UP: अतीक अहमद को राहत नहीं, MP-MLA कोर्ट ने 2 मामलों में मिली जमानत रद्द की

अतीक अहमद के दो बेटों को यूपी पुलिस और सीबीआई की टीम तलाश रही है. इन्हीं मुश्किलों से घिरे अतीक को अब एक और मुसीबत ने घेर लिया है. अतीक पर पूर्व विधायक राजू पाल हत्याकांड के गवाह को धमकाने का आरोप लगा था.

कभी बाहुबली अतीक अहमद के नाम का सिक्का प्रयागराज के शहर पश्चिमी में चलता था. फाइल फोटो कभी बाहुबली अतीक अहमद के नाम का सिक्का प्रयागराज के शहर पश्चिमी में चलता था. फाइल फोटो
aajtak.in
  • प्रयागराज,
  • 25 अप्रैल 2022,
  • अपडेटेड 7:15 PM IST
  • गुजरात की जेल में बंद है अतीक अहमद
  • अतीक के दोनों बेटे चल रहे हैं फरार

बाहुबली अतीक अहमद की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. अतीक को अब एमपीएमएएल कोर्ट से बड़ा झटका लगा है. अतीक को दो केसों में मिली जमानत को कोर्ट ने रद्द कर दिया है. अतीक इस वक्त गुजरात की साबरमती जेल में बंद है. बता दें कि अतीक बसपा के पूर्व विधायक राजू पाल हत्याकांड में आरोपी है तो वहीं उसका छोटा भाई और पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ भी इसी हत्याकांड में यूपी की जेल में बंद है. 

अतीक अहमद के दो बेटों को यूपी पुलिस और सीबीआई की टीम तलाश रही है. इन्हीं मुश्किलों से घिरे अतीक को अब एक और मुसीबत ने घेर लिया है. दरअसल, अतीक पर पूर्व विधायक राजू पाल हत्याकांड के गवाह को धमकाने का आरोप लगा था. हालांकि दोनों मुकदमों में अतीक अहमद को जमानत मिल चुकी थी, जिसे सोमवार को एमपीएमएलए कोर्ट ने निरस्त कर दिया है.

कभी अतीक का प्रयागराज में चलता था सिक्का

कभी बाहुबली अतीक अहमद के नाम का सिक्का प्रयागराज के पश्चिमी इलाके में चलता था. ऐसा कहा जाता था कि अतीक अहमद जिस शख्स पर हाथ रख दे, वो शहर पश्चिमी से विधायक हो जाता था. लेकिन, इस मिथक को बसपा नेता राजू पाल ने साल 2004 में तोड़ दिया. एक साल बाद 2005 में बसपा विधायक राजू पाल की बीच सड़क पर हत्या कर दी गई. जिसका आरोप बाहुबली अतीक अहमद पर लगा. इस मामले में कई गवाह थे. उन्हीं को धमकाने का आरोप लगा। 

इन दो केसों में जमानत निरस्त

बता दें कि साल 2006 में प्रयागराज के धूमनगंज थाने में बाहुबली अतीक अहमद पर राजू पाल हत्याकांड के गवाह महेंद्र को धमकाने केस दर्ज किया गया था. इस मामले में साल 2009 में बाहुबली अतीक अहमद को जमानत मिल गई थी. इसके अलावा, साल 2003 में चकिया के रहने वाले अशरफ की हत्या हुई थी, जिसका मुकदमा प्रयागराज के धूमनगंज थाने में दर्ज हुआ था और इस मामले में भी अतीक अहमद को जमानत मिल गई थी. इन्हीं दोनों मामलों की जमानत को सोमवार को एमपीएमएलए कोर्ट ने निरस्त कर दिया.

अतीक अहमद की मुश्किलें नहीं हुईं कम

प्रदेश सरकार ने अतीक अहमद के पूरे इंटर स्टेट गैंग के खिलाफ खास अभियान चल रखा है, जिसमें बाहुबली के एक-एक सहयोगियों पर कार्रवाई की जा रही है. यही नहीं, अतीक के घर पर भी बुलडोजर चलाकर जमींदोज कर दिया गया है. इतना ही नहीं, अतीक के परिवार के ज्यादातर पुरुष या तो फरार हैं या तो जेल में बंद हैं. इससे पहले भी कोर्ट कई जमानत याचिका निरस्त कर चुकी है, जिससे बाहुबली के जेल से बाहर आने के रास्ते भी नहीं खुल पा रहे हैं. अतीक के बड़े बेटे उमर की तलाश सीबीआई कर रही है तो छोटे बेटे अली की तलाश यूपी पुलिस कर रही है. दोनों पर इनाम भी घोषित किया गया है.

(इनपुट- आनंद राज)

 

Read more!

RECOMMENDED