scorecardresearch
 

कोरोना: बिहार में लग सकता है 15 मई तक लॉकडाउन, क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक आज

कहा जा रहा है कि बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन लगाने का फैसला इस बैठक में लिया जा सकता है. बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सख्त कदम उठाने की जरूरत भी है. ऐसे में सरकार संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए यह फैसला ले सकती है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. (फाइल फोटो) बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पटना हाईकोर्ट ने मांगा था नीतीश सरकार से जवाब
  • बिहार में लग सकता है 15 मई तक लॉकडाउन
  • बिहार में कोरोना से बिगड़ रहे हालात

बिहार में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. कोरोना पर काबू पाने के लिए सरकार योजनाएं भी बना रही है. आज सुबह 11:30 बजे सूबे में क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक होगी. कहा जा रहा है कि बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन लगाने का फैसला इस बैठक में लिया जा सकता है. बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सख्त कदम उठाने की जरूरत भी है. ऐसे में सरकार संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए यह फैसला ले सकती है.

गौरतलब कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पदाधिकारियों को दिए गए निर्देश के बाद मंगलवार को आपदा प्रबंधन समूह की बैठक का फैसला लिया गया है. संभव है कि आज (मंगलवार) को होने वाली बैठक में कई अहम निर्णय लिये जाएं. संक्रमण की रोकथाम के लिए कई नए आदेश जारी किए जा सकते हैं.

कोर्ट ने जताई थी नाराजगी

बिहार में कोरोना संक्रमण के चलते बिगड़ते हालात पर पटना हाईकोर्ट ने भी नाराजगी जाहिर की थी. कोर्ट ने नीतीश सरकार से पूछा था कि बिहार में लॉकडाउन लगाने की क्या तैयारी है. इस मामले में कोर्ट ने सरकार से मंगलवार को जवाब देने के कहा है. न्यायमूर्ति चक्रधारी शरण सिंह और न्यायमूर्ति मोहित कुमार शाह की खंडपीठ ने सुनवाई करते हुए सरकार के सिस्टम को फ्लॉप बताया था.

बता दें कि सोमवार को बिहार में कोरोना के 11407 नए मामले सामने आए थे. इसके अलावा सूबे में कोरोना के चलते 24 घंटे में 82 मरीजों की मौत भी हुई थी. सूबे में कुल 72658 सैम्पल की जांच हुई है. यह अबतक कुल 3,98,558 मरीज ठीक हुए हैं. बिहार में फिलहाल कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 107667 है. बिहार में कोरोना मरीजों का रिकवरी प्रतिशत 78.29 है. बीते 24 घंटे में  82 मौतों के बाद अबतक कोरोना से राज्य में मौतों की संख्या 2821 हो गई है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें