scorecardresearch
 

तिहाड़ जेल में बंद भाई की जमानत के लिए किन्नर के घर की लूट, लाखों के जेवरात समेत आरोपी अरेस्ट

26 अप्रैल को 32 साल की एक किन्नर के फ्लैट से लाखों रुपये के सोने के जेवर और कैश लेकर चोर फरार हो गए थे. चोरों ने किन्नर के घर से एक लाख रुपये, तीन सोने की चेन, दस सोने की अंगूठी, 5 जोड़ी कान के कुंडल और आधार कार्ड, एटीएम कार्ड पर हाथ साफ कर दिया था.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जेल में बंद है बड़ा भाई, जमानत के लिए चाहिए पैसे
  • किन्नर के घर की लूटपाट, पुलिस ने CCTV देखकर दबोचा

साउथ दिल्ली के तिगड़ी इलाके में एक किन्नर के घर हुई लूटपाट में दिल्ली पुलिस ने बेहद चौकाने वाला खुलासा किया है. दरअसल 26 अप्रैल को 32 साल की एक किन्नर के फ्लैट से लाखों रुपये के सोने के जेवर और कैश लेकर चोर फरार हो गए थे. चोरों ने किन्नर के घर से एक लाख रुपये, तीन सोने की चेन, दस सोने की अंगूठी, 5 जोड़ी कान के कुंडल और आधार कार्ड, एटीएम कार्ड पर हाथ साफ कर दिया था.

साउथ दिल्ली के डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि आरोपी की तलाश के लिए पुलिस की कई टीमें लगाई गई थीं. जिसे सब इंस्पेक्टर राकेश और सब इंस्पेक्टर राम किशन लीड कर रहे थे. पुलिस टीम ने सबसे पहले इलाके के सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया, जिसके बाद पुलिस के सामने संदीप उर्फ निक्की नाम के बदमाश का चेहरा आया. संदीप तिगड़ी, क्रिमिनल सुनील उर्फ गंजा का भाई है.

इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस के जरिए पुलिस को संदीप की लोकेशन राजस्थान के भरतपुर में मिली, उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमों को राजस्थान रवाना कर दिया गया. आरोपी संदीप भरतपुर के हेलेना गांव में अपनी बुआ के घर पर ठहरा हुआ था, पुलिस ने तड़के संदीप को गिरफ्तार कर लिया. जिस वक्त संदीप को गिरफ्तार किया गया, उसने लूट की हुई सोने की 02 चेन भी पहन रखी थीं. पुलिस संदीप को गिरफ्तार कर दिल्ली ले आई और तलाशी के दौरान आरोपी के पास से सोने की चेन, सोने की अंगूठी, कान के कुंडल, चांदी की मूर्तियां, आधार कार्ड और पैन कार्ड बरामद कर लिए गए. साउथ दिल्ली पुलिस के डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि किन्नर कली शर्मा के घर से लूटी गई 100% वस्तुओं को बरामद कर लिया गया है.

डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने संदीप का साथ देने वाले दो नाबालिग आरोपियों को भी हिरासत में लिया है. इन आरोपियों ने कली के घर की रेकी की थी और चोरी में संदीप की मदद की थी. संदीप उर्फ निक्की ने पुलिस पूछताछ में खुलासा किया कि उसने अपने भाई सुनील उर्फ गंजा की जमानत के लिए इस लूटपाट को अंजाम दिया. तिहाड़ जेल में बंद संदीप के भाई सुनील उर्फ गंजा ने जेल से संदीप को धमकाया था कि या तो उसे जमानत पर छुड़ा ले नहीं तो संदीप को घर के सभी रिश्तों से बेदखल कर दिया जाएगा. यही वजह थी कि संदीप ने लूटपाट की प्लानिंग रची. इससे पहले भी संदीप दो आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें