीत की चीज नहीं है, यह हमारा भविष्य है

22 सितंबर 2021

Sadhguru article: सनातन धर्म शाश्वत नियम है. जीवन के कुछ खास तत्व या बुनियादी पहलू हैं जो हमेशा लागू होंगे. सनातन धर्म का मतलब है कि हमारे पास इस बात की अंतर्दृष्टि है कि जीवन हमेशा कैसे कार्य करता है. 

साहिल जोशी

राजनीतिक शतरंज के माहिर खिलाड़ी पवार कांग्रेस पर क्यों बरसे?

17 सितंबर 2021

एनसीपी नेता शरद पवार ने कांग्रेस की तुलना उत्तर प्रदेश के एक ऐसे जमींदार से की जो अपना पुराना वैभव, शानो-शौकत लुटा चुका है, लेकिन अब भी उसके अकड़ और नजरिए में बदलाव नहीं आया है. कई कांग्रेसियों ने निजी तौर पर माना कि वो सही कह रहे हैं.

सद्गुरु के विचार

इंसान होना ही अद्भुत है, आपके भीतर है सृष्ट‍ि का स्रोत

16 सितंबर 2021

लोग हमेशा भगवान, भगवान के लोगों या भगवान की कृपा से वंचित लोगों की बातें करते रहते हैं - क्योंकि उन्होंने मानव होने की विशालता का एहसास नहीं किया है. सृष्टि का स्रोत खुद आपके भीतर फंसा हुआ है, और हर दिन चमत्कार पर चमत्कार कर रहा है.

हामिद मीर, पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार

अफगानिस्तान में तालिबान के लिए यह अंतिम मौका है 

10 सितंबर 2021

Taliban in Afghanistan: आज अफगानिस्तान कमजोर है और तालिबान मजबूत दिख रहे हैं. लेकिन उन्हें अपने अस्तित्व के लिए ही अफगानिस्तान को एक बार फिर से मजबूत करना होगा.

ईशा फाउंडेशन के संस्थापक सद्गुरु

जो उचित हो, कृष्ण वही करने की सीख देते हैं

30 अगस्त 2021

कृष्ण शांति, प्रेम और करुणा के प्रतीक थे. उन्होंने शांति कायम करने की पूरी कोशिश की, लेकिन लड़ाई के मैदान में वे एक शूरवीर योद्धा थे. राजाओं के दरबार में जाते, तो वहां वे एक कुशल राजनेता होते थे. जब अपनी प्रेमिका के साथ होते, तो एक शानदार प्रेमी होते थे.

हामिद मीर, पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार

जून में ही मैंने काबुल के पतन का अनुमान लगा लिया था

29 अगस्त 2021

मैंने 22 जून, 2021 को यह लिखा कि अफगान तालिबान तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. अशरफ गनी के कुछ करीबी लोगों के संपर्क में हैं और तालिबान कुछ लेन-देन के आधार पर उनके साथ डील करने की कोशि‍श कर रहे हैं.

सद्गुरु के विचार

मिट्टी को गंदगी न समझें

28 अगस्त 2021

हमारी संस्कृति में एक गहरी समझ है, कि हम धरती माता से ही पैदा हुए हैं. असली मां वह मिट्टी है, जिसे हम अपने शरीर के रूप में धारण करते हैं. पर आज दुनिया में मिट्टी को मैल या गंदगी कहा जाने लगा है. 

सद्गगुरु के विचार

शरीर को जो वाकई चाहिए, वह आराम है, नींद नहीं

10 अगस्त 2021

अगर आपके पास ऐसा शरीर है जिसे 12 घंटे काम करने के बाद 12 घंटे सोना पड़े, तो वह एक कुशल सिस्टम नहीं है - इसका मतलब है कि उसे ठीक से संभाला नहीं जा रहा है.

सद्गगुरु के विचार

काम और जीवन नहीं, बस जीवन और जीवन

27 जुलाई 2021

आजकल मैं देखता हूँ कि ‘भगवान का शुक्र है कि आज शुक्रवार है’ की संस्कृति आ गई है. इसका मतलब है कि लोग सप्ताह में पांच दिन मरे रहते हैं और और सिर्फ सप्ताहांत पर जीते हैं. यह जीने का अच्छा तरीका नहीं है. आपको सातों दिन जीना चाहिए.

Pawan Duggal Cover

स्पाईवेयर को किसी के कंप्यूटर या मोबाइल में डालना भी साइबर क्राइम

22 जुलाई 2021

इस सॉफ्टवेयर को डेवलप करने वाली कंपनी का कहना है वो सिर्फ सरकार और सरकारी एजेंसियों को ये सॉफ्टवेयर उपलब्ध करवाती है. ये स्पाईवेयर आतंक और अपराध से लड़ने के लिए उपलब्ध करवाया जाता है. प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठनों ने जांच के जरिए नई चीजों को पेश किया है.

राजदीप सरदेसाई का मानना है कि किसी ने जबरदस्ती शादी की या अपनी मर्जी, इसे तय करने वाले हम और आप कौन होते हैं.

लव जिहादः प्यार का जश्न मनाइए, इसे अपराध से मत जोड़िए

05 जुलाई 2021

आप यकीन मानिए, यूपी चुनाव से पहले ऐसे कई मामले सामने आएंगे क्योंकि ये वोट बैंक की राजनीति करने और दो समुदायों को धर्म के आधार पर बांटने का शानदार तरीका है.

सद्गुरु, ईशा फाउंडेशन.

आपके सभी सपने सच न हों

03 जुलाई 2021

हमारे भविष्य को हमारे अतीत से कोई लेना-देना नहीं होना चाहिए. अब नए भविष्य को घटित होना चाहिए. आप जिसका सपना तक नहीं देख सके, वह चीज आपके जीवन में होनी चाहिए. आप जिसकी कल्पना तक नहीं कर सकते, उसे आपके जीवन में होना चाहिए.

पीएम मोदी की जम्मू-कश्मीर पर बैठक (तस्वीर- आजतक)

पीएम मोदी का मिशन, दिल्ली और दिल की दूरी को मिटाना

25 जून 2021

प्रधानमंत्री ने न केवल सभी नेताओं को सुना, बल्कि बैठक के बाद उनमें से प्रत्येक के पास भी गए और उनसे व्यक्तिगत रूप से बातचीत भी की. बैठक में केंद्र ने जो संदेश दिया, उसमें भविष्य में जम्मू-कश्मीर में विकास पर ध्यान केंद्रित करने पर जोर दिया गया.

सद्गुरु, ईशा फाउंडेशन

योग: आखिर है क्या?

21 जून 2021

योग महज शारीरिक व्यायाम या कसरत नहीं है. यह एक तकनीक है जो आपको उस परम मुकाम तक पहुंचा सकती है, जहां एक इंसान पहुंच सकता है.

सद्गुरु, ईशा फाउंडेशन

सद्गुरु: मेरा बुनियादी लक्ष्य-धर्म से जिम्मेदारी की ओर

08 जून 2021

हमें यह समझने की जरूरत है कि हमारी सारी समस्याओं का स्रोत हमारे भीतर ही है और अगर हम समाधान चाहते हैं तो वो भी हमारे अंदर ही हैं, कहीं बाहर नहीं हैं. यह बहुत महत्वपूर्ण है- आप कौन हैं, आप क्या हैं, और आप क्या नहीं हैं, इसकी जिम्मेदारी आपके पास आनी चाहिए.

प्रियंका चतुर्वेदी

प्रियंका चतुर्वेदीः अटल बिहारी वाजपेयी के रास्ते से कैसे अलग हो गए मोदी?

08 जून 2021

वे सभी चीजें, जिसके आरोप कांग्रेस पर लगाए जाते थे, जिसके लिए कांग्रेस को कोसा जाता था, आज उन सबका पालन बीजेपी में हो रहा है. अपने नए अवतार में बीजेपी स्पष्ट रूप से लंबे समय से चले आ रहे अपने मूल्यों और सिद्धांतों को भूल गई है.

राम माधव

राम माधवः बड़ी टेक कंपनियों के रेगुलेशन की जरूरत क्यों?

08 जून 2021

सोशल मीडिया कंपनियों समेत बड़ी टेक कंपनियां बहुत बड़ी और शक्तिशाली बन चुकी हैं. उनके इस बढ़ते आकार के साथ ही उनकी उदासीनता और अकर्मण्यता भी बढ़ी है. सरकारें इन्हें अस्थिर करने वाला मान रही हैं.