scorecardresearch
 

MP: बिजली बिल की शिकायत की तो विभाग ने कहा- 'छूट पाना है तो BJP को हटाना है'

बिजली बिल की शिकायत करने पर एक शख्स को विभाग से जो जवाब मिला उससे ना केवल ग्राहक बल्कि स्थानीय प्रशासन तक की नींद उड़ा दी है.

सांकेतिंक तस्वीर (रॉयटर्स) सांकेतिंक तस्वीर (रॉयटर्स)

  • करीब 30 हज़ार रुपये से अधिक के बिल मिला जवाब
  • जांच पड़ताल के बाद असिस्टेंट इंजीनियर निलंबित

मध्य प्रदेश के आगर मालवा में बिजली के बढ़े हुए बिल की शिकायत करने पर एक शख्स को बिजली विभाग से जो जवाब मिला उससे ना केवल ग्राहक बल्कि स्थानीय प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों तक की नींद उड़ा दी है.

दरअसल, आगर मालवा के हरीश जाधव का करीब 30 हज़ार रुपये से अधिक का बिल आया तो उन्होंने बिजली विभाग में इसकी शिकायत की. बिजली विभाग की वेबसाइट पर उन्होंने इसकी शिकायत की जिसके बदले उन्हें एक एप्लिकेशन आईडी दी गई.

bill_052420122546.jpg

अगले दिन जब हरीश जाधव ने बिजली विभाग की वेबसाइट पर जाकर अपनी शिकायत का स्टेटस चेक किया तो उनके होश फाख्ता हो गए. वेबसाइट में शिकायत के स्टेटस के साथ क्लोज़ रिमार्क में लिखा था 'अगर बिल में छूट पाना है तो बीजेपी को हटाना है. कांग्रेस को लाना है. 100 रुपये में 100 का आना है.'

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

क्लोज़ रिमार्क देख हरीश जाधव का माथा ठनका और उन्होंने इसकी शिकायत बिजली विभाग के साथ-साथ कलेक्टर कार्यालय में जाकर भी की. जांच के बाद मध्य प्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के आगर मालवा शहर वितरण केंद्र में कार्यरत एक असिस्टेंट इंजीनियर को निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही मामले में विभागीय जांच भी बैठा दी गई है.

आगर-मालवा में होना है उपचुनाव

बता दें कि ये मामला इसलिए भी ज्यादा गम्भीर है क्योंकि आगर-मालवा मध्य प्रदेश की उन विधानसभा सीटों में से एक है जहां उपचुनाव होना है. इस साल जनवरी में आगर-मालवा से बीजेपी विधायक मनोहर ऊंटवाल का निधन होने से ये सीट खाली हो गई थी. माना जा रहा है कि इस मामले में अन्य अफसरों पर भी जल्द ही गाज गिर सकती है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें