scorecardresearch
 

अल्पेश ठाकोर बोले- कांग्रेस में मैं किसी को भी दिला सकता था टिकट

एक चुनावी सभा के दौरान अल्पेश ठाकोर ने कहा कि कांग्रेस में जब वे थे तब जिसे चाहते थे, उसे किसी भी सीट से टिकट दिला सकते थे. उन्होंने यह भी कहा कि अल्पेश ठाकोर आपका मंत्री बनने के लिए तैयार है.

राधनपुर विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ रहे हैं अल्पेश ठाकोर (फाइल फोटो- फेसबुक) राधनपुर विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ रहे हैं अल्पेश ठाकोर (फाइल फोटो- फेसबुक)

  • चुनाव प्रचार में पेश कर रहे हैं मंत्रिपद की दावेदारी
  • कांग्रेस में टिकट बंटवारे पर निर्णय लेने का दावा

कांग्रेस से भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) में शामिल हुए अल्पेश ठाकोर ने एक बार फिर अपने कांग्रेस के दिनों को याद किया है. अल्पेश ठाकोर ने एक चुनावी सभा में कहा है कि जब वे कांग्रेस में थे तो जिसे चाहते थे, उसे टिकट दिला सकते थे. अल्पेश कांग्रेस के लिए बोल रहे थे लेकिन बीजेपी के नेताओं पर इसका असर देखने को मिल रहा था.

बीजेपी की रणनीति रही है कि सीट बंटवारे पर फैसला नेता नहीं, पार्टी करती है. अल्पेश ठाकोर को ऐसे वक्त में कांग्रेस में अपनी ताकत याद आ रही है, जब बीजेपी ने कांग्रेस से आए अल्पेश ठाकोर को राधनपुर इलाके से विधानसभा उपचुनाव का टिकट दिया है.

अलग हैं चुनावी मुद्दे

 अल्पेश ठाकोर का बड़बोलापन उन पर भारी पड़ सकता है. अल्पेश ठाकोर इसी सीट से 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में बतौर कांग्रेस प्रत्याशी चुनाव लड़े थे. बीजेपी से चुनाव लड़ रहे अल्पेश ठाकोर के लिए इस बार के चुनावी मुद्दे अलग हैं . इस बार की राजनीति भी उनके लिए अलग दिख रही है.

मंत्रि पद की दावेदारी

 एक चुनावी सभा के दौरान अल्पेश ठाकोर ने कहा कि कांग्रेस में जब वे थे तब जिसे चाहते थे, उसे किसी भी सीट से टिकट दिला सकते थे . यह बयान भी कुछ नहीं था कि अल्पेश ठाकोर एक और बयान दे बैठे. अल्पेश ठाकोर ने कहा कि अल्पेश ठाकोर आपका मंत्री बनने के लिए तैयार है.

पार्टी लाइन से अलग ठाकोर

चुनाव के नतीजों से पहले ही मंत्री बनने का ख्वाब अल्पेश ठाकोर पर भारी पड़ सकता है, क्योंकि बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व ही इस पर फैसला लेता है . हालांकि एक अन्य बयान में उन्होंने कहा कि उनके बयान का जो मतलब निकाला जा रहा है, दरअसल वह ठीक नहीं है. उन्होंने सिर्फ जनता के लिए यह बात कही है.

बीजेपी में शीर्ष नेतृत्व 'सब कुछ'

कांग्रेस पार्टी को व्यक्तिवादी बताने वाले अल्पेश ठाकोर की पहचान राज्य में इन दिनों दलबदलू नेता के तौर पर हो गई है. जानकारों का कहना है कि यह बीजेपी है, कांग्रेस नहीं कि यहां व्यक्ति खुद की कुर्सी तय कर सके.

बीजेपी में पदों का बंटवारा शीर्ष नेतृत्व करता आया है. चुनावों में कई बार अल्पेश ठाकोर मंत्री बनने की ख्वाहिश जनता से जाहिर कर चुके हैं. ये ख्वाहिश बीजेपी की विचारधारा के विपरीत है. ऐसे में पार्टी में अल्पेश ठाकोर के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें