scorecardresearch
 

Viral Jokes: जब सुरेश ने फोन पर बोला- हैलो जान कैसी हो? मिला ऐसा जवाब कि रह गया हैरान

Latest Funny Viral Jokes: व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए हंसना-मुस्कुराना बेहद जरूरी है. कहते हैं जब वक़्त बुरा हो तो हंसकर निकालना चाहिए. ऐसे में हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ मज़ेदार चुटकुले....

Funny hindi jokes Funny hindi jokes

Funny Jokes and Chutkule in Hindi: कहते हैं हंसने से कई बीमारियां दूर हो जाती हैं. व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए खुश रहना बेहद जरूरी है. ऐसे में हंसना और मुस्कुराना काफी अहम होता है. इसीलिए हम आपके लिए लेकर आये हैं कुछ ऐसे मज़ेदार चुटकुले जिन्हें पढ़कर आप हंसते-हंसते लोटपोट हो जाएंगे. 

> सुरेश  - हैलो जान कैसी हो, "I Miss you so much" 
महिला- तू चिंटू बोल रहा है न?
सुरेश  - अरे वाह, मेरी आवाज़ से ही पहचान लिया...
महिला- तेरे पापा का नाम हीरालाल ही है न
सुरेश - चौंककर हां, बिलकुल सही
महिला- और तेरे दादा का नाम बनवारीलाल है?
सुरेश - अरे लगता है तू मेरी दीवानी हो गयी है, मेरी पूरी डिटेल रखने लगी है तू
महिला- अबे गधे मैं तेरी मां बोल रही हूं, 
सुरेश  - मजाक क्यों कर रही हो पम्मी
उधर से आवाज आती है अरे बेवकूफ तूने पम्मी की जगह गलती से मम्मी का नंबर लगा दिया है, तू घर आ फिर बताती हुं तुझे...

> यमराज- हे प्राणी, तुम कहां जाना चाहते हो? स्वर्ग या नर्क 
आदमी- हे प्रभु!  पृथ्वी से मेरा मोबाइल चार्जर मंगवा दो, मैं तो कहीं भी रह लूंगा

ऐसे ही मजेदार जोक्स पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 


> हरीश- मुझे अपनी गर्लफ्रेंड को कोई गिफ्ट देना है, क्या दूं
सतीश - ऐसा कर गोल्ड रिंग दे दे.
 हरीश   कोई बड़ी चीज बता... 
सतीश - एमआरएफ का टायर दे दे.

> टीचर - चल बता...4 और 4 कितने होते हैं? 
मोनू- 10 होते हैं.
टीचर- 8 होते हैं... नालायक 
मोनू- हम दिलदार घर से हैं....2 मैंने अपने खुद के भी डाले हैं.

>डॉक्टर- कैसे हो? 
शराब पीना बंद किया या फिर नहीं?
मरीज- जी डॉक्टर साहब, बिल्कुल छोड़ दिया है. बस कोई ज्यादा रिक्वेस्ट करता है तो पी लेता हूं.
डॉक्टर - बहुत बढ़िया... और यह तुम्हारे साथ कौन भाई साहब हैं?
मरीज- जी इनको रिक्वेस्ट करने के लिए रखा हुआ है.

(डिस्क्लेमरः इस सेक्शन के लिए चुटकुले वॉट्सऐप व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर शेयर हो रहे पॉपुलर कंटेंट से लिए गए हैं. इनका मकसद सिर्फ लोगों को थोड़ा... गुदगुदाना है. किसी जाति, धर्म, मत, नस्ल, रंग या लिंग के आधार पर किसी का उपहास उड़ाना, उसे नीचा दिखाना या उसपर टीका-टिप्पणी करना हमारा उद्देश्य बिल्‍कुल भी नहीं है)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×