scorecardresearch
 

राजतिलक

बिहार चुनाव: क्या जंगलराज के दाग से बच पाएंगे तेजस्वी?

08 नवंबर 2020

बिहार चुनाव में अब सियासत की तस्वीर बदलती नजर आ रही है. सत्ता की बागडोर अब नीतीश कुमार के हाथों से लेकर जनता ने तेजस्वी यादव को सौंपी है. इंडिया टुडे समेत कई एग्जिट पोल में यही तस्वीर साफ झलक रही है. तेजस्वी यादव पूरे चुनाव के दौरान एनडीए के निशाने पर रहे. जंगलराज, 10 लाख रोजगार कहां से लाएंगे, अपराध को लेकर तेजस्वी यादव घिरे रहे. तमाम आरोपों के बीच सर्वे में तेजस्वी यादव की महागठबंधन सरकार पूर्ण बहुमत से आ रही है. एनडीए 100 से भी कम सीटों पर सिमट रही है. ऐसे में महागठबंधन के नेता अलग जोश में नजर आ रहे हैं. तेजस्वी ने लेकिन साफ कर दिया है कि जश्न शालीनता से मनाई जाए. सवाल कई हैं, क्या तेजस्वी रोजगार दे पाएंगे? क्या जंगलराज के अतीत से वे उबर पाएंगे? देखें सबसे बड़ी राजनीतिक चर्चा, अंजना ओम कश्यप और रोहित सरदाना के साथ.

बिहार में इस बार NDA या महागठबंधन, किसका होगा राजतिलक?

07 नवंबर 2020

Bihar Exit Poll:बिहार में मतदान लगभग खत्म हो चुका है. अब नजर 10 नवंबर को मतगणना पर है. तमाम दलों के नेताओं का दावा है कि उनकी पार्टी चुनाव जीत रही है. दिग्गजों का दावा है कि तीसरे चरण के मतदान में साफ हो चुका है कि किस पार्टी की सरकार बनने जा रही है. नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव, चिराग पासवान और पुष्पम प्रिया चौधरी का दावा है कि उनकी सरकार बनने जा रही है. लेकिन आज तक अपने एग्जिट पोल में ये साफ इशारा कर रहा है कि किसकी सरकार बनने जा रही है. India Today-Axis My India के एग्जिट पोल का सर्वे सबसे सटीक होता है, ऐसे में बिहार में किसकी सरकार बनने जा रही है, ये तस्वीर साफ होने वाली है. कौन से मुद्दे हावी रहे, कौन सबसे ज्यादा पसंदीदा चेहरा रहा, मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार कौन सबसे बेहतर है, देखिए जनता ने क्या किया फैसला, सिर्फ आज तक पर, चित्रा त्रिपाठी, अंजना ओम कश्यप और रोहित सरदाना के साथ.

किसका होगा राजतिलक: वैशाली में इस बार किसमें कितना दम?

30 अक्टूबर 2020

बिहार चुनाव अब निर्णायक मोड़ पर पहुंच चुका है. बिहार का वैशाली भी राज्य की सियासत में बड़ी भूमिका निभाता है. वैशाली विधानसभा सीट पर जनता दल यूनाइटेड का एकतरफा राज रहा है. 2000 से सिर्फ जेडीयू हीं इस पार्टी से जीत रही है. वैशाली विधानसभा सीट पर जेडीयू से सिद्धार्थ पटेल, कांग्रेस से संजीव सिंह और एलजेपी से अजय कुमार कुशवाहा मुख्य उम्मीदवार है. वैशाली सीट पर दूसरे चरण में मतदान होगा. वैशाली में कुल 3.11 लाख वोटर हैं. देखें वीडियो.

किसका होगा राजतिलक: छपरा में इस बार किसमें कितना दम?

29 अक्टूबर 2020

बिहार चुनाव अब निर्णायक मोड़ पर पहुंच चुका है. बिहार का छपरा भी राज्य की सियासत में बड़ी भूमिका निभाता है. छपरा विधानसभा सीट पर 16 प्रत्याशी खड़े हुए हैं. सारण जिले के 10 सीटों के लिए मतदान 3 नवंबर को है. छपरा में जलजमाव, जल निकासी, बिजली कटौती मुख्य समस्या है. 2015 के चुनाव में सारण की 10 सीटों में से 6 पर आरजेडी का कब्जा था. सारण जिले की जन्संख्या 39.52 लाख, साक्षरता 65.96%. बिहार चुनाव में छपरा के लोग क्या सोच रहे हैं, इसकी भी आज तक ने पड़ताल की. देखिए राजतिलक, अंजना ओम कश्यप के साथ.

राजतिलक: बिहार के 8 मंत्रियों की किस्मत EVM में बंद!

28 अक्टूबर 2020

बिहार में पहले दौर का मतदान 71 सीटों पर हो गया है. एक तरफ जनता पहले चरण के लिए वोटिंग कर रही थी, वहीं दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दूसरे नेता दूसरे चरण के चुनाव प्रचार के लिए लगे थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज विपक्ष पर ट्रिपल अटैक किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले दरभंगा, मुजफ्फरपुर और पटना की रैलियों में विपक्ष पर जमकर हमला बोला. उन्होंने बिना तेजस्वी यादव का नाम लिए हुए आरजेडी के शासन काल पर निशाना साधा और कहा कि वे जंगल राज के युवराज हैं. दूसरी तरफ तेजस्वी यादव मुंगेर की घटना को लेकर निशाना साध रहे हैं. वहीं राहुल गांधी अपनी रैलियों में रोजगार और पकौड़े की बात उठा रहे हैं. देखिए राजतिलक, अंजना ओम कश्यप के साथ.

बिहार में अबकी बार, किसकी बनेगी सरकार?

28 अक्टूबर 2020

बिहार विधानसभा चुनाव में आज पहले दौर का मतदान चल रहा है. शाम 6 बजे तक वोटिंग का वक्त है यानी अगले 2 घंटे तक मतदान और चलेगा. इस वक्त मतदादा 71 सीटों के लिए वोट डाल रहे हैं. जिन बड़ी सीटों पर इस वक्त वोटिंग हो रही है वो हैं भागलपुर,बक्सर, भोजपुर, मुंगेर, जहानाबाद, गया और लखीसराय है. पटना की रैली में पीएम मोदी ने ना सिर्फ आरजेडी के पुराना शासन से जनता को सावधान किया बल्कि तेजस्वी का बिना नाम लिए अनुभवहीन बताया. पटना की रैली के बारे में पहुंची अंजना ओम कश्यप, देखिए खास कार्यक्रम, सईद अंसारी के साथ.

बिहार में 71 सीटों पर मतदान, मचा चुनावी घमासान!

28 अक्टूबर 2020

बिहार में 16 जिलों की 71 सीटों पर वोटिंग चल रही है. दोपहर एक बजे तक कुल 32.70 फीसदी लोगों ने मतदान कर लिया था. लगातार बड़ी तादाद में मतदाता अपने घरों से निकल रहे हैं. कोरोना काल में पहली बार वोटिंग हो रही है. बड़ी तादाद में लोग पहुंच रहे हैं, ऐसे में प्रशासन और चुनाव आयोग ने ऐसी व्यवस्था की है जिससे लोग सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के तहत वोट डाल सकें. इस चुनाव में कोविड पॉजिटिव मरीज भी वोट डालने जा सकते हैं. उनके लिए अलग व्यवस्था की गई है. वहीं पीएम मोदी अपनी चुनावी रैली में महागठबंधन पर निशाना साधा और जंगलराज को लेकर भी तंज कसा. देखिए राजतिलक, रोहित सरदाना के साथ.

राजतिलक: मुजफ्फरपुर वालों के लिए क्या है चुनावी मुद्दा?

27 अक्टूबर 2020

बिहार चुनाव अब निर्णायक मोड़ पर पहुंच चुका है. बिहार का मुजफ्फरपुर भी राज्य की सियासत में बड़ी भूमिका निभाता है. इस जगह को लीची लैंड के नाम से भी जाना जाता है. जितनी मिठास यहां की लीची में, उतनी ही मिठास, यहां की बोली में है. एलएस कॉलेज में आज तक की टीम पहुंची है. देश के पहले राष्ट्रपति डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद यहां शिक्षक थे. रामधारी सिंह दिनकर ने यहां बच्चों को पढ़ाया था. ऐसे में यह जानना जरूरी हो जाता है कि मुजफ्फरपुर के लोग विधानसभा चुनाव में किसके साथ खड़े हैं. क्या उन्हें तेजस्वी यादव का महागठबंधन पसंद है, या नीतीश कुमार का एनडीए. किसके साथ जुड़ी हैं मुजफ्फरपुर की भावनाएं. बिहार चुनाव में मुजफ्फरपुर के लोग क्या सोच रहे हैं, इसकी भी आज तक ने पड़ताल की. देखिए राजतिलक, अंजना ओम कश्यप के साथ.

किसके हाथों में होगी बिहार की कमान? देखें राजतिलक

26 अक्टूबर 2020

बिहार चुनाव 2020 में आज का दिन बेहद अहम है. पहले चरण के चुनाव प्रचार का रथ थम गया है. तमाम राजनीतिक दलों ने पूरे दम-खम के साथ चुनाव प्रचार किया. देखने वाली बात यह है कि किसके कौन से वादे जनता को लुभाते हैं. क्या तेजस्वी यादव का 10 लाख सरकारी नौकरियों के वादे का फॉर्मूला हिट होता है, या एनडीए के 19 लाख का फॉर्मूला. आज तक ने पटना की जनता से भी सवाल किया कि राजधानी के वोटरों का मिजाज क्या है? किसे जनता सत्ता में लाना चाह रही है या किसे सत्ता के शिखर के बेदखल करने का मूड जनता बना चुकी है. देखने वाली बात यह है कि चिराग पासवान शराब बंदी का मुद्दा उठा रहे हैं, तेजस्वी यादव रोजगार और भ्रष्टाचार का, तो वहीं नीतीश कुमार भी विपक्ष पर हमलावर हैं. ऐसे देखने वाली बात यह है कि जनता किसका राजतिलक करना चाहती है, देखिए खास कार्यक्रम, राजतिलक, अंजना ओम कश्यप के साथ.

संघर्ष से सियासत तक कैसे पहुंचे जेपी नड्डा? देखें इंटरव्यू

24 अक्टूबर 2020

बिहार चुनाव में मुकाबला अब कांटे का है. महागठबंधन बनाम एनडीए की लड़ाई अब बेहद दिलचस्प मोड़ पर पहुंच रही है. 28 अक्टूबर को पहले फेज की वोटिंग से पहले चुनाव रोजगार पर अटक गया है. दोनों पक्ष से वादे किए जा रहे हैं. आरजेडी का वादा है कि 10 लाख नौकरियां सत्ता में आते ही दी जाएंगी, वहीं बीजेपी ने अब 19 लाख रोजगार देने का वादा कर दिया. दोनों पक्षों का दावा है कि दूसरा दल सियासत कर रहा है. बेरोजगारी, लॉ एंड ऑर्डर और बिहार के विकास पर आज तक के साथ बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बिहार चुनाव पर आज तक के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत की. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपने स्कूल के दिनों को याद किया. उन्होंने अपनी पढ़ाई-लिखाई के दिनों को याद करते हुए जेपी नड्डा का भी जिक्र किया. जेपी नड्डा ने चिराग पासवान पर भी बोले. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में एलजेपी से उनका संबंध नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर चुनाव जीते तो एनडीए की ओर सीएम नीतीश कुमार ही होंगे. हालांकि चिराग पासवान पर उन्होंने खुलकर नहीं कहा. उन्होंने कहा कि सीधी लड़ाई तेजस्वी यादव और महागठबंधन से है. देखिए उनका पूरा इंटरव्यू, आज तक पर.

किसका होगा राजतिलक: जमुई की जनता को किस पर भरोसा?

23 अक्टूबर 2020

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए कुछ दिनों में मतदान होने वाले हैं. पार्टियां ताड़तोड़ रैलियां कर रही हैं और वादें कर रही हैं. सभी पार्टियों के लिए जमुई विधानसभा सीट चुनौतीपूर्ण होगा. 2015 में राष्ट्रीय जनता दल के नेता विजय प्रकाश ने जमुई सीट से जीत हासिल की थी. इस बार भाजपा की ओर से प्रत्यासी हैं श्रेयसी सिंह. वीडियो में देखें जमुई में किसके वादों पर जनता करेगी भरोसा.