scorecardresearch
 

RRB NTPC: रिजल्‍ट से नाखुश छात्रों ने कहीं जाम किया ट्रैक तो कहीं रेलवे स्टेशन पर कब्जा, CBT 2 का भी विरोध

RRB NTPC Result Protest: आरोप है कि तय मानकों से कम उम्‍मीदवार CBT 2 के लिए क्‍वालिफाई किए गए हैं, जिसके चलते कट-ऑफ हाई है. वहीं, रेलवे बोर्ड अपनी तरफ से स्‍पष्‍ट कर चुका है कि नोटिफिकेशन में बताए गए नियमों के अनुसार ही कैंडिडेट्स क्‍वालिफाई किए गए हैं और उम्‍मीदवारों की संख्‍या भी तय मानकों के अनुसार ही है. 

X
RRB NTPC Protest: RRB NTPC Protest:
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पटना के राजेंद्र नगर स्‍टेशन पर बवाल
  • आरा में रेलवे ट्रैक किया गया बाधित

RRB NTPC Result Protest: रेलवे RRB-NTPC की परीक्षा के घोषित नतीजों में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित अभ्यर्थियों ने पटना के राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन पर सोमवार को जमकर बवाल काटा. इसकी वजह से कई घंटों तक मुगलसराय- पटना रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन ठप रहा. नाराज अभ्यर्थियों के विरोध के कारण तेजस राजधानी एक्सप्रेस और संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस समेत आधा दर्जन ट्रेनों का परिचालन रद्द कर दिया गया और कई ट्रेनों के रूट में परिवर्तन किया गया. वहीं, आरआरबी-एनटीपीसी रिजल्ट के खिलाफ छात्रों का प्रदर्शन अभी थमा नहीं है.

दूसरे दिन भी जारी रहा RRB NTPC अभ्‍यर्थियों का विरोध

CBT 2 का विरोध
हंगामा और विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों की मानें तो 23 फरवरी को होने वाले रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा में मात्र अब एक महीना ही बचा है और रेलवे बोर्ड ने जानबूझकर ग्रुप डी की परीक्षा को दो बार परीक्षा लेने का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. हंगामा कर रहे छात्रों के अनुसार, जब तक कोई वरीय अधिकारी और बड़ा राजनेता उनकी मांगों को पूर्ण नहीं करता है तब तक वह रेलवे ट्रैक को जाम करके ही रखे रहेंगे. 

रेलवे भर्ती को लेकर बिहार के कई शहरों में असंतुष्ट अभ्यर्थियों ने प्रदर्शन जारी रखते हुए हल्ला बोल दिया है. 'युवा हल्ला बोल' संस्थापक और राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुपम ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को इस बारे में पत्र भी लिखा है. उन्होंने RRB NTPC की परीक्षा में बीस गुना छात्रों को सेलेक्ट करने और Group-D में CBT2 रद्द न रखने की मांग की है. अनुपम ने कहा कि अभ्यर्थियों की वाजिब मांगों को मानकर केंद्र सरकार जल्द ही रेलवे भर्ती प्रक्रिया पूरी करवाए.

बता दें कि सोमवार दोपहर के बाद से ही राजेंद्र नगर स्टेशन पर रेलवे एनटीपीसी परीक्षा के अभ्यार्थी जुटना शुरू हो गए थे जो नतीजों में भारी गड़बड़ी का आरोप लगा रहे थे. जब तकरीबन 5 घंटे तक इस रूट पर ट्रेन का परिचालन बंद रहा तो आखिरकार पटना डीएम चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी मानव जीत सिंह ढिल्लो पूरे दलबल के साथ स्टेशन पर पहुंचे और आक्रोशित अभ्यर्थियों से बात करने की कोशिश की. हालांकि, उन्हें सफलता नहीं मिली और अभ्‍यर्थियों का विरोध जारी रहा.

आखिरकार, जब नाराज छात्र राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन को खाली करने के लिए तैयार नहीं हुए तो जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए आक्रोशित अभ्यर्थियों पर आंसू गैस के गोले दागे और उन्हें खदेड़ कर स्टेशन के बाहर कर दिया. जिस वक्त राजेंद्र नगर रेलवे स्टेशन पर बवाल मचा हुआ था उस दौरान हजारों की संख्या में यात्री स्टेशन के बाहर ट्रेन आने का इंतजार करते रहे मगर उन्हें अंत में रेलवे की तरफ से कहा गया कि वह वापस चले जाएं क्योंकि स्टेशन से खुलने वाली सभी ट्रेनें लगभग रद्द कर दी गई है.

आरा में भी हुआ विरोध प्रर्दशन

वहीं बिहार के आरा में हजारों की संख्या में छात्र रेलवे परीक्षा बोर्ड के खिलाफ जमकर हंगामा व विरोध प्रदर्शन किया. आरा रेलवे स्टेशन पर छात्रों की फौज ने रेलवे ट्रैक पर उतरकर अप लाइन और डाउन दोनों के रेल परिचालन को बाधित कर दिया. इस दौरान हंगामा कर रहे छात्रों ने केंद्र सरकार और रेलवे भर्ती बोर्ड के खिलाफ आक्रोश पूर्ण नारेबाजी भी की. 

 

क्‍या है पूरा मामला?
रिजल्‍ट से नाखुश छात्रों ने ट्विटर पर भी रेलवे बोर्ड के खिलाफ जंग छेड़ी हुई है. उम्‍मीदवारों का आरोप है कि तय मानकों से कम उम्‍मीदवार CBT 2 के लिए क्‍वालिफाई किए गए हैं जिसके चलते कट-ऑफ हाई गया है. लाखों उम्‍मीदवारों का रिजल्‍ट इससे प्रभावित हुआ है. वहीं रेलवे बोर्ड अपनी तरफ से स्‍पष्‍ट कर चुका है कि नोटिफिकेशन में बताए गए नियमों के अनुसार ही कैंडिडेट्स क्‍वालिफाई किए गए हैं और उम्‍मीदवारों की संख्‍या भी तय मानकों के अनुसार ही है. 

(पटना से रोहित सिंह और आरा से सोनू कुमार का इनपुट)

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें