मुख्तार अंसारी का शूटर राकेश पांडेय एनकाउंटर में ढेर, विधायक हत्याकांड में था वॉन्टेड

लखनऊ के सरोजनीनगर में STF ने राकेश पांडेय को एनकाउंटर में मार गिराया है. मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी गैंग का बड़ा शूटर बन गया था.

यूपी पुलिस (साांकेतिक तस्वीर)
मौसमी सिंह/कुमार अभिषेक/नीलांशु शुक्ला
  • लखनऊ,
  • 09 अगस्त 2020,
  • अपडेटेड 12:57 AM IST

  • राकेश पांडेय पर था एक लाख का इनाम
  • एनकाउंटर में यूपी एसटीएफ ने किया ढेर

भारतीय जनता पार्टी (BJP) विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में आरोपी इनामी बदमाश को यूपी पुलिस ने एक एनकाउंटर में ढेर कर दिया है. आरोपी का नाम राकेश पांडेय है.

राकेश पांडेय उर्फ हनुमान पांडेय को यूपी पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया. उस पर एक लाख रुपये का इनाम था. राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी का करीबी था. लखनऊ के सरोजनीनगर में STF ने राकेश पांडेय का एनकाउंटर किया. मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी गैंग का बड़ा शूटर बन गया था.

मऊ के कोपागंज का रहने वाला राकेश पांडेय कई सनसनीखेज वारदातों में शामिल था. मऊ में ठेकेदार अजय प्रकाश सिंह उर्फ मन्ना सिंह और अन्य की दोहरे हत्याकांड में भी मुख्तार अंसारी के साथ हनुमान पांडेय आरोपी था. एनकाउंटर में मारे गए इनामी बदमाश राकेश पांडेय का लंबा आपराधिक इतिहास रहा है. राजधानी लखनऊ सहित रायबरेली, गाजीपुर व मऊ में 10 मुकदमे गंभीर धाराओं में पंजीकृत हैं.

एसटीएफ के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह के मुताबिक, बनारस एसटीएफ और लखनऊ एसटीएफ को इनपुट था कि इनामी बदमाश इनोवा कार से जा रहा है. इस दौरान हमने पीछा किया और सरोजनी नगर थाने के आगे लखनऊ-कानपुर हाईवे पर रोकने की कोशिश की. जवाब में बदमाश ने एसटीएफ पर फायर कर दिया. इसके बाद कार्रवाई में इनामी बदमाश को मार गिराया गया. उसके ऊपर 1 लाख का इनाम भी था. वाराणसी की टीम आ गई है और मौके की जांच कर रही है.

इस मामले में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने कहा है कि गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद पांडे मुख्तार अंसारी गिरोह का मुख्य शूटर बन गया. पांडे और अन्य आरोपियों ने साल 2005 में बीजेपी नेता कृष्णानंद राय और 6 अन्य व्यक्तियों की हत्या में 400 राउंड फायर किए थे. अपराधियों ने नृशंस हत्या के लिए एके-47 का भी इस्तेमाल किया.

ये भी पढ़ें: UP: बच्ची को अगवाकर ऑटो से भाग रहे थे बदमाश, पुलिस ने मुठभेड़ के बाद पकड़ा

इस हत्याकांड में बाहुबली मुख्तार अंसारी का नाम सामने आया था. करीब आधा दर्जन बदमाशों ने बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय और उनके 6 अन्य साथियों को गोलियों से भून दिया था. हमलावरों ने 6 एके-47 राइफलों से 400 से ज्यादा गोलियां चलाई थीं. इस हमले में मारे गए सात लोगों के शरीर से 67 गोलियां बरामद की गई थीं.

इस हमले का एक महत्वपूर्ण गवाह शशिकांत राय 2006 में संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाया गया था. उसने कृष्णानंद राय के काफिले पर हमला कराने का आरोप मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी पर लगाया था. इस हत्याकांड ने यूपी की सियासत में भूचाल ला दिया था.

Read more!

RECOMMENDED