scorecardresearch
 

शादी से पहले लड़के को बताया सरकारी अधिकारी, निकला बेरोजगार, मायके लौटी लड़की ने दर्ज कराया केस

UP News: महिला ने पुलिस को दिए शिकायती पत्र में बताया कि उसकी शादी 2017 में पूरे रीति रिवाजों से मध्यप्रदेश के ग्वालियर में हुई थी. रिश्ता तय करते समय लड़के के पिता ने अपने बेटे को फूड सिक्योरिटी ऑफिसर बताया था. शादी में 25 लाख रुपये दहेज भी लिया गया था. लेकिन बाद में लड़की को पता चला कि उसका पति तो बेरोजगार है. पुलिस ने इस मामले में धोखाधड़ी, दहेज उत्पीड़न समेत गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया है.

X
शादी में धोखाधड़ी का केस. (फाइल) शादी में धोखाधड़ी का केस. (फाइल)

उत्तर प्रदेश के बांदा में एक महिला और उसके परिवार से धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है. आरोप है कि ससुरालवालों ने अपने बेटे को सरकारी अधिकारी बताकर लड़की पक्ष को धोखे में रखा और यह विवाह संबंध कर लिया. लड़केवालों ने शादी में 25 लाख रुपये का दहेज भी ले लिया. महिला शादी के बाद जैसे-तैसे वह ससुराल में रहने लगी तो उसके साथ मारपीट की जाने लगी और फिर 10 लाख रुपये की डिमांड की जाने लगी. अब पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने धोखाधड़ी, दहेज उत्पीड़न समेत गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया है. 

कोतवाली थाना इलाके में रहने वाली एक महिला ने पुलिस अधीक्षक (SP) से शिकायत को यह शिकायती आवेदन दिया. जिसमें बताया गया कि उसकी शादी 2017 में हिंदू रीति-रिवाज से मध्यप्रदेश के ग्वालियर में हुई थी. शादी से पहले महिला के पति को एफसीआई डिपार्टमेंट में खाद्य सुरक्षा अधिकारी के पद पर कार्यरत बताया गया था. इसके अलावा ससुर ने उस कार्यलय का आईडी कार्ड भी दिखाया था. रिश्ता तय होने के बाद  महिला के पिता ने 10 लाख रुपये नगद, 20 तोले के जेवरात और एक i20 कार समेत अन्य गृहस्थी का सामान दहेज स्वरूप दिया था.

इसके बाद जब महिला ससुराल पहुंची तो उसको पता चला कि पति किसी पद पर कार्यरत नहीं है. यह सब पति और ससुर ने कूटरचित ID कार्ड तैयार कर धोखाधड़ी करते हुए शादी की है. जिस पर महिला ने अपने परिजनों को जानकारी दी. 

परिजन अपने रिश्तेदारों को लेकर वहां पहुचे तो पति और ससुर लड़ाई झगड़े पर उतारू हो गए और कहा कि लड़की को खुशहाल देखना चाहते हो तो 10 लाख रुपये और दहेज के रूप में और दो. जिस पर महिला के परिजनों ने मना कर दिया और कहा कि 25 लाख रुपये पहले ही शादी पर खर्च कर चुके हैं. कई बार समझाने पर कुछ दिन के लिए मान गए और महिला जब दोबारा ससुराल गई तो दहेज के रूप में फिर 10 लाख की मांग करने लगे. 

महिला के विरोध करने पर मारपीट और प्रताड़ित करने लगे. पति रोजाना शराब के नशे में बुरी तरह मारपीट करने लगा. पिटाई से पीड़िता बेहोश हो जाती थी. परिजन उसका मोबाइल भी छीन लेते थे. दहेज न देने पर मार डालने और दूसरी शादी करने की धमकी देते थे. जिससे परेशान होकर महिला अपनी बेटी के साथ मायके लौट आई और ससुरालवालों के खिलाफ एसपी ऑफिस में शिकायती आवेदन दिया.

एसपी अभिनन्दन ने इस मामले में सीओ सिटी को जांच के कार्यवाही करने का निर्देश दिया. जांच के बाद महिला थाना बांदा में 4 अगस्त को 419, 420, 498A सहित गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है.  

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें