scorecardresearch
 

न्यूक्लियर हथियारों तक पहुंच गए थे एलियंस, हो सकता था वर्ल्ड वार: पूर्व सैन्य अधिकारी

Nuclear Missiles: अमेरिका के चार पूर्व सैन्य अधिकारी परमाणु हथियारों (Nuclear Weapons) के साथ यूएफओ (UFO) के इन कथित हस्तक्षेप के मामलों के बारे में बात करेंगे और सरकारी दस्तावेजों का खुलासा करेंगे. चारों अधिकारी 19 अक्टूबर 2021 को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं. 

(सांकेतिक फोटोः हाइपरसोनिक मिसाइल/फेसबुक) (सांकेतिक फोटोः हाइपरसोनिक मिसाइल/फेसबुक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • परमाणु हथियारों को लेकर पूर्व सैन्य अधिकारी का दावा
  • एलियंस से सावधान रहने की चेतावनी

एलियंस (Aliens) परमाणु हथियारों (Nuclear Weapons) से छेड़छाड़ कर दुनिया को तीसरे विश्व युद्ध (World War Three) की आग में धकेल सकते हैं. ये सनसनीखेज दावा अमेरिका के पूर्व मिलिट्री ऑफिसर ने किया है. इस अधिकारी ने यह भी दावा किया कि उसने परमाणु हथियार प्रणालियों के साथ एलियंस को छेड़छाड़ करते देखा था. वह जल्द ही इस बारे में सबूत पेश करने वाले हैं. 

अमेरिका के पूर्व वायु सेना अधिकारी, रॉबर्ट सालास (Robert Salas) का दावा है कि 24 मार्च, 1967 को उनकी सभी दस अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलें (Intercontinental Ballistic Missiles) निष्क्रिय हो गईं थी. उस वक्त वो मोंटाना में माल्मस्ट्रॉम एयर फ़ोर्स बेस (Air Force Base) में एक भूमिगत लॉन्च सिस्टम के ऑन-ड्यूटी कमांडर थे. 

रॉबर्ट सालास दावा करते हैं कि यूएफओ (UFO) ने परमाणु ठिकानों (Nuclear Bases) पर हथियार प्रणालियों को निष्क्रिय भी किया  और फिर उन्होंने मिसाइलों को लॉन्च भी कर दिया. हालांकि, काउंटिंग शुरू होते ही लॉन्च को रोक लिया गया. 

सालास का कहना है कि ठीक आठ दिन पहले यानी कि 16 मार्च, 1967 को भी इसी तरह की घटना एक अन्य मिसाइल लॉन्च सिस्टम के साथ हुई थी. उनका दावा है कि एलियंस इस तरह तीसरा विश्व युद्ध (World War) करवा सकते थे.

19 अक्टूबर को करने वाले हैं खुलासा!

'डेली स्टार' के मुताबिक, लेकिन अब रॉबर्ट सालास समेत चार पूर्व सैन्य अधिकारी परमाणु हथियारों के साथ यूएफओ के इन कथित हस्तक्षेप के मामलों के बारे में बात करेंगे और सरकारी दस्तावेजों का खुलासा करेंगे. चारों पूर्व सैन्य अधिकारी 19 अक्टूबर 2021 को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं. 
 
चारों का दावा है कि हाल के दशकों में कई घटनाओं के लिए एलियंस जिम्मेदार हैं. जिसमें हथियार प्रणालियों के साथ छेड़छाड़ की गई थी, जिससे वे कुछ समय के लिए निष्क्रिय हो गए थे. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें