scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

र‍िंद नदी पर गांव वालों ने खुद ही बना डाला पुल, बिजली के टूटे खम्भों का क‍िया इस्तेमाल

 र‍िंद नदी पर गांव वालों ने खुद ही बना डाला पुल, बिजली के टूटे खम्भों का क‍िया इस्तेमाल
  • 1/5

एकता में शक्ति जैसी बातें तो हमेशा से होती है लेकिन कानपुर के उदयापुर गांव के लोगों ने इस बात को सार्थक कर दिखाया है. जब लाखों बार गुहार लगाने के बाद उनकी नहीं सुनी गई तो ग्रामीणों ने एकता दिखाकर अपना काम सिद्ध कर दिखाया.
 

 र‍िंद नदी पर गांव वालों ने खुद ही बना डाला पुल, बिजली के टूटे खम्भों का क‍िया इस्तेमाल
  • 2/5

उदयापुर गांव कानपुर शहर से लगभग 50 किलोमीटर दूर है. इस गांव के बगल में रिन्द नदी बहती है. गांव वालों को दूसरे गांव जाने के लिए इस नदी को पार करना होता था लेकिन नदी पर पुल न होने के कारण बहुत दिक्कत आती थी या फिर गांव वालों को 15 किलोमीटर का फेरा लगा कर जाना होता था.

 र‍िंद नदी पर गांव वालों ने खुद ही बना डाला पुल, बिजली के टूटे खम्भों का क‍िया इस्तेमाल
  • 3/5

गांव वालों ने प्रशासन से लेकर जन प्रतिनिधियों के आगे-पीछे खूब चक्कर लगाए लेकिन उनकी परेशानी का हल किसी ने नहीं किया. आखिर में गांव वालों ने एकजुट होकर अपने जुगाड़ से नदी पर पुल बना डाला.

 र‍िंद नदी पर गांव वालों ने खुद ही बना डाला पुल, बिजली के टूटे खम्भों का क‍िया इस्तेमाल
  • 4/5

ये पुल 60-70 मीटर लम्बा है और डेढ़ मीटर चौड़ा जिस पर बाइक और गांव वाले आसानी से आ-जा सकते हैं. इस पुल को बनाने के लिए बिजली के टूटे खम्भों को ट्रैक्टर और हाइड्रा मशीन के सहारे नदी में गाड़ा. 
 

 र‍िंद नदी पर गांव वालों ने खुद ही बना डाला पुल, बिजली के टूटे खम्भों का क‍िया इस्तेमाल
  • 5/5

गांव के एक शख्स रामकिशन का कहना है कि बच्चों को स्कूल जाने में परेशानी होती थी. कभी-कभी बाइक पुल में फंस जाती थी. प्रशासन ने हमारी नहीं सुनी तो हम सभी गांव वालों ने मिलकर पुल बना दिया.