scorecardresearch
 

स्वदेशी जागरण मंच ने नीति आयोग के CEO के बयान पर उठाए सवाल, जानें क्या है पूरा मामला

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के इकोनॉमिक विंग स्वदेशी जागरण मंच (SJM) ने नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत को फटकार लगाई है.

अमिताभ कांत को लगाई फटकार अमिताभ कांत को लगाई फटकार

  • आरएसएस के इकोनॉमिक विंग ने नीति आयोग के सीईओ पर साधा निशाना
  • नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने एमेजॉन से जुड़ी जानकारी दी थी

हाल ही में ई-कॉमर्स कंपनी एमेजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस का भारत दौरा काफी चर्चा में है. जेफ बेजोस के इस दौरे का देश के छोटे कारोबारियों ने विरोध किया तो वहीं सरकार की ओर से भी तीखे बयान आए. इस बीच, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ यानी आरएसएस के इकोनॉमिक विंग स्वदेशी जागरण मंच (SJM) ने नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत के बयान पर सवाल उठाए हैं.

क्‍या है मामला?

दरअसल, एमेजॉन के फाउंडर जेफ बेजोस ने भारत में 1 अरब डॉलर के निवेश का ऐलान किया है. नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने इसकी जानकारी देते हुए एक खबर को ट्विटर पर शेयर किया है. अमिताभ कांत के इसी ट्वीट पर स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय संयोजक अश्वनी महाजन ने सवाल उठाए हैं. अश्वनी महाजन ने अमिताभ कांत को टैग करते हुए ट्वीट किया, ‘ हम एमेजॉन को लेकर आपके प्‍यार से हैरान हैं. करोड़ों भारतीयों की भी चिंता कीजिए. एमेजॉन भारी छूट और नियमों की धज्जियां उड़ा रही है. इसके खिलाफ करोड़ों छोटे कारोबारी सड़कों पर हैं.’

एमेजॉन जैसे ई-कॉमर्स से FDI की जरूरत नहीं

वहीं इंडिया टुडे से बातचीत के दौरान अश्वनी महाजन ने कहा कि देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए एमेजॉन जैसे ई-कॉमर्स से खराब प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की जरूरत नहीं है. इससे देश के लाखों व्यापारियों को नुकसान पहुंच रहा है.

अश्वनी महाजन ने कहा, हमें भारत को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए एमेजॉन के एफडीआई की आवश्यकता नहीं है. अगर हमें यह हासिल करना है, तो यह हमारे व्यापार और अपनी क्षमता से ही होगा. ’ उन्होंने आरोप लगाया कि एमेजॉन जैसे ई-कॉमर्स दिग्गज एफडीआई मानदंडों का उल्लंघन करती हैं. अश्वनी महाजन के मुताबिक ये कंपनियां अच्छी विदेशी निवेशक नहीं हैं. इन कंपनियों ने बार-बार कानून को दरकिनार किया है.

5 साल में 10 लाख नौक‍रियां

बता दें कि एमेजॉन ने 1 अरब डॉलर के निवेश का ऐलान किया है. वहीं कंपनी ने भारत में 10 लाख नई नौकरियों की योजना के बारे में बताया है. एमेजॉन की ओर से जारी बयान के मुताबिक कंपनी भारत में प्रौद्योगिकी, बुनियादी ढांचे और लॉजिस्टिक नेटवर्क में निवेश करेगी. उसकी योजना इसके माध्यम से अगले 5 साल में 10 लाख नए रोजगार सृजित करने की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें