scorecardresearch
 

शिमला-मनाली में हो रहा कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन, स्वास्थ्य मंत्रालय ने पत्र लिखकर चेताया

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि हिल स्टेशनों की यात्रा करने वाले लोग कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन नहीं कर रहे हैं. यदि प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया तो हम प्रतिबंधों में ढील को फिर से रद्द कर सकते हैं.

शिमला के एक बाजार में उमड़ी भीड़ (पीटीआई) शिमला के एक बाजार में उमड़ी भीड़ (पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हिल स्टेशनों समेत कई शहरों में नहीं हो रहा गाइडलाइंस का पालन
  • सर्वाधिक पॉजिटिव रिपोर्ट वाले 73 जिलों व राज्यों को लिखी गई चिट्ठी
  • प्रोटोकॉल का पालन नहीं तो प्रतिबंधों में ढील को रद्द कर देंगेः मंत्रालय

देशभर में कोरोना के मामलों में आई कमी को देखते हुए स्थानीय राज्य सरकारों की ओर से प्रतिबंधों में कई तरह की ढील दिए जा रहे हैं, लेकिन इस दौरान भी कोरोना गाइडलाइंस का पालन अनिवार्य है. हालांकि कई शहरों में नियमों का उल्लंघन जारी. स्वास्थ्य मंत्रालय ने हिमाचल प्रदेश को कोरोना नियमों के उल्लंघन को लेकर राज्य सरकार को पत्र लिखा है.

सूत्रों के अनुसार, स्वास्थ्य मंत्रालय ने हिमाचल प्रदेश के 2 बड़े पर्यटक स्थलों शिमला और मनाली में कोरोना ​​उपयुक्त व्यवहार के बड़े पैमाने पर उल्लंघन को लेकर राज्य सरकार को पत्र लिखा है. 

इसे भी क्लिक करें --- 90 जिलों से आ रहे कोरोना के 80 फीसदी केस, 'रिवेंज ट्रैवल' पर चिंतित स्वास्थ्य मंत्रालय

सूत्रों का कहना है कि स्वास्थ्य सचिव की ओर से देश में सबसे अधिक पॉजिटिव रिपोर्ट वाले 73 जिलों और राज्यों को पत्र लिखा गया है.

मंत्रालय की ओर से कई शहरों में उमड़ी भीड़ का दृश्य जारी किया गया

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि हिल स्टेशनों की यात्रा करने वाले लोग कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन नहीं कर रहे हैं. यदि प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया तो हम प्रतिबंधों में ढील को फिर से रद्द कर सकते हैं. 

हिल स्टेशनों में लोगों की भारी भीड़ का उल्लेख करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के उचित व्यवहार का घोर उल्लंघन अब तक की कोशिशों को खराब कर सकता है. मंत्रालय की ओर से कई शहरों में उमड़ी भारी भीड़ की तस्वीरें भी जारी की गईं.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें