scorecardresearch
 

बालाकोट स्ट्राइक के बाद भारत पर न्यूक्लियर अटैक की तैयारी में था पाकिस्तान, अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री का दावा

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके जवाब में भारतीय वायुसेना ने फरवरी 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को तबाह  कर दिया था. अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री ने दावा किया है कि इस घटना के बाद पाकिस्तान, भारत पर परमाणु हमले की तैयारी कर रहा था.

X
अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो (फाइल फोटो)
1:35
अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो (फाइल फोटो)

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने पाकिस्तान को लेकर एक दावा किया है. उन्होंने कहा कि साल 2019 में भारत द्वारा की गई बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान, हिंदुस्तान पर परमाणु हमले की तैयारी कर रहा था. 

माइक पॉम्पियो ने अपनी किताब ‘Never Give an Inch: Fighting for the America I Love’ में बताया कि परमाणु हमले को लेकर ये जानकारी उन्हें भारत की तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दी थी. पॉम्पियो ने बताया कि साल 2019 में 27-28 फरवरी को यह घटना हुई तो वह वियतनाम के हनोई में थे. इसके बाद उनकी टीम ने नई दिल्ली और इस्लामबाद से इसको लेकर बात की.  

'मुझे नहीं लगता दुनिया जानती है' 

पॉम्पियो ने अपनी किताब में लिखा, "मुझे नहीं लगता कि दुनिया ठीक से जानती है कि फरवरी 2019 में भारत-पाकिस्तान की लड़ाई परमाणु विस्फोट में कितनी करीब आ गई थी. सच तो यह है, मुझे भी इसका ठीक-ठीक जवाब नहीं पता है."  

पॉम्पियो ने किताब में किया बालाकोट का जिक्र

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री ने आगे लिखा, पाकिस्तान की ढीली आतंकवाद विरोधी नीतियों की वजह से 40 भारतीय सैनिक शहीद हुए. इसके जवाब में भारत ने एयर स्ट्राइक कर पाकिस्तान के अंदर आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की. बाद में पाकिस्तान ने हवाई लड़ाई में एक विमान को मार गिराया और भारतीय पायलट को बंदी बना लिया.  

पाकिस्तान ने क्या दिया था जवाब? 

पॉम्पियो ने लिखा कि उनकी भारतीय समकक्ष सुषमा स्वराज ने उन्हें बताया कि पाकिस्तान ने हमले के लिए अपने परमाणु हथियार तैयार करना शुरू कर दिए थे. सुषमा स्वराज ने मुझे बताया कि भारत भी इसको लेकर तैयारी कर रहा है. पॉम्पियो ने अपनी किताब में लिखा, 'मुझे सुषमा स्वराज को फिलहाल कुछ नहीं करने और पूरा विवाद सुलझाने के लिए अमेरिका को थोड़ा समय देने के लिए समझाने में बेहद मेहनत करनी पड़ी थी.' 

पूर्व विदेश मंत्री ने आगे लिखा, "इसके बाद पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के साथ उन्होंने बात की और इसके बारे में पूछा. हालांकि बाजवा ने कहा कि ये सच नहीं है. बता दें कि माइक पॉम्पियो के इस दावे को लेकर विदेश मंत्रालय की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

फरवरी-2019 में हुआ था पुलवामा हमला 

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके जवाब में भारतीय वायुसेना ने फरवरी 2019 में पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी प्रशिक्षण शिविर को तबाह  कर दिया था.  

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें