ट्रेंडिंग

'एडल्ट साइट्स खंगाल रहा तालिबान, बना रहा सेक्स वर्कर्स की लिस्ट'

aajtak.in
  • नई दिल्ली,
  • 02 सितंबर 2021,
  • अपडेटेड 8:55 PM IST
  • 1/10

अफगानिस्तान पर पूरी तरह कब्जा करने के बाद अब आतंकी संगठन तालिबान वहां अपनी सरकार बनाने में जुटा हुआ है. अफगानिस्तान में महिलाओं की हालत को देखते हुए तालिबान बार-बार उन्हें सभी जरूरी अधिकार दिए जाने का आश्वासन दे रहा है लेकिन यह महज दिखावा ही साबित हो रहा है. सत्ता हासिल करने के बाद तालिबान अब एडल्ट साइट्स खंगाल रहा है और अफगानी सेक्स वर्कर्स की लिस्ट तैयार कर रहा है. (सांकेतिक तस्वीर/Getty)

  • 2/10

तालिबान ऐसे सेक्स वर्कर और वेश्यालय की लिस्ट बना रहा है जो बीते 20 सालों में वहां बने हैं और ऐसी लड़कियों का वीडियो बनाकर एडल्ट साइट्स पर डाला गया है. द सन ऑनलाइन की रिपोर्ट के मुताबिक अफगान वेश्याओं वाले वीडियो कई अश्लील साइटों पर मौजूद हैं जिसे तालिबानी जिहादियों द्वारा खोजा जा रहा है. (सांकेतिक तस्वीर/Getty)

  • 3/10

द सन ने अपने सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि तालिबान अब इन वेश्याओं को सार्वजनिक रूप से सजा देने या फिर खुद के आनंद के लिए और उन्हें अपमानित करने के लिए ऐसा कर रहा है जो वहां इन महिलाओं को नरक जैसी स्थिति में ढकेल देगा. सूत्र ने दावा किया की ऐसी महिलाओं को "सिर काटने, पत्थर मारने या लटकाए जाने जैसी सजा से पहले तालिबानी लड़ाकों के द्वारा सामूहिक बलात्कार का सामना करना पड़ता है. (सांकेतिक तस्वीर/Getty)

  • 4/10

एडल्ट साइट्स  को खंगालने जाने के दौरान कुछ वीडियो में कथित तौर पर पश्चिमी देशों के लोगों के साथ यौन संबंध रखने वाली महिलाओं को देखकर तालिबान का रोष और बढ़ गया है. अफगानिस्तान में तालिबान के शासन में आने के बाद वहां महिलाओं को क्रूर और दमन का सामना करने के लिए मजबूर होने की आशंका है. उन्हें सख्त नए नियमों और नैतिक संहिताओं के साथ जीने के लिए मजबूर किए जाने का डर है. (सांकेतिक तस्वीर/Getty)

  • 5/10

द सन को एक सूत्र ने बताया कि यह कार्रवाई "तालिबान के भयानक पाखंड की ऊंचाई को प्रदर्शित कर रहा हैं." सूत्र ने कहा कि तालिबानी अश्लील साहित्य की निंदा करने का दिखावा करते हैं, लेकिन अश्लील साइटों की खोज करते हैं ताकि वो वीडियो ढूंढ सकें जिसमें उन्हें अफगान में चल रहे वेश्यालय की जानकारी मिले और वो उन महिलाओं को पहचान कर उन्हें गुलाम बना सकें. (सांकेतिक तस्वीर/Getty)

  • 6/10

तालिबान ने 90 के दशक में अफगानिस्तान पर शासन करने के दौरान महिलाओं को बुरी तरह प्रताड़ित किया था और सार्वजनिक रूप से बड़ी बेरहमी से उनकी हत्याओं को अंजाम दिया था. सूत्र ने बताया कि तालिबान ने पिछले दो दशकों में अपने नियंत्रण वाले क्षेत्रों में अपनी शातिर रणनीति जारी रखी है जिसके तहत वो  शादी से बाहर यौन संबंध रखने के लिए महिलाओं को शिकार बनाते हैं और विरोध करने पर हत्या भी कर देते हैं. (सांकेतिक तस्वीर/Getty)
 

  • 7/10

अफगानिस्तान में सेक्स कार्य अवैध है, लेकिन जैसे-जैसे देश में व्यवसाय बढ़ा वैसे-वैसे सेक्स के लिए खुद को बेचने वाले पुरुषों और महिलाओं की संख्या में वहां वृद्धि हुई क्योंकि उनके पास कोई दूसरा काम नहीं था.  (सांकेतिक तस्वीर/Getty)
 

  • 8/10

अफगानिस्तान में मानवाधिकार संगठनों ने जून में चेतावनी दी थी कि अफगानिस्तान से सुरक्षाबलों की वापसी से पहले देश की राजधानी काबुल में "सैकड़ों" यौनकर्मी थे. रिपोर्ट के मुताबिक ये वेश्यालय दोस्तों के घरों, कॉफी की दुकानों और ब्यूटी सैलून में चल रहे थे. (सांकेतिक तस्वीर/Getty)

  • 9/10

एक सेक्स वर्कर ने कहा कि उसने अपने छोटे भाई के बीमार होने के बाद अपने पांच भाई-बहनों का पेट भरने के लिए वेश्यावृत्ति की ओर रुख किया. 20 साल की उस लड़की ने कहा कि उसने हर हफ्ते तीन पुरुषों के साथ संबंध बनाए जिसके लिए उसे प्रत्येक ग्राहक से 2,000 अफगानी मुद्रा मिले.  (सांकेतिक तस्वीर/Getty)

  • 10/10

युवती ने बताया कि ज्यादातर पुरुष ग्राहक युवा हैं, जिनकी आयु 25 से 30 वर्ष के बीच है, और उनमें से अधिकांश विवाहित हैं. वे मेरे एजेंट को जानते हैं और अपॉइंटमेंट की व्यवस्था करने के लिए उसे फोन करते हैं. कुछ पुरुष कई लड़कियों में से किसी एक को चुनने का विकल्प ढूंढते हैं. (सांकेतिक तस्वीर/Getty)

लेटेस्ट फोटो