scorecardresearch
 

फ्रांस में कोरोना की पांचवीं वेव, सरकार बोली- पिछली लहरों से ज्यादा खतरनाक

कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है. किसी न किसी देश में यह फिर से अपना फन उठा रही है. फ्रांस में कोरोना वायरस की पांचवीं लहर की शुरुआत की खबरें आ रही हैं. फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि देश में कोरोना महामारी की पांचवीं लहर के शुरुआत की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि इससे पहले हमारे पड़ोसी देशों में भी पांचवीं लहर आ चुकी है.

फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री बोले- देश में कोरोना की पांचवीं लहर की शुरुआत. (फोटोःगेटी) फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री बोले- देश में कोरोना की पांचवीं लहर की शुरुआत. (फोटोःगेटी)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • स्वास्थ्य मंत्री बोले- बढ़ाएंगे वैक्सीनेशन की गति.
  • पड़ोसी देशों में भी पांचवीं लहर की धमक जारी.
  • अब भी कोरोना के कई वैरिएंट ढा रहे हैं कहर.

कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है. किसी न किसी देश में यह फिर से अपना फन उठा रही है. फ्रांस में कोरोना वायरस की पांचवीं लहर की शुरुआत की खबरें आ रही हैं. फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि देश में कोरोना महामारी की पांचवीं लहर के शुरुआत की पुष्टि की है. उन्होंने कहा कि इससे पहले हमारे पड़ोसी देशों में भी पांचवीं लहर आ चुकी है. 

फ्रांस के स्वास्थ्य मंत्री ओलिवियर वेरन ने फ्रांस के मीडिया संस्थान टीएफ1 से कहा कि हमें देश में कोरोना महामारी के पांचवीं लहर के शुरुआत जैसी स्थिति दिख रही है. हमारे पड़ोसी देशों में यह लहर पहले ही आ चुकी है. पड़ोसी देशों के डेटा को देखकर लग रहा है कि यह पिछली लहरों की तुलना में अधिक गंभीर हो सकती है. ओलिवियर वेरन ने कहा कि हम लोगों से अपील कर रहे हैं कि वो कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें. 

ओलिवियर ने कहा कि ज्यादा वैक्सीनेशन और स्वच्छता उपायों के साथ हम पांचवीं लहर को कमजोर कर सकते हैं. संभव है कि हम उसे पूरी तरह से हरा दें. फ्रांस में अब तक कोरोना संक्रमण की वजह से 73.46 लाख से ज्यादा कोरोना केस दर्ज किए जा चुके हैं. कोरोना की वजह से फ्रांस में 1.19 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.  

आपको बता दें किसी भी देश में कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा खतरनाक साबित हुई थी. चाहे वह भारत हो या कोई और देश. इससे पहले भी ऐसे उदाहरण हैं- जैसे 1918 से 1920 के बीच स्पैनिश फ्लू की वजह से दुनियाभर में करीब 50 करोड़ लोग संक्रमित हुए थे. पांच करोड़ लोगों की मौत हुई थी. इस महामारी ने भी अपनी दूसरी लहर में ज्यादा कोहराम मचाया था.  

इस साल के शुरुआत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से सबसे ज्यादा यूरोपियन देश प्रभावित हुए.  ब्रिटेन, फ्रांस, बेल्जियम, इटली, नीदरलैंड्स, स्पेन और स्वीडन में कोरोना की दूसरी लहर ने ज्यादा तबाही मचाई थी.  इतना ही नहीं अमेरिका में भी पिछले साल अक्टूबर से दिसंबर के बीच आई कोरोना की दूसरी लहर ने लाखों लोगों को मौत के घाट उतार दिया था.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें