scorecardresearch
 

World Diabetes Day 2021: अंधापन-किडनी फेल, इन 6 अंगों को सबसे पहले डैमेज करती है डायबिटीज

डॉक्टर्स कहते हैं कि हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाकर डायबिटीज से बचा जा सकता है. सही समय पर ध्यान ना देने पर इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं. आइए आपको बताते हैं कि डायबिटीज की खतरनाक बीमारी का असर शरीर के किन अंगों पर सबसे ज्यादा होता है.

X
World Diabetes Day 2021 अंधापन-किडनी फेल, इन 6 अंगों को सबसे पहले डैमेज करती है डायबिटीज (Photo: Getty Images) World Diabetes Day 2021 अंधापन-किडनी फेल, इन 6 अंगों को सबसे पहले डैमेज करती है डायबिटीज (Photo: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • युवा पीढ़ी भी हो रही डायबिटीज का शिकार
  • इन 6 अंगों को सबसे खराब करती है डायबिटीज

डायबिटीज की बीमारी युवा पीढ़ी के लोगों को भी अपना शिकार बनाने लगी है. हाई ब्लड शुगर की यह बीमारी अगर बेकाबू हो जाए तो इंसान को मौत के दरवाजे तक पहुंचा सकती है. डॉक्टर्स कहते हैं कि हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाकर डायबिटीज से बचा जा सकता है. सही समय पर ध्यान ना देने पर इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं. डायबिटीज के प्रति लोगों को जागरूकर करने के लिए हर साल 14 नवंबर को वर्ल्ड डायबिटीज-डे मनाया जाता है. आइए आपको बताते हैं कि डायबिटीज की खतरनाक बीमारी का असर शरीर के किन अंगों पर सबसे ज्यादा होता है.

अंधेपन का शिकार- डायबिटीज टाइप 2 के मरीजों को धुंधला दिखाई देने लगता है. डायबिटीज आपकी आंखों की छोटी ब्लड वेसल्स को नुकसान पहुंचा सकती है. इससे ग्लूकोमा, मोतियाबिंद और डायबिटिक रेटिनोपैथी का खतरा बढ़ जाता है. इन सबसे एक समय के बाद आंखे बहुत कमजोर हो जाती हैं.

नसें डैमेज- अगर आपको डायबिटीज टाइप 2 है तो नसों के डैमेज होने और डायबिटिक न्यूरोपैथी का खतरा और बढ़ जाता है. ये आपके हाथों और पैरों पर असर डाल सकता है. इसके लक्षण सुन्न होना, झुनझुनी या जलन, दर्द, आखों की समस्याएं और कमजोरी है.

हार्ट डैमेज- अगर आपने डायबिटीज को कंट्रोल नहीं किया तो हाई ब्लडप्रेशर और दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है. अगर आप टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित हैं तो लो सोडियम डाइट लें और नियमित रूप से अपना बीपी चेक करें.

पैरों का अल्सर- नस और ब्लड सर्कूलेशन खराब होने से पैरों में अल्सर जैसी समस्या हो सकती है. ये पैर के अल्सर कभी-कभी संक्रमित भी हो सकते हैं. पैरों के अल्सर से बचने के लिए, डायबिटीज के रोगियों को अपने पैरों को साफ और सूखा रखना चाहिए. आरामदायक और हल्के मोजे पहनें. पैरों में किसी भी तरह के घाव होने पर तुरंत अपने चिकित्सक से संपर्क करें.

किडनी खराब- ब्लड शुगर लेवल बढ़ने का सीधा असर किडनियों पर पड़ता है. ये किडनी के फिल्टर करने की क्षमता को प्रभावित करता है. इस वजह से ही डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्लड शुगर कंट्रोल करना बहुत जरूरी हो जाता है. इसके लिए आपको अपने खान-पान पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है.

मुंह से जुड़े रोग- टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल नहीं किया गया तो आपका ओरल हेल्थ भी खराब हो सकता है. इस स्थिति में आपके उन ब्लड वेसल्स को नुकसान पहुंचता है, जिसमें आपके दांत और मसूड़ों सही रहते हैं. इससे दांतों और मसूड़ों में संक्रमण खतरा बढ़ जाता है. इसके लिए जरूरी है कि आप ओरल हाइजीन का पूरा ख्याल रखें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें