scorecardresearch
 

रिलायंस की राह पर एयरटेल, डेटा सेंटर में 25 फीसदी हिस्सा अमेरिकी ग्रुप को बेचेगी

भारती एयरटेल की सब्सिडियरी नेक्सट्रा डेटा में अमेरिकी निवेश ग्रुप कार्लाइल (Carlyle) 25 फीसदी हिस्सेदारी लेगा. इस पूंजी का इस्तेमाल Nxtra देश भर में अपने इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने के लिए करेगी.

अपने डेटा सेंटर की 25 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी एयरटेल अपने डेटा सेंटर की 25 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी एयरटेल

  • भारती एयरटेल अपने डेटा सेंटर का 25% हिस्सा बेचेगी
  • इस बिक्री से समूह को करीब 1,780 रुपये हासिल होंगे

रिलायंस जियो की तरह अब टेलीकॉम दिग्गज भारती एयरटेल ने भी पूंजी जुटाने के लिए हिस्सेदारी बेचने का रास्ता अपनाया है. भारती एयरटेल की सब्सिडियरी 'नेक्सट्रा डेटा' (Nxtra) में अमेरिकी निवेश ग्रुप कार्लाइल (Carlyle) 25 फीसदी हिस्सेदारी लेगा. इससे एयरटेल को करीब 1,780 करोड़ रुपये हासिल होंगे.

इस कारोबार में बाकी 75 फीसदी हिस्सेदारी एयरटेल के पास बनी रहेगी. इस पूंजी का इस्तेमाल Nxtra देश भर में अपने इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने के लिए करेगी. इस डील से कंपनी का एंटरप्राइज वैल्यू करीब 9,084 करोड़ रुपये का हो जाता है.

इसे भी पढ़ें: रिलायंस ग्रुप की जियो प्लेटफॉर्म्स बनी वैल्यू के हिसाब से देश की 5वीं सबसे बड़ी कंपनी

क्या कहा भारती एयरटेल ने?

भारती एयरटेल ने एक बयान में कहा है कि नेक्स्ट्रा डेटा में कम्फर्ट इन्वेस्टमेंट 235 मिलियन डॉलर का निवेश करेगा. कम्फर्ट इन्वेस्टमेंट कार्लाइल ग्रुप द्वारा मैनेज किए जाने वाले फंड कैप वी मॉरीशस से जुड़ा है.

इसके पहले रिलायंस समूह की जियो प्लेटफॉर्म्स ने करीब एक दर्जन कंपनियों को हिस्सेदारी बेचकर करीब 1.15 लाख करोड़ रुपये की पूंजी जुटाई थी. रिलायंस ने इस तरह कर्ज बोझ से पार पा लिया है. कंपनी पर 31 मार्च, 2020 तक 1,61,035 करोड़ रुपये का कर्ज था जिससे वह आसानी से मुक्त हो गई.

इसे भी पढ़ें: TikTok जैसे बैन चीनी ऐप्स को भारी नुकसान, भारत में करोड़ों डाउनलोड, अरबों की कमाई

अभी ये है पेच

अभी इस डील को कॉम्पिटीशन कमीशन ऑफ इंडिया (CCI) से भी मंजूरी मिलने का इंतजार है. नेक्स्ट्रा का मुख्यालय नई दिल्ली में है. यह बड़ी-बड़ी भारतीय और ग्लोबल एंटरप्राइजेज, स्टार्टअप आदि को अपनी सेवाएं मुहैया कराती है. नेक्स्ट्रा के देश भर में 10 बड़े डेटा सेंटर हैं.

अच्छी कारोबारी संभावना

गौरतलब है कि भारत में आगे चलकर डेटा सेंटर की मांग काफी बढ़ने वाली है, क्योंकि देश में डिजिटल सेवाएं काफी बढ़ रही हैं और सरकार डेटा के लोकलाइजेशन पर जोर दे रही है. इसका फायदा उठाने के लिए Nxtra देश में बड़े-बड़े डेटा सेंटर बना रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें