scorecardresearch
 

हैदराबाद में भारी बारिश-सैलाब से मरने वालों की संख्या 50 पहुंची, महाराष्ट्र में भी बाढ़ के हालात

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर सैलाब उमड़ आया है. चारों ओर पानी ही पानी दिखने के साथ सड़कों पर समंदर जैसा मंजर है. बारिश ने जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है. इस सप्ताह की शुरुआत में शहर के कई हिस्सों में बारिश-बाढ़ से मची तबाही के बीच शनिवार को फिर महानगर के कई इलाकों में भारी बारिश हुई.

Hyderabad Rain-Flood (फोटो-PTI) Hyderabad Rain-Flood (फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हैदराबाद-महाराष्ट्र में बाढ़-बारिश का कहर
  • दोनों ही राज्यों में कई लोगों की गई जान

हैदराबाद में हुई मूसलाधार बारिश से अभी शहर संभला भी नहीं कि एक बार फिर तेज बारिश का सिलसिला शुरू हो गया है. इस सप्ताह की शुरुआत में शहर के कई हिस्सों में बारिश-बाढ़ से मची तबाही के बीच शनिवार को फिर महानगर के कई इलाकों में भारी बारिश हुई, जिससे शहर के कई हिस्सों में जलजमाव के कारण यातायात बाधित हुआ. 

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर सैलाब उमड़ आया है. चारों ओर पानी ही पानी दिखने के साथ सड़कों पर समंदर जैसा मंजर है. बारिश ने जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है. हैदराबाद में तीन दिन पहले हुई बारिश से बर्बादी के निशान अबतक बाकी हैं. राहत-बचाव का काम तेजी से किया जा रहा है.

हैदराबाद में सबसे ज्यादा बुरी स्थिति चंद्रायगुट्टा की हुई है. जहां एक बार फिर से जिंदगी को पटरी पर लाने का जतन किया जा रहा है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, हैदराबाद में बारिश-बाढ़ में अब तक 50 लोगों की मौत हो चुकी है. शनिवार को मेडचल मल्काजगिरी जिले के सिंगापुर टाउनशिप में 157.3 मिमी और शहर के उप्पल के पास बांदलागुड़ा में 153 मिमी बारिश रिकॉर्ड हुई. शहर के कई अन्य इलाकों में भी भारी बारिश दर्ज हुई है.

देखें: आजतक LIVE TV

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) के आपदा प्रतिक्रिया बल (DRF) के कर्मी लगातार जलजमाव और बाढ़ में बचाव कार्य कर रहे हैं. मौसम विभाग ने आज यानी रविवार को भी शहर के कुछ हिस्सों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है.


आंध्र प्रदेश के CM ने केंद्र से लगाई मदद की गुहार

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी ने शनिवार को केंद्रीय मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर राज्य में पिछले हफ्ते हुई भारी बारिश और बाढ़ के बाद मरम्मत और बहाली के काम के लिए केंद्र से तत्काल 2,250 करोड़ रुपये की मदद की मांग की है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक मुख्यमंत्री ने कहा कि शुरुआती अनुमान के मुताबिक राज्य में 9 से 13 अक्टूबर तक हुई भारी बारिश और उसके बाद आई बाढ़ के कारण करीब 4,450 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़कों और विद्युत केंद्रों व खंभों को काफी नुकसान हुआ है, हजारों एकड़ में खड़ी फसल बर्बाद हो गई. इस स्थिति में केंद्र को राज्य की मदद के लिए खड़ा होना चाहिए.


महाराष्ट्र के कई हिस्सों में बाढ़ के हालात
महाराष्ट्र भी मौसम की मार से हाल-बेहाल है. राज्य के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश-बाढ़ से जनजीवन प्रभावित है. महाराष्ट्र के बारामती में मूसलाधार बारिश से नदी ने ऐसा तांडव मचा कि पुल बह गया. इस पुल के टूट जाने से 15 गावों से संपर्क पूरी तरह से कट गया है. 

भारतीय जनता पार्टी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को कहा कि वह महाराष्ट्र के बारिश और बाढ़ प्रभावित जिलों का 19 अक्टूबर से दौरा करेंगे. पिछले तीन दिन में पुणे, औरंगाबाद और कोंकण संभागों में भारी बारिश और बाढ़ से 48 लोगों की जान चली गई है और लाखों हेक्टेयर भूमि पर लगी फसल बर्बाद हो गई है.  


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें