scorecardresearch
 

नर्क का द्वार

नर्क का द्वार

नर्क का द्वार

नर्क का द्वार

दरवाजा गैस क्रेटर (Darvaza Gas Crater), जिसे डोर टू हेल (Door To Hell) या गेट्स ऑफ हेल (Gateway To Hell) के नाम से भी जाना जाता है यह एक प्राकृतिक गैस क्षेत्र है जो तुर्कमेनिस्तान (Turkmenistan) के दरवाजा गांव (Darvaza Village) के पास एक गुफा के पास है. यह गड्ढा कैसे प्रज्वलित हुआ, इसका सटीक रिकॉर्ड नहीं मिला है, और कुछ तथ्य विवादित हैं. अधिक लोकप्रिय सिद्धांतों में से एक यह है कि सोवियत भूवैज्ञानिकों ने जानबूझकर इसे 1971 में मीथेन गैस के प्रसार को रोकने के लिए आग लगा दी थी, और ऐसा माना जाता है कि यह तब से लगातार जल रहा है. गैस क्रेटर लगभग 229 फीट चौड़ा और 66 फीट गहरा है (History). 

दरवाजा गांव के पास गैस का गड्ढा है, जिसे डरवेज के नाम से भी जाना जाता है. यह तुर्कमेनिस्तान की राजधानी अश्गाबात (Ashgabat Capital Of Turkmenistan)से लगभग 260 किलोमीटर... और पढ़ें

नर्क का द्वार न्यूज़