scorecardresearch
 

Ola Scooter से चीन की सीमा तक जाएंगे सेना के जवान, तय करेंगे इतना लंबा सफर

भारतीय सेना के जवान अब ओला इलेक्ट्रिक स्कूटर से एक लंबे सफर पर निकल चुके हैं. 12 जवानों का ये दल 8 जून तक भारत-चीन की सीमा पर शिपकी ला में अपनी इस यात्रा को समाप्त करेगा.

X
ओला स्कूटर से यात्रा पर जाते जवान (Photo : Twitter) ओला स्कूटर से यात्रा पर जाते जवान (Photo : Twitter)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कैप्टन वी. राना के हाथ में होगी कमान
  • शिपकी ला पर खत्म होगी ये रैली

ओला इलेक्ट्रिक (Ola Electric) ने भारतीय सेना (Indian Army) के साथ मिलकर एक इलेक्ट्रिक स्कूटर  रैली (Ola Elctric Scooter Rally) की शुरुआत की है. 5 दिन की ये यात्रा हिमाचल प्रदेश के कसौली से शुरू हुई है. सूर्य कमांड के 12 जवान इस रैली में कसौली से करचम, रोपा होते हुए  8 जून को भारत-चीन सीमा (India-China Border) पर स्थिति शिपकी-ला (Shipki-La) पहुंचने वाले हैं. शिपकी-ला समुद्र तल से करीब 13,000 फुट की ऊंचाई पर है.

कैप्टन वी. राना के हाथ होगी कमान
इस रैली की कमान कैप्टन वी. राणा के पास होगी. इस यात्रा का मकसद लोगों के बीच इलेक्ट्रिक स्कूटरों की उपयोगिता को ज्यादा बेहतर तरीके से बताना है. साथ ही स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में अपना योगदान देना भी.  किसी इलेक्ट्रिक स्कूटर से होने वाली ये ऐसी पहली यात्रा है. 

तय करेंगे 393km का लंबा सफर
12 जवानों का ये दल Ola Scooter S1 Pro से इस यात्रा को पूरी करेगा. कसौली से शिपकी-ला के बीच ये दल इलेक्ट्रिक स्कूटर से करीब 393 किमी की दूरी तय कारेगा.

Ola Scooter में कंपनी ने नए MoveOS 2 ऑपरेटिंग सिस्टम का बीटा अपडेट देना शुरू किया है. इससे अपडेट के बाद कंपनी ने रिवर्स गियर, स्लो स्पीड और माइलेज से जुड़ी परेशानियों को दूर करने की कोशिश की है.ओला स्कूटर से की जाने वाली इस यात्रा को लेकर कंपनी के सीईओ भाविश अग्रवाल (Bhavish Aggarwal) ने भी ट्वीट किया है. उन्होंने इस पल को गौरवपूर्ण बताया. 12 जवानों के साथ 3 ओला राइडर्स भी हैं. इस तरह ये 15 लोगों का दल होगा.

भाविश अग्रवाल का ट्वीट
भाविश अग्रवाल का ट्वीट

हाल में ओला स्कूटर में आग की घटना के बाद कंपनी की ब्रांड इमेज को काफी झटका पहुंचा है. उसके बाद कंपनी के कई बड़े अधिकारी भी जॉब छोड़कर चले गए. साथ ही ओला स्कूटर से जुड़ी कई शिकायतें भी सोशल मीडिया पर वायरल हुईं. इसलिए कंपनी ब्रांड इमेज को सुधारने के कई तरीके अपना रही है. ये भी उसी का हिस्सा होने की उम्मीद है. 

ये भी पढ़ें: 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें