scorecardresearch
 

गुरुग्राम में 13 साल की दलित लड़की की दुष्कर्म के बाद हत्या, ऐसे गिरफ्तार हुआ आरोपी

राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में एक 13 साल की दलित लड़की की दुष्कर्म के बाद हत्या का मामला सामने आया है. पीड़िता दिल्ली के नरेला की रहने वाली थी, जिसके साथ मकान मालिक के एक रिश्तेदार ने गुरुग्राम जाकर दुष्कर्म किया और बाद में उसकी हत्या कर दी. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

बच्ची का जबरन अंतिम संस्कार करवाने की कोशिश कर रहा था आरोपी. (प्रतीकात्मक तस्वीर) बच्ची का जबरन अंतिम संस्कार करवाने की कोशिश कर रहा था आरोपी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली की रहने वाली थी लड़की
  • 23 अगस्त को हो गई थी हत्या
  • गुरुग्राम पुलिस ने दर्ज किया केस

राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में एक 13 साल की दलित लड़की की दुष्कर्म के बाद हत्या का मामला सामने आया है. न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पीड़िता दिल्ली की रहने वाली थी, जिसके साथ मकान मालिक के एक रिश्तेदार ने गुरुग्राम जाकर दुष्कर्म किया और बाद में उसकी हत्या कर दी. पुलिस ने पीड़िता के पिता की शिकायत पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, पीड़िता के पिता ने दिल्ली पुलिस को पीसीआर कॉल कर मकान मालकिन के भाई प्रवीण वर्मा के खिलाफ शिकायत की थी. आरोपी प्रवीण पीड़ित परिवार को शव का अंतिम संस्कार करने के लिए मजबूर करने की कोशिश कर रहा था.

पुलिस में दर्ज FIR में पिता ने शिकायत दर्ज करता हुए बताया, '17 जुलाई को मेरे मकान मालिक की पत्नी ने कहा कि उसकी भाभी ने बच्चे को जन्म दिया और वो मेरी बेटी को अपने साथ ले जाना चाहती है. उसने कहा कि बेटी गुरुग्राम में उनके भाई के घर पर ही रह सकती है और उसकी बेटी के साथ खेल सकती है.'

ये भी पढ़ें-- दिल्ली: महिला SI के ट्रैप में फंसा रेप का आरोपी, ऐसे किया गया गिरफ्तार

पिता ने आगे बताया, 23 अगस्त की दोपहर 3 बजे के आसपास मकान मालिक ने बताया कि उनकी बेटी की मौत हो गई है. करीब 7 बजे वो लड़की के शव को एक प्राइवेट एंबुलेंस के जरिए नरेला तक लेकर आए. FIR के मुताबिक, पिता को जब शक हुआ तो उन्होंने पीसीआर कॉल कर नरेला पुलिस को मौके पर बुलाया, जिसके बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए बाबू जगजीवन राम अस्पताल ले जाया गया. पिता का आरोप था कि प्रवीण वर्मा ने दूसरे लोगों के साथ मिलकर उनकी बेटी की हत्या की है. 

इसके बाद गुरुग्राम पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 (मर्डर) और धारा 120B (आपराधिक साजिश रचना) और एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है. पुलिस ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि होने के बाद FIR में और धाराएं भी जोड़ी गईं.

दिल्ली पुलिस का कांग्रेस नेता को जवाब

वहीं, मामला सामने आने के बाद इस पर सियासत भी शुरू हो गई. कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury) ने ट्वीट कर लिखा, दिल्ली में एक बार फिर से 13 साल की दलित लड़की की बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई. दिल्ली को भारत की रेप कैपिटल कहा जाता है, जो देश के लिए बहुत ही अपमान की बात है.

अधीर रंजन चौधरी के इस ट्वीट पर दिल्ली पुलिस ने जवाब दिया. दिल्ली पुलिस ने लिखा, दुर्भाग्यपूर्ण घटना दिल्ली की नहीं, गुरुग्राम की है. माता-पिता ने दिल्ली में पीसीआर कॉल किया था, जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने अंतिम संस्कार रुकवाया और पोस्टमॉर्टम करवाया. बाद में गुरुग्राम पुलिस ने FIR दर्ज की और आरोपी को गिरफ्तार किया. इस मामले को दिल्ली से जोड़ना पूरी तरह से गलत है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×