scorecardresearch
 

पश्चिम बंगाल पुलिस भर्ती परीक्षा देने पहुंचे बिहार के डमी कैंडिडेट्स, 75000 रुपये का था कॉन्ट्रेक्ट, धरे गए

पश्चिम बंगाल कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा शुरू होने के कुछ ही मिनटों के अंदर इस परीक्षा केंद्र में दो परीक्षार्थीयो के बीच हंगामा शुरू हो गया. जिसके बाद जांच हुई तो 4 फर्जी कैंडिडेट्स एग्जाम सेंटर के अदंर से और 1 बाहर से पकड़ा गया. पकड़े गए सभी आरोपी पटना के बताए जा रहे हैं.

X
Dummy Candidates Arrested Dummy Candidates Arrested
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पैसा लेकर पटना से मंगाए गए थे फर्जी परीक्षार्थी
  • परीक्षा से पहले मिल चुके थे 5000 रुपये

पश्चिम बंगाल पुलिस भर्ती परीक्षा 2022 में फर्जी परीक्षार्थियों का मामला सामने आया है. सिलीगुड़ी मेट्रोपॉलिटन इलाके में 22 मई वेस्ट बंगाल पुलिस रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा कॉन्स्टेबल पद की लिखित परीक्षा आयोजित की गई थी. इस परीक्षा को लेकर मेट्रोपोलिटन में तमाम सरकारी स्कूलों में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के तहत परीक्षा शुरू हुई. इस परीक्षा के दौरान प्रधान नगर थाने की पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है. यहां पुलिस ने कॉन्स्टेबल परीक्षा में असल कैंडिडेट की जगह पर फर्जी तरीके से परीक्षा देने के लिए आए कई परीक्षार्थियों को धर दबोचा है.

दरअसल, पकड़े गए आरोपी फर्जी तरीके से पुलिस भर्ती परीक्षा देने पहुंचे थे लेकिन पुलिस की मुस्तैदी ने इनके मंसूबों पर पानी फेर दिया. 5 लोगों को डमी कैंडिडेट्स होने के आरोप में प्रधान नगर थाने की पुलिस ने सिलीगुड़ी देशबंधु हिंदी हाई स्कूल से गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तार आरोपियों के नाम प्राथमिक तौर पर पवन कुमार, संटू कुमार, नवीन कुमार, आशिफ कुमार और धर्मेंद्र कुमार बताए गए हैं.

क्लास में बैठे तो दूसरे छात्रों से हो गई बहस
पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, परीक्षा शुरू होने के कुछ ही मिनटों के अंदर इस परीक्षा केंद्र में दो परीक्षार्थीयो के बीच हंगामा शुरू हुआ. जिसके बाद प्राथमिक छानबीन के दौरान पता चला कि इस केंद्र में कुछ असल कैंडिडेट्स के नाम पर दूसरे लोग फर्जी तरीके से परीक्षा देने के लिए पहुंचे हुए हैं. बाद में प्रधान नगर थाना की पुलिस इस परीक्षा केन्द्र के सभी परीक्षार्थीयो की जांच की गई. इस दौरान परीक्षा केंद्र के अंदर से चार और केंद्र के बाहर से एक फर्जी परीक्षार्थी को गिरफ्तार किया गया.

75000 रुपये में पास करानी थी परीक्षा
पुलिस की प्राथमिक पूछताछ में सामने आया है कि जो 5 फर्जी परीक्षार्थी गिरफ्तार हुए हैं. वह सभी पटना से आए हुए थे. इन पांचों को मालदा से किसी एक व्यक्ति ने फोन पर बात करके बताया कि उन्हें असल कैंडिडेट्स की जगह पर कॉन्स्टेबल की लिखित परीक्षा देनी है. परीक्षा देने के लिए इन लोगों को 75,000 दिए जाने की बात हुई थी. परीक्षा देने से पहले पांच हजार और लिखित परीक्षा में पास हो जाने के बाद बाकी का बचा हुआ पैसा इन लोगों को दिया जाने वाला था. पैसे के लालच में ही यह पांचों इस केंद्र में परीक्षा देने के लिए पहुंचे हुए थे. 

पुलिस सूत्रों से यह भी जानकारी मिली है कि पुलिस रिक्रूटमेंट 2020 कॉन्स्टेबल पद की परीक्षा के लिए बीते दिन पटना से करीब 45 लोगों का एक दल पहुंचा था. अभी तक 5 लोगों के नाम सामने आए हैं. प्रधान नगर थाने की पुलिस इस पूरे मामले की जांच जारी है.

(कोलकाता से जॉयदीप बेग के इनपुट के साथ)

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें