scorecardresearch
 

Fatima Sheikh Birth Anniversary: जानिए कौन हैं फातिमा शेख, जिनके जन्मदिन पर Google ने बनाया Doodle

Google Doodle Today: फातिमा शेख (Fatima Sheikh) का जन्म 9 जनवरी, 1831 में पुणे में हुआ था. वह अपने भाई उस्मान के साथ रहती थी और निचले तबके के लोगों को शिक्षित करने के लिए काम किया. सर्च इंजन गूगल ने फातिमा शेख के जन्मदिन (Fatima Sheikh Birth Anniversary) पर खास डूडल बनाया है.

Muslim School Teacher Muslim School Teacher
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फातिमा शेख का जन्म पुणे में हुआ था
  • उन्हें पहली मुस्लिम महिला शिक्षक माना जाता है

Fatima Sheikh Birth Anniversary Today: सर्च इंजन गूगल ने आज यानी 9 जनवरी को खास डूडल बनाया है. Google ने पहली महिला शिक्षिका फातिमा शेख को उनके 191 जन्मदिन पर डूडल बनाकर याद किया है. फातिमा शेख को पहली मुस्लिम महिला शिक्षक माना जाता है, उन्होंने समाज सुधारक ज्योतिराव और सावित्रीबाई फुले के साथ काम किया.

फातिमा शेख ने 1948 में ज्योतिराव और सावित्रीबाई फुले के साथ मिलकर एक पुस्तकालय की स्थापना की थी. यह भारत में लड़कियों के लिए पहले स्कूलों में से एक था. स्वदेशी पुस्तकालय फातिमा और उस्मान के घर में खोला गया था.

फातिमा शेख का जन्म 9 जनवरी, 1831 में पुणे में हुआ था. वह अपने भाई उस्मान के साथ रहती थीं.फातिमा शेख ने निचले तबके के लोगों को शिक्षित करने के लिए काम किया. सावित्रीबाई फुले और फातिमा शेख जिन्हें धर्म, लिंग के आधार पर शिक्षा से वंचित रखने की कोशिश की गई उन्होंने दलित और मुस्लिम महिलाओं और बच्चों को पढ़ाया.

फातिमा शेख ने घर-घर जाकर मुस्लिम समुदाय और दलित समुदाय के लिए स्वदेशी पुस्तकालय में सीखने के लिए प्रोत्साहित किया. इस काम के लिए उन्हे कई बार भारी विरोध का सामना करना पड़ा, लेकिन शेख और उनके सहयोगी डटे रहे. फातिमा शेख ने शिक्षा के क्षेत्र में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×