scorecardresearch
 

अमेरिका ने खाली किया अफगानिस्तान, 19 साल 10 महीने 10 दिन बाद देर रात उड़ा आखिरी विमान

रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिकी सेना के अंतिम तीन सी-17 विमानों ने देर रात काबुल के हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरी और इसके साथ ही अफगानिस्तान में अमेरिकी सैन्य अभियान का अंत हो गया.

अफगानिस्तान से लौटे सभी अमेरिकी सैनिक (AP फोटो) अफगानिस्तान से लौटे सभी अमेरिकी सैनिक (AP फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूएस आर्मी के अंतिम तीन C-17 विमान भी अफगानिस्तान से लौटे
  • 30 अगस्त की देर रात काबुल एयरपोर्ट से उड़े अमेरिकी सेना के विमान

अफगानिस्तान में अमेरिका की 19 साल से अधिक समय की मौजूदगी का अंत हो गया है. अमेरिकी सेना के अंतिम तीन विमानों ने भी सोमवार की देर रात काबुल एयरपोर्ट से उड़ान भरी. रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिकी सेना के अंतिम तीन सी-17 विमानों ने 30-31 अगस्त की आधी रात काबुल के हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरी और इसके साथ ही अफगानिस्तान में अमेरिकी सैन्य अभियान का अंत हो गया.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक न्यूजवीक के संपादक नावीद जमाली ने ट्वीट कर कहा कि युद्ध का अंत हो गया है, अंतिम विमान ने उड़ान भर ली है. वहीं, सीएनएन के रिपोर्टर ने कहा कि अमेरिका के अंतिम तीन सी-17 विमानों ने हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भर ली है. ये अफगानिस्तान में अमेरिका की मौजूदगी का अंत हो सकता है. वहीं, आरटी के मुराद गजदिएव ने ट्वीट कर कहा युद्ध का अंत हो गया है. अमेरिका के बचे सैनिक अभी काबुल एयरपोर्ट से निकले हैं.

मुराद ने साथ ही ये भी कहा है कि ये लड़ाई 19 साल 10 महीने और 25 दिन तक चली. अफगानी पत्रकार मासूम गजनवी ने काबुल एयरपोर्ट से निकलने की तैयारी करते अमेरिकी सैनिकों की फोटो पोस्ट कर इसे अपने देश पर कब्जे की अंतिम तस्वीर बताया.

काबुल से अमेरिकी सैनिकों के निकलने के बाद तालिबानियों ने हवा में गोलियां दाग कर जीत का जश्न भी मनाया. गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पहले सितंबर, फिर 31 अगस्त तक अपनी सेना अफगानिस्तान से वापस बुला लेने का ऐलान किया था.

पेंटागन ने की पुष्टि

पेंटागन ने अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान छोड़ने की पुष्टि की है. उम्मीद की जा रही थी अमेरिकी सेना अफगानिस्तान में फंसे लोगों को निकालने के लिए कुछ दिन और वहां रुक सकती है लेकिन ऐसा हुआ नहीं. तालिबान प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने भी अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान छोड़ने की पुष्टि करते हुए ट्वीट कर इसे अफगानिस्तान के लिए आजादी बताया है.

महिलाओं को यूनिवर्सिटी तक शिक्षा की छूट

तालिबान के कार्यवाहक शिक्षा मंत्री ने कहा है कि महिलाओं को यूनिवर्सिटी स्तर तक की शिक्षा ग्रहण करने की छूट होगी लेकिन पुरुषों के साथ उनकी क्लास का संचालन नहीं हो सकेगा.

अमेरिकी सेना की वापसी के ऐलान के बाद आक्रामक हुए तालिबान ने अफगानी फौज को शिकस्त देते हुए अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया था. अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी के लिए निर्धारित समय सीमा में अभी 24 घंटे बचे थे लेकिन अमेरिकी फौज ने पहले ही उड़ान भर ली.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें