बॉलीवुड

सेल्समैन की जॉब, 1500 रुपये में पहला जिंगल, कैसे दुनिया पर चला KK की आवाज का जादू?

aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 01 जून 2022,
  • अपडेटेड 9:40 AM IST
  • 1/15

बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन सिंगर्स में से एक केके उर्फ कृष्ण कुमार कुन्नथ अब इस दुनिया में नहीं हैं. केके का निधन 31 मई की शाम कोलकाता में हुआ. वह एक लाइव शो कर रहे थे. शो के खत्म होने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ी थी. अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. केके के यूं अचानक चले जाने से देशभर में उनके फैंस और बॉलीवुड के सेलेब्स को बड़ा झटका लगा है.

  • 2/15

केके का असली नाम कृष्ण कुमार कुन्नथ था. उनका जन्म नई दिल्ली में रहने वाले एक मलयाली परिवार में हुआ था. उनके माता-पिता सीएस में और कुन्नथ कनकवल्ली थे. केके ने दिल्ली के माउंट सेंट मैरी स्कूल से पढ़ाई की थी. इसके बाद किरोड़ी मल कॉलेज से ग्रेजुएशन किया था. 

  • 3/15

केके को बचपन से ही गाने का शौक था. इस बारे में केके बताते हैं कि उन्होंने पहली बार दूसरी कक्षा में परफॉर्म किया था. उन्होंने कहा था, सभी ने कहा कि काफी अच्छा गाते हो, जबकि मैंने कभी कहीं सीखा नहीं था. मुझे मेरे स्कूल से ही अच्छी ट्रेनिंग मिली. मेरे टीचर्स को जब पता चला कि मैं गाता हूं तो उन्होंने बहुत सपोर्ट किया मुझे. फिर मैं इंटर स्कूल में जाना लगा था, वहां दूसरे स्कूलों में भी परफॉर्म करने लगा.'

  • 4/15

उन्होंने आगे कहा था, 'मुझे हर जगह फर्स्ट प्राइज ही मिला करते थे. इसके बाद कॉलेज भी. कॉलेज में गाने के पैसे भी मिलते थे. पहली बार 1500 रुपए मिले थे. मैं किरोड़ीमल से था, वहां अच्छा माहौल था. मैंने दूरदर्शन में अपना शो किया था. मैं किशोर कुमार के गाने सुनता था, फिर वेस्ट के गाने भी सुनता था. फिर रॉक सुनना शुरू कर दिया था मैंने. मैंने कॉलेज में तीन रॉक बैंड बनाए थे. उनके लिए गाने बनाता था. सबका अलग-अलग म्यूजिक होता था. एक में क्लासिक रॉक, दूसरे में नियो रॉक और तीसरे में पॉप. दिल्ली में इतने फेस्टिवल होते थे, तो वहां बहुत फेमस था हमारा बैंड. उस वक्त भी मैं ट्रैवल करता था. मैंने शुरू से अपनी डिस्कवरी को बहुत स्लो तरीके से डिस्कवर किया है.'
 

  • 5/15

केके ने दिल्ली में ही अपनी सिंगिग जर्नी की शुरुआत कर दी थी. इसके बाद उन्होंने मुंबई का रुख किया. यहां उन्होंने यूटीवी के लिए लगभग 5 सालों में अलग-अलग भाषाओं में लगभग 3,500 जिंगल गाए थे. फिर केके की मुलाकात ए आर रहमान से हुई. रहमान ने Kalluri Saaley और Strawberry Kannae जैसे हिट गानों को केके से गवाया था.

  • 6/15

इसके बाद आई फिल्म हम दिल दे चुके सनम और केके ने गाया 'तड़प तड़प के इस दिल से' सॉन्ग. फिर उन्होंने कभी मुड़कर नहीं देखा. उन्होंने फिल्म माचिस के गाने 'छोड़ आए हम वो गलियां' के एक छोटे हिस्से को भी गाया था. हालांकि उन्हें पहचान 'यारों दोस्ती' और 'प्यार के पल' जैसे गानों ने दी. यह गाने आज भी फैंस के फेवरेट बने हुए हैं. इनमें आज भी वही इमोशंस हैं, जो पहले महसूस हुआ करते थे.

  • 7/15

कृष्ण कुमार कुन्नथ, म्यूजिक इंडस्ट्री के केके कैसे बने? इस बारे में खुद केके ने बताया था. उन्होंने एक शो में कहा था, 'जब दिल्ली में था तो लोग मुझे खुद केके बुलाते थे. मुंबई आया तो सोचा कृष्ण कुमार कर दूं. लेकिन मुंबई में सब यही बोलते कौन कृष्ण कुमार, वो जो दिल्ली से आया है केके. फिर सोचा क्यों दो नाम का कंफ्यूजन रखो. लोग जिस नाम से प्यार से बुलाते हैं वहीं नाम रख दो. बस यही से मैं केके हो गया.'
 

  • 8/15

पढ़ाई खत्म करने के बाद थोड़े समय के लिए केके ने सेल्स में नौकरी की. उन्होंने अपने बचपन के प्यार से शादी की थी. उनकी पत्नी का नाम ज्योति है. ज्योति संग केके के दो बच्चे हैं. एक बेटा नकुल कृष्ण कुन्नथ और बेटी तमारा कुन्नथ. कपिल शर्मा के शो में केके ने बताया था कि उनकी मुलाकात ज्योति से छठी क्लास में हुई थी. 

  • 9/15

केके अपने करियर के लिए अपने बेटे को लकी मानते थे. यह बात उन्होंने एक इंटरव्यू में बताई थी कि उनके बेटे के बर्थडे के दिन उन्हें बॉलीवुड में ब्रेक मिला था. उनकी एल्बम पल ने उन्हें वो नाम और शोहरत दी, जिसपर उन्होंने मरते दम तक राज किया. उनकी दूसरी एल्बम हमसफर थी. उन्होंने बॉलीवुड के कई सुपरहिट गानों को गाया था. इसमें दस बहाने, खुदा जाने, क्या मुझे प्यार है, आंखों में तेरी संग कई अन्य बढ़िया गाने थे. 

  • 10/15

जिस पल एल्बम ने केके को पहचान दी उसको बनाने के बारे में भी सिंगर ने बात की थी. उन्होंने बताया था कि महबूब ने इसके लिरिक्स लिखे थे. सोनी म्यूजिक की टीम ने इसे लेकर खूब मेहनत भी की थी. 1998 में सिंगर और म्यूजिक कंपोजर लेजली लुइस ने केके को डेब्यू आर्टिस्ट के तौर पर साइन किया था. इसके बाद उन्होंने पल को रिकॉर्ड किया था. यह एल्बम छह से आठ महीने में हिट हो गई थी. उन्होंने इसकी बिल्कुल उम्मीद नहीं की थी. लेकिन बाद में वह बेहद खुश थे. पल एल्बम के साथ ही केके ने हम दिल दे चुके सनम का गाना 'तड़प तड़प के' रिकॉर्ड किया था. यह गाना उनके दिल के बेहद करीब रहा.

  • 11/15

अपने गानों को चुनने में केके काफी सोच-विचार करते थे. ऐसे में उनसे इसका कारण पूछा गया था. तब उन्होंने कहा था कि मैं ऐसा ही हूं. शायद यही मेरा नेचर है. मैं बहुत ज्यादा चीजें करने से बचता हूं. शुक्र है जो थोड़े गाने मैंने गाए हैं वो सफल रहे हैं. मेरी एल्बम पल के बाद मैंने दूसरी एल्बम बनाने का सोचा भी नहीं था. फिर 2005-2006 में मैंने सोचना शुरू किया और 2008 में मैंने हमसफर रिलीज की. 

  • 12/15

फिल्मों के साथ-साथ उन्होंने टीवी सीरियलों के लिए भी गाने गाए थे. उन्होंने जस्ट मोहब्बत, शाका लाका बूम बूम, कुछ झुकी सी पलकें, हिप हिप हुर्रे, काव्यांजलि और जस्ट डांस जैसे टीवी शोज के लिए गाने गाए. रियलिटी शो फेम गुरुकुल में केके ने जज की भूमिका भी निभाई थी. इसके लगभग एक दशक बाद उन्हें इंडियन आइडल जूनियर सीजन 2 में जज के रूप में देखा गया था. 

  • 13/15

साल 2020 में केके को इंडस्ट्री में 25 साल पूरे हुए थे. इसपर उन्होंने कहा था कि वह माइलस्टोन बनाने में बिलीव नहीं करते हैं. वह बोले थे, 'मुझे अभी बहुत काम करना है. मैं संतुष्ट हूं कि अपनी तरह का काम किया है. मुझे लगता है माइल स्टोन के बारे में सोचूंगा तो फिर अंदर का आर्टिस्ट मर जाएगा, वह नहीं चाहता हूं मैं.'

  • 14/15

केके अपनी आवाज से फेमस थे, लेकिन उन्हें चेहरे से कम ही लोग पहचान हैं. उन्होंने खुद इस बात को माना था कि उन्हें लाइमलाइट में रहना खास पसंद नहीं है. इसीलिए मीडिया में उनकी तस्वीरें कम हैं. उन्होंने यह भी बताया था कि कॉन्सर्ट के बाद कई बार लोग आकर उनसे पूछते थे कि क्या आप ही केके हैं? आपने ही तड़प तड़प और अलविदा जैसे गाने गाए हैं? उन्होंने कहा था कि उनके फैंस उन्हें जानते हैं लेकिन पहचानते नहीं हैं.

  • 15/15

केके के अचानक चले जाने से उनके फैंस शॉक में हैं. म्यूजिक और बॉलीवुड इंडस्ट्री में भी शोक पसरा हुआ है. उनका यूं दुनिया छोड़ जाने की बात पर किसी के लिए भी विश्वास करना मुश्किल हो रहा है. लोग उनकी याद में आंसू भी बहा रहे हैं. सभी यही पूछा रहे हैं कि 'कैसे कह दिया अलविदा...'

फोटो सोर्स: केके फेसबुक और गेटी इमेज

लेटेस्ट फोटो