scorecardresearch
 

इंटरनेशनल कॉल को लोकल कॉल में बदलने वाले गिरोह का भंडाफोड़, बेंगलुरू से 2 गिरफ्तार

आरोपियों के पास से 32 सिम बॉक्स डिवाइस बरामद हुआ जिसमें एक बार में 960 सिम कार्ड इस्तेमाल किए जा सकते हैं. इसके जरिए अंतरराष्ट्रीय फोन कॉल को स्थानीय कॉल में परिवर्तित किया जाता था.

इंटरनेशनल कॉल रैकेट का एक आरोपी गिरफ्तार इंटरनेशनल कॉल रैकेट का एक आरोपी गिरफ्तार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एटीसी और सैन्य खुफिया विभाग ने चलाया संयुक्त ऑपरेशन
  • आरोपियों के पास से 32 सिम बॉक्स डिवाइस बरामद
  • आरोपियों ने बीटीएम लेआउट के 6 स्थानों में 32 सिम कार्ड लगाए

कर्नाटक में बेंगलूरु पुलिस की आतंकवाद निरोधक सेल (एटीसी) और सैन्य खुफिया विभाग सदर्न कमांड की ओर से चलाए गए संयुक्त ऑपरेशन में एक अवैध फोन एक्सचेंज का भंडाफोड़ हुआ है. ये लोग अंतरराष्ट्रीय फोन कॉल्स को स्थानीय कॉल में बदल दिया करते थे. मामले में दो लोग गिरफ्तार किए गए हैं

पुलिस की ओर से जानकारी दी गई कि इन आरोपियों के पास से 32 सिम बॉक्स डिवाइस बरामद हुआ जिसमें एक बार में 960 सिम कार्ड इस्तेमाल किए जा सकते हैं. इसके जरिए अंतरराष्ट्रीय फोन कॉल को स्थानीय कॉल में परिवर्तित किया जाता था. दूरसंचार विभाग को धोखा देने वाले  दो नेटवर्क जासूसों को भी पकड़ा गया है. 

इस हेराफेरी की वजह से राजस्व का काफी नुकसान हो रहा था और देश की सुरक्षा को खतरा पैदा हो रहा था.

लेआउट क्षेत्र में छह स्थानों पर, केरल के एक व्यक्ति पर अवैध रूप से एक टेलीफोन एक्सचेंज बनाने, कई मोबाइल सिम कार्ड को इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में रखने, विदेशी फोन कॉल को स्थानीय कॉल में बदलने, दूरसंचार नेटवर्क को धोखा देने और देश की सुरक्षा को बाधित करने का आरोप लगाया गया है.

केरल के मल्लापुर जिले के निवासी इब्राहिम पुल्लाट्टी (36) और तमिलनाडु के त्रिपुर के रहने वाले गौतम बीन विश्वनाथन (27) ने अपनी गैरकानूनी गतिविधियों के संचालन के लिए शहर के छह इलाकों में 32 डिवाइस फिट की थी.

इसे भी क्लिक करें --- कोरोना काल में आपका अकाउंट खाली कर सकते हैं शातिर ठग, नोएडा पुलिस ने चेताया

शुरुआती जांच से पता चला है कि हिरासत में लिए गए आरोपियों ने बीटीएम लेआउट के छह स्थानों में 32 सिम कार्ड स्थापित करने के लिए 30 इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का उपयोग किया, 900 से अधिक मोबाइल सिम कार्ड का उपयोग करके, अनधिकृत रूप से अंतरराष्ट्रीय (आईएसडी) फोन कॉल को स्थानीय कॉल में परिवर्तित कर सुरक्षा और अन्य गलत कार्यों का संचालन किया.

एटीसी अधिकारियों ने बेंगलुरु सिटी साइबर अपराध पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया है और अपनी जांच जारी रखे हुए है. फिलहाल यह पता लगाने के लिए जांच जारी है कि कितने लोग अभी भी नेटवर्क के साथ छेड़छाड़ कर रहे हैं. टीम का नेतृत्व एटीपी यूनिट के अधिकारी एसीपी बीआर वेणुगोपाल और पीआई भरत कर रहे थे. पुलिस आयुक्त ने 30 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें