scorecardresearch
 

जयपुर में अब नहीं बनेंगी स्मार्ट सड़कें, देरी की वजह से लिया गया फैसला

145 करोड़ रुपये की लागत से स्मार्ट सिटी में किशनपोल बाजार, चांदपोल बाजार, जौहरी बाजार, चौरा रास्ता, त्रिपोलिया बाजार, बापू बाजार, गंगौरी बाजार, नेहरू बाजार, सिरोही बाजार में स्मार्ट सिटी का काम होना है. लेकिन हालत यह है कि अभी किशनपोल बाजार में ही काम पूरा हुआ है और चांदपोल बाजार में काम चल रहा है.

जयपुर शहर की फाइल फोटो जयपुर शहर की फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सड़क निर्माण के कामकाज में भारी देरी
  • 1 साल में पूरा होना था काम, 4 साल से अटका
  • 235 करोड़ रुपये का विकास कार्य होना बाकी

जयपुर को स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा भारी तामझाम के साथ शुरू हुई थी मगर हालत यह हो गई है कि अब लोग भूल गए हैं कि जयपुर में स्मार्ट सिटी भी बन रहा है. लेटलतीफी से परेशान होकर स्मार्ट सिटी के लिए हुई बोर्ड मीटिंग में फैसला लिया गया कि अब स्मार्ट सिटी में स्मार्ट सड़क नहीं बनेंगी क्योंकि इसकी वजह से कामकाज में भारी देरी हो रही है. 

बोर्ड मीटिंग में यह भी फैसला लिया गया कि कोरोना की वजह से कामकाज में लेट हुआ है, लिहाजा आगे के काम में 6 महीने के लिए कंसल्टेंसी फर्म को हायर किया जाए. या इसी कंसल्टेंसी फर्म का एक्सटेंशन किया जाए.

145 करोड़ रुपये की लागत से स्मार्ट सिटी में किशनपोल बाजार, चांदपोल बाजार, जौहरी बाजार, चौरा रास्ता, त्रिपोलिया बाजार, बापू बाजार, गंगौरी बाजार, नेहरू बाजार, सिरोही बाजार में स्मार्ट सिटी का काम होना है. लेकिन हालत यह है कि अभी किशनपोल बाजार में ही काम पूरा हुआ है और चांदपोल बाजार में काम चल रहा है. 

स्मार्ट रोड के काम में सीमेंटेड रोड, हेरिटेज लाइट, फुलवारी, अंडरग्राउंड सीवरेज और पानी की लाइन डाली जानी है. ये सारे काम 1 साल पहले पूरा होना चाहिए मगर अब तक नहीं हो पाया है. स्मार्ट सिटी का काम जयपुर में 2016 -17 में शुरू हुआ था और फिलहाल 625 करोड़ रुपये की लागत से अलग-अलग जगहों पर कामकाज चल रहे हैं. 75 लाख रुपये के टेंडर अभी हुए हैं और 235 करोड़ रुपये के विकास कार्य भी होने बाकी हैं.

स्मार्ट सिटी लिमिटेड के बोर्ड की 16वीं बैठक में तय हुआ कि सवाई मानसिंह स्टेडियम का जीर्णोद्धार किया जाएगा. जयपुर के पुराने शहर की चाहरदीवारी को फिर से खूबसूरत किया जाएगा और शहर की यातायात सुविधाओं को ठीक किया जाएगा. इसके अलावा स्मार्ट सिटी के बीच कार्यों को मंजूरी दी गई है जिसके तहत 130 लो फ्लोर बसें भी खरीदी जाएंगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें