scorecardresearch
 

टेस्ट में एक्स्ट्रा रिव्यू: अनिल कुंबले ने बताया इस सुझाव के पीछे क्या है कारण

गेंद पर लार के इस्तेमाल पर रोक के सुझाव के अलावा कुंबले की अगुवाई वाली आईसीसी क्रिकेट समिति ने टेस्ट क्रिकेट में स्थानीय अंपायरों और अतिरिक्त रिव्यू का भी सुझाव दिया है.

ICC Cricket Committee chairman Anil Kumble (File Photo) ICC Cricket Committee chairman Anil Kumble (File Photo)

गेंद पर लार के इस्तेमाल पर रोक के सुझाव के अलावा अनिल कुंबले की अगुवाई वाली आईसीसी क्रिकेट समिति ने टेस्ट क्रिकेट में स्थानीय अंपायरों और अतिरिक्त रिव्यू का भी सुझाव दिया है. भारत के पूर्व कप्तान ने कहा कि स्थानीय अंपायरों का सुझाव इसलिए दिया गया, क्योंकि कोरोना महामारी के कारण यात्रा संबंधी पाबंदियां लागू रहेंगी.

आईसीसी क्रिकेट समिति के प्रमुख अनिल कुंबले ने कहा है कि स्थानीय अंपायरों की अनुभवहीनता के कारण उन्होंने टेस्ट में अतिरिक्त रिव्यू का सुझाव दिया है. कोरोना वायरस महामारी से उबरने के बाद क्रिकेट की बहाली होने पर संभवत: स्थानीय अंपायर ही टेस्ट मैचों में अंपायरिंग करेंगे.

ये भी पढ़ें ... T20 वर्ल्ड कप का 2022 तक टलना तय, कल ICC की बैठक में हो सकता है ऐलान

उन्होंने एक चैट में कहा, ‘इस समय क्रिकेट की बहाली जरूरी है. यात्रा संबंधी पाबंदियों के कारण क्वारनटीन के प्रावधान होंगे. पैनल में बहुत सारे एलीट अंपायर नहीं हैं, तो हमें लगा कि क्रिकेट फिर शुरू करने के लिए स्थानीय अंपायर ही बेहतर होंगे.’

कुंबले ने कहा, ‘बहुत देशों में स्थानीय अंपायरों के पास टेस्ट मैचों में अंपायरिंग का अनुभव नहीं है. यही वजह है कि हमने 20 साल पहले तटस्थ अंपायरिंग का चलन शुरू किया, ताकि पक्षपातरहित अंपायरिंग हो.’ उन्होंने कहा, ‘अतिरिक्त रिव्यू का सुझाव इसलिए दिया गया, ताकि अंपायरों की अनुभवहीनता से किसी एक टीम को फायदा नहीं हो.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें