scorecardresearch
 
ट्रेंडिंग

व्हाइट हाउस के जिस बंकर में थे ट्रंप, उस पर परमाणु हमला भी होगा फेल

व्हाइट हाउस के जिस बंकर में थे ट्रंप, उस पर परमाणु हमला भी होगा फेल
  • 1/6
अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्यॉयड की मौत से बाद अमेरिका के ज्यादातर राज्य हिंसा में सुलग रहे हैं. हालात ऐसे हो गए कि अमेरिका की राजधानी वॉशिंगटन समेत कई शहरों में हिंसा को काबू करने के लिए कर्फ्यू लगाना पड़ा. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के आधिकारिक निवास व्हाइट हाउस के सामने भारी संख्या में प्रदर्शनकारी जमा हो गए. राष्ट्रपति ट्रंप और उनके परिवार को सुरक्षित रखने के लिए व्हाइट हाउस में ही बने बंकर में ले जाया गया जहां वो रह रहे हैं. आप इस बंकर की क्षमता जानकर हैरान रह जाएंगे.
व्हाइट हाउस के जिस बंकर में थे ट्रंप, उस पर परमाणु हमला भी होगा फेल
  • 2/6
व्हाइट हाउस में बने इस बंकर में राष्ट्रपति और उनके परिवार के अलावा सारे कर्मचारियों के रहने की भी पूरी व्यवस्था है. यह बंकर इतना शक्तिशाली है कि इसपर रॉकेट-मिसाइल तो छोड़िए अगर परमाणु बम से भी हमला किया जाए तो किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा.
व्हाइट हाउस के जिस बंकर में थे ट्रंप, उस पर परमाणु हमला भी होगा फेल
  • 3/6
इस बंकर में कई गुप्त सुरंग हैं जिससे अमेरिकी राष्ट्रपति किसी भी आपात स्थिति में कहीं भी आने-जाने में सक्षम हैं. वो इस सुरंग के जरिए किसी भी विभाग के दफ्तर पहुंच सकते हैं.
व्हाइट हाउस के जिस बंकर में थे ट्रंप, उस पर परमाणु हमला भी होगा फेल
  • 4/6
व्हाइट हाउस के बंकर में राष्ट्रपति के लिए लिविंग रूम, टीवी, कॉफ्रेंस रूम के अलावा कमांड रूम भी है जहां वो 16 लोगों के साथ कभी भी बैठक कर सकते हैं.

व्हाइट हाउस के जिस बंकर में थे ट्रंप, उस पर परमाणु हमला भी होगा फेल
  • 5/6
पांच मंजिला खुफिया बंकर में राष्ट्रपति की गाड़ी के लिए पार्किंग और गैरेज की भी सुविधा है जहां उनके काफिले की गाड़ियों को सुरक्षित रखा जा सकता है.
व्हाइट हाउस के जिस बंकर में थे ट्रंप, उस पर परमाणु हमला भी होगा फेल
  • 6/6
बता दें कि 25 मई को अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड नाम के अश्वेत नागरिक को गाड़ी से उतारकर पुलिस ने जमीन पर लिटाकर घुटने से उसकी गर्दन को दबाया था जिससे बाद में उसकी मौत हो गई. पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल होने के बाद वहां भेदभाव को लेकर धरने-प्रदर्शन शुरू हो गए. बाद में कुछ जगहों पर हिंसा भी देखने को मिली.