scorecardresearch
 

रेतघड़ी

फोटोः ट्विटर

स्मृतिशेषः अंत में हिम्मत हारकर छोटे शहरों के सपनों को मायूस कर गए सुशांत सिंह राजपूत

14 जून 2020

मुश्किल से मुश्किल चोटी पर परचम लहरा देने वाले छोटे शहरों के प्रतिनिधियों में से एक सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी से ऐसे कम प्रतीकों में से चमकता चेहरा और कम हो गया है.

फोटो साभार-इंडिया टुडे

पृथ्वी दिवसः कोरोना संकट ने चेताया, धरती सिर्फ इंसानों की नहीं

22 अप्रैल 2020

एक गणना के मुताबिक, इस समय दुनिया में वजन किए जाने लायक जीवों की कुल संख्या का 90 फीसद हिस्सा या तो इंसान हैं या उसके पालतू पशु. धरती पर जिंदगी की शुरुआत हुए कोई 4 अरब साल हुए हैं. पर अभी तक भूवैज्ञानिक समय के इतिहास में कोई समय ऐसा नहीं रहा जब किसी नस्ल ने अपने दम पर पूरे विश्व की पारिस्थितिकी को बदलकर रख दिया हो.

फोटोः संतोष पाठक

कोरोना संकटः बज गए बारह बाट

20 अप्रैल 2020

कोरोना महामारी ने दुनियाभर के सामने जीवन और मरण का प्रश्न तो खड़ा किया ही है, साथ ही, दुनिया के अगले कई साल इसकी चोट से उबरने में लगेंगे. विकासशील देशों को इसका अधिक खामियाजा भुगतना होगा और संयुक्त राष्ट्र की संस्था, अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन का मानना है कि भारत में करीब 40 करोड़ लोगों पर गरीबी के जाल में फंसने का खतरा होगा

फोटोः वीडियो ग्रैब

स्मृतिशेषः दिल का दिया जला के गया, ये कौन मेरी तन्हाई में

26 मार्च 2020

आज की पीढ़ी शायद निम्मी को नहीं जानती होगी. पर बरसात जैसी फिल्म में तीन सुपर हिट गीत जिस अभिनेत्री पर फिल्माए गए हों और जिसने अपने दौर के सभी बड़े अभिनेताओं के साथ काम किया हो, उसको याद रखना जरूरी है. सहज और सरल अभिनय की मिसाल थीं निम्मी

फोटो सौजन्यः इंडिया टुडे

पिछले साल रहा मौसम बेहाल, अब खेती में राहत की उम्मीद

29 जनवरी 2020

2019 का साल अति प्राकृतिक घटनाओं का साल रहा. अतिवृष्टि, लू के थपेड़े और चक्रवातों के बाद बारी हिमपात और शीतलहर. पर अब सर्दियों में हुई ठीक-ठाक बारिश से इस बार रबी की फसल बढ़िया होने की उम्मीद जगी है. सरकार की कोशिश अब इसके जरिए मंदी से निपटने की होनी चाहिए

प्रतीकात्मक तस्वीर, सौजन्यः आजतक

कार्बन उत्सर्जन और पानी की कमी के बहाने ऊंटों को मारने का ऑस्ट्रेलियाई प्रपंच

09 जनवरी 2020

ऑस्ट्रेलिया ने तय किया है कि अगले पांच दिनों में दस हजार ऊंटों को गोली मार की खत्म कर दिया जाएगा. वजह इतनी है कि ऊंट पानी बहुत पीते हैं. ऑस्ट्रेलिया ऊंटों को मारने के पीछे अपना कार्बन फुटप्रिंट कम करने की वजह भी बता रहा है. पर क्या यह वाकई तार्किक है या बहाना है?

फोटो सौजन्यः इंडिया टुडे

खेतिहर मजदूरों की संख्या बढ़ी और उनकी आत्महत्या की गिनती भी

08 जनवरी 2020

देश में 86 लाख किसानों की संख्या कम हो गई और विरोधाभासी रूप से खेतिहर मजदूरों की संख्या बढ़ गई. साफ है कि किसान, मजदूर बन गए. इसके साथ यह आंकड़ा भी देखिए, जिसे एनसीआरबी ने लंबे अंतराल के बाद जारी किया है कि देश में किसानों की तुलना में खेतिहर मजदूर अधिक आत्महत्या करने लगे हैं

फोटोः इंडिया टुडे/ एपी

ऋषभ पंत के लिए साल का अंत भला तो सब भला

16 दिसंबर 2019

ऋषभ पंत एक संभावनाओं से भरे खिलाड़ी हैं, पर इस पूरे साल उनके पैर क्रीज पर कंक्रीट में जमे से लगे. आड़ा-तिरछा शॉट चयन और लापरवाही भरा रवैया उनके बल्ले पर जंग लगाता गया. पर अब वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में पचासा ठोंककर पंत की वापसी की उम्मीदें जागी हैं