scorecardresearch
 

दिल्ली सरकार ने बढ़ाई टेस्ट स्पीड, मई के महीने में डबल से अधिक हुए कोरोना के टेस्ट

दिल्ली में कोरोना टेस्ट की स्पीड काफी तेज हुई है. सरकार द्वारा जारी मई के आंकड़े बताते हैं कि 2 मई तक कोरोना के 58210 टेस्ट हुए, जबकि 14 मई तक दिल्ली में टेस्ट की संख्या 119736 तक पहुंच गई, जोकि 2 मई के मुकाबले डबल से अधिक है.

फाइल फोटो फाइल फोटो

  • मई में अब तक 4955 पॉजिटिव केस सामने आए
  • 2 मई से अभी तक दिल्ली में 119736 टेस्ट हुए हैं

दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या 8 हजार के पार पहुंच चुकी है. बीते 24 घंटे में 472 नए मामले सामने आए हैं, जो एक दिन में अब तक सबसे अधिक हैं. इतने मामले 24 घंटे में अब तक नहीं आए थे. ऐसे में दिल्ली के लिए मई कोरोना मामलों के लिहाज से सबसे अधिक उछाल वाला महीना साबित हो रहा है. हालांकि इस महीन में कोरोना टेस्ट की रफ्तार बढ़ी है.

दिल्ली सरकार की ओर से जारी किए गए आंकड़ों को जोड़ा जाए तो दिल्ली में महज मई में 4955 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के मुताबिक, दिल्ली में डबलिंग रेट 11 दिन है यानि दिल्ली में कोरोना के केस 11 दिन में डबल हो रहे हैं. अप्रैल के अंत तक डबलिंग रेट 13 दिन था.

एक से 14 मई के बीच आए मामले

1 मई- 223

2 मई- 384

3 मई- 427

4 मई- 349

5 मई- 206

6 मई- 428

7 मई- 448

8 मई- 338

9 मई- 224

10 मई- 381

11 मई- 310

12 मई- 406

13 मई- 359

14 मई- 472 (अब तक का सबसे अधिक आंकड़ा)

कोरोना टेस्ट की स्पीड में आई तेजी

दिल्ली में कोरोना टेस्ट की स्पीड काफी तेज हुई है. दिल्ली में सरकार द्वारा जारी मई महीने के आंकड़े बताते हैं कि 2 मई तक कोरोना के 58210 टेस्ट हुए, जबकि 14 मई 2020 तक दिल्ली में टेस्ट की संख्या 119736 तक पहुंच गई, जोकि 2 मई 2020 के मुकाबले डबल से अधिक है.

लॉकडाउन-4 में कितनी मिले ढील? 4.75 लाख दिल्लीवालों ने CM केजरीवाल को भेजे सुझाव

बता दें कि 7 मई 2020 को जारी एक आदेश में इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने दिल्ली में कोरोना टेस्ट के लिए प्राइवेट टेस्टिंग लैब की संख्या 8 से बढ़ाकर 13 कर दी थी. इसके बाद दिल्ली सरकार ने आदेश दिया था कि अगर सरकारी लैब की क्षमता से ज्यादा सैंपल टेस्ट कराने की स्थिति बनती है तो अस्पताल या अथॉरिटी अपने जिले के हिसाब से निर्धारित प्राइवेट लैब को सैंपल टेस्ट कराने भेजेंगे.

देरी से रिपोर्ट आने पर सरकार ने दिया था ये आदेश

फिलहाल दिल्ली सरकार ने हर जिले में एक प्राइवेट लैब को चुना है जहां पर सरकारी अस्पताल/सरकारी संस्थान द्वारा लिए गए सैंपल टेस्ट कराए जा रहे हैं. मई की शुरुआत में दिल्ली में देरी से टेस्ट की रिपोर्ट आने का मामला सामने आया था, जिससे काफी सवाल खड़े हुए थे. इसके बाद सरकार ने आदेश जारी किए थे कि सभी लैब को 24 घंटे के अंदर टेस्ट की रिपोर्ट जारी करना अनिवार्य होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें