scorecardresearch
 

बरसात के मौसम में होता है इस बीमारी का खतरा, ऐसे बचें

बरसात के मौसम में बार-बार बदलते तापमान का शरीर पर बुरा असर पड़ता है, इसलिए मानसून का आनंद लेने के साथ-साथ खुद को स्वस्थ रखना भी जरूरी है.

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

बरसात का मौसम शुरू हो चुका है. जहां एक ओर बरसात की पहली बारिश से गर्मी से राहत मिलती है, तो वहीं इससे कई बार सेहत संबंधी समस्याएं होने लगती हैं. इस मौसम में छोटे बच्चों से लेकर बड़े भी फ्लू का शिकार हो जाते हैं. इसके अलावा बार-बार बदलते तापमान का भी शरीर पर बुरा असर पड़ता है, इसलिए मानसून का आनंद लेने के साथ-साथ खुद को स्वस्थ रखना भी जरूर है.

हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि फ्लू का संक्रमण हालांकि जानलेवा नहीं होता, लेकिन छोटे बच्चों और बुजुर्गो में इसके कारण कई समस्याएं हो सकती हैं. खासतौर पर उन लोगों पर इसका बुरा असर पड़ता है, जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होतe है. मानसून में होने वाला फ्लू दो सप्ताह में ठीक हो जाता है, लेकिन कुछ समय के लिए इसके लक्षण बहुत ज्यादा परेशान कर सकते हैं.

ऐसे होता है थायराइड, ये हैं लक्षण

ये हैं फ्लू के लक्षण-

तेज बुखार, पसीना आना, कंपकंपी छूटना, लगातार खांसी, नाक बहना, शरीर में दर्द, त्वचा पर रैश आदि फ्लू के लक्षण हैं.

इन लोगों में ज्यादा होता है दिल की बीमारी का खतरा, ऐसे बचें

फ्लू से ऐसे बचें-

- खाना खाने से पहले हाथ धोना बहुत जरूरी है, क्योंकि ये जीवाणु शारीरिक संपर्क से फैलते हैं.

- नियमित रूप से व्यायाम करें,  इससे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत बनती है.

- पर्याप्त मात्रा में पानी पीएं.

- सेहतमंद और पोषक आहार लें, स्वास्थ्यप्रद भोजन खाने से प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है.

- इन्फ्लुएंजा से बचने के लिए वैक्सीन उपलब्ध है, लेकिन यह उन्हीं लोगों को देनी चाहिए जिनमें संक्रमण की आशंका अधिक होती है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें