scorecardresearch
 

मध्य प्रदेशः 'जन दर्शन' यात्रा पर निकले सीएम शिवराज को मिली भ्रष्टाचार की शिकायत, तहसीलदार समेत 3 सस्पेंड

जनता की समस्याएं सुनने के लिए 'जन दर्शन' पर निकले शिवराज को भ्रष्टाचार की शिकायत मिली तो उन्होंने भी जनता के बीच ही फैसला ऑन स्पॉट सुना दिया.

शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटोः ट्विटर) शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटोः ट्विटर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सीएम ने मंच से ही किया निलंबित करने का ऐलान
  • सीएम शिवराज सिंह ने सुनीं जनता की समस्याएं

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन दिनों जन दर्शन यात्रा पर निकले हैं. जनता के बीच पहुंच रहे सीएम शिवराज मंगलवार को निवाड़ी जिले में पहुंचे थे. सीएम शिवराज निवाड़ी में एक्शन मोड में नजर आए. जनता की समस्याएं सुनने के लिए 'जन दर्शन' पर निकले शिवराज को भ्रष्टाचार की शिकायत मिली तो उन्होंने भी जनता के बीच ही फैसला ऑन स्पॉट सुना दिया. शिवराज ने तहसीलदार समेत तीन अधिकारियों को सस्पेंड करने का मंच से ही ऐलान कर दिया.

जानकारी के मुताबिक सीएम शिवराज निवाड़ी पहुंचने पर सबसे पहले रामराजा के दरबार पहुंचे और कोरोना महामारी से मुक्ति, लोगों की समृद्धि की कामना की. इसके जनता की समस्याएं सुनीं और भ्रष्टाचार की शिकायत पर नगर पंचायत जेरोन के सीएमओ रहे उमाशंकर मिश्र और अभिषेक राजपूत को सस्पेंड करने की घोषणा कर दी और साथ ही यह ऐलान भी किया कि इनके कार्यकाल के दौरान हुए कार्यों की जांच ईओडब्लू से कराई जाएगी.

भ्रष्टाचार के आरोपों पर सीएम शिवराज का एक्शन

सीएम की जनदर्शन यात्रा पृथ्वीपुर पहुंची तो वहां भी लोगों ने स्थानीय तहसीलदार अनिल तलैया पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगाए. मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार की शिकायतों पर मंच से ही तहसीलदार को सस्पेंड करने का भी आदेश दे दिया. शिवराज ने कहा कि उन्हें पता है कि पृथ्वीपुर नगर पंचायत में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास आवंटित करने में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है. उसकी भी उच्चस्तरीय जांच कराई जाएगी.

मुख्यमंत्री ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि गरीबों के हक पर डाका डालने वालों को किसी भी सूरत में नहीं बख्शेंगे. प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान निवाड़ी जिले के ओरछा से टीकमगढ़ जिले के मोहनगढ़ गांव पहुंचे जहां उन्होंने जनसभा को भी संबोधित किया और इसके बाद निवाड़ी जिले के पृथ्वीपुर के लिये रवाना हुए. सीएम शिवराज ने अपनी जन दर्शन यात्रा के दौरान निवाड़ी जिले को करोड़ों रुपये की योजनाओं की सौगात भी दी.

सीएम का खुले मंच से अधिकारियों के निलंबन का ये नया अंदाज जनता को पहली बार देखने को मिला. गौरतलब है कि पूर्व मंत्री बृजेन्द्र सिंह राठौर के निधन के बाद निवाड़ी जिले की पृथ्वीपुर विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव होना है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें