scorecardresearch
 

कोरोना के बीच गुजरात में हिका चक्रवात का खतरा, समुद्री किनारों पर अलर्ट जारी

फिलहाल अरब सागर के डीप डिप्रेशन के चलते गुजरात के समुद्री किनारे पर एक नंबर का सिग्नल जारी किया गया है, साथ ही मछुआरों को समुद्र में ना जाने के लिए कहा गया है. पहले ये चक्रवात ओमान की ओर आगे बढ़ रहा था, लेकिन अब गुजरात की ओर आगे बढ़ रहा है.

मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह (प्रतीकात्मक फोटो) मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह (प्रतीकात्मक फोटो)

  • 4-5 जून को गुजरात पहुंच सकता है हिका चक्रवात
  • अरब सागर के डीप डिप्रेशन के चलते बढ़ा खतरा

कोरोना महामारी के बीच, अब गुजरात के समुद्रतट पर चक्रवात का खतरा मंडरा रहा है. मौसम जानकारों का कहना है कि गुजरात के समुद्री तट पर हिका नाम का चक्रवात तबाही मचा सकता है. मौसम विभाग के मुताबिक हिका नाम का चक्रवात 4 से 5 जून के बीच में गुजरात के द्वारका ओखा और मोरबी से टकराता हुआ कच्छ की ओर जा सकता है. इस चक्रवात की वजह से कच्छ के कंडला और आसपास के इलाके में भी भारी नुकसान हो सकता है.

फिलहाल अरब सागर के डीप डिप्रेशन के चलते गुजरात के समुद्री किनारे पर एक नंबर का सिग्नल जारी किया गया है, साथ ही मछुआरों को समुद्र में ना जाने के लिए कहा गया है. पहले ये चक्रवात ओमान की ओर आगे बढ़ रहा था, लेकिन अब गुजरात की ओर आगे बढ़ रहा है. फिलहाल माना जा रहा है कि ये चक्रवात जिस वक्त जमीन से टकराएगा हवा की गति 120 किमी रहेगी. साथ ही तेज हवा भी चलेगी.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

इससे पहले सौराष्ट्र के समुद्री तट पर वायु चक्रवात का खतरा मंडराया था, लेकिन ये चक्रवात वेरावल के पास से गुजर गया और समुद्र में ही खत्म हो गया. हालांकि पास से गुजरने के बावजूद तेज हवा की वजह से समुद्र किनारे वाले शहर में भारी नुकसान हुआ था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें